गर्मियों में रिश्तों को यूं मधुर बनायें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 24, 2011
Quick Bites

  • गर्मियां हर समय थकान महसूस होने लगती है।
  • छोटी-छोटी बातों का ख्याल रखना अत्यंत जरूरी है।
  • रिश्तों को संभालने के लिए किसी ठंडे प्रदेश जाएं।
  • हॉलिडे पर पार्टनर के साथ घूमने या डेटिंग पर जाएं।

गर्मियां आते ही चिड़चिड़ापन, चिपचिपाहट शुरू हो जाती है। हर समय थकान महसूस होने लगती है जिसका असर आपसी संबंधों पर भी पड़ता है। ये वही संबंध हैं जब दो लोग एक-दूसरे के प्रेम में पड़कर जीने-मरने की कसमें खाते हुए एक-दूसरे को अपने हमसफर के रूप में चुनते हुए नए संबंध बनाते हैं। लेकिन जैसे-जैसे समय व्यतीत होता है दिल पहले की तरह हिलोरे नहीं खाता। ऐसे में रिश्तों को संभालना मुश्किल हो जाता है और रिश्ता और प्यार के बजाय रह जाते हैं तो सिर्फ सामाजिक मूल्यों, जरूरतें और जिम्मेदारियां। नतीजन जीवन में बोरियत आने लगती है और गर्मी में ये बोरियत और भी बढ़ जाती है। बोरियत भरी जिंदगी में रस भरने के बहुत से तरीके हैं लेकिन उन तरीकों पर कितना विश्वास किया जाए यह एक अहम सवाल होता है। आइए जानें गर्मियों की शाम में रिश्ता और प्यार को कैसे रखें बरकरार।

couples in hindi


रिश्तों में ताजगी

गर्मियों में रिश्ते को मधुर बनाए रखने के लिए जरूरी है कि रिश्तों में ताजगी बनी रहें। ताजगी बनाए रखने के लिए पहले आपको खुद तन-मन से चुस्त-दुरूस्त महसूस करना जरूरी है, तभी आप अपने साथी के साथ ताजगी से भरपूर रिश्ता बरकरार रख पाएंगे।


मन खुश रखें

एक-दूसरे की छोटी-छोटी बातों का ख्याल रखना अत्यंत जरूरी है। ऐसे में यदि आपका साथी कहीं बाहर से आया है तो उसकी थकान दूर करने या फिर चिड़चिड़ापन दूर करने के लिए आपको कुछ ठंडे, मीठे, रसीले पेय पदार्थ बनाने चाहिए जिससे आपके साथी का मन खुश हो जाए।


तारीफ करना न भूलें

यदि आपके साथी ने कोई अच्छा काम किया है या वह अच्छा लग रहा है या फिर कोई बढि़या डिश बनाई है तो आप तारीफ करना न भूलें। अच्छी बात पर तारीफ करना आपके रिश्ते की ताजगी को हमेशा बनाये रखता है।


रिश्ते की अहमियत को समझे

कई बार गर्मियों में एक ही तरह की जीवनशैली से बोरियत महसूस होने लगती है, इससे रिश्तों की अहमियत कम होने लगती है और एक समय में लिये गये कसमों-वादों को कपल्स भूलकर सिर्फ बोरियत से रहने लगते हैं। लेकिन वे ये भूल जाते हैं कि जीवन में साथ-साथ चलते हुए वे उन पलों को अपने रिश्तों को सुहाना भी बना सकते हैं। इसके लिए जरूरत है तो सिर्फ प्यार भरे स्पर्श की और मीठी बातों की।


हिल स्टेशन जाएं

गर्मियों के दौरान अकसर थकान और बोरियत होने लगती है जिससे पीछा छुड़ाने के लिए जरूरत है कि आप गर्मियों में अपने साथी के साथ रिश्तों को संभालने के लिए किसी ठंडे प्रदेश जाएं। जहां न सिर्फ आप ताजगी महसूस करेंगे बल्कि आप अपने संबंधों को अधिक मधुर बना पाएंगे।


टहलना जरूरी

गर्मियों की शाम में खाली समय में अपने साथी के साथ टहलना बहुत जरूरी है। इससे आप अपने साथी के साथ अतिरिक्त समय बिता पाएंगे।


बदलाव को पहचानें

आपके रिश्तों में यदि बदलाव आ रहा है तो उस बदलाव को पहचाने जिससे आप समय रहते अपने रिश्तों को मधुर बना पाएंगे।


स्पा थेरेपी

गर्मियों में रिश्तों को मधुर बनाने के लिए आप अपने साथी के साथ स्पा थेरपी लेकर न सिर्फ ताजगी महसूस करेंगे बल्कि आप स्वस्थ भी महसूस करेंगे और आपके रिश्तों में आ रही बोरियत और थकान को भी आप दूर भगा पाएंगे।

इसके अलावा आप गर्मियों में रिश्तों को मधुर बनाने के लिए कुछ और उपाय कर सकते हैं, जैसे-

  • हॉलिडे पर पार्टनर के साथ घूमने जाएं या डेटिंग पर जाएं।
  • आपके पार्टनर को जो चीजें पसंद हैं, आप वह सब उसके लिए करें। इससे आपके रिश्ते मजबूत होंगे।
  • आप दोनों साथ में सुबह-सुबह जिम, स्विमिंग व डांस जैसी क्लासिज ज्वाइंन कर सकते हैं।
  • अपने साथी के साथ कुछ रोमांटिक पल जरूर बिताएं, जिससे रिश्ते में ताजगी व अपनापन महसूस करेंगे।
  • साथी के साथ शॉपिंग पर जा सकते हैं।
  • गर्मियों की शाम में अपने साथी को सरप्राइज पार्टी भी दे सकते हैं।
  • गर्मियों की शाम में थकान और तनाव को दूर कर ताजगी भरे अहसास के साथ तैयार रहें जिससे आपके साथी की आपको देखते ही थकान दूर हो जाए।

इस तरह से न सिर्फ अपने रिश्तों को संभाल सकते हैं बल्कि रिश्तों और प्यार में मधुरता भी बनाए रख सकते हैं।

इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते है।


Image Source : Getty

Read More Articles on Relationship Advice in Hindi

Loading...
Is it Helpful Article?YES6 Votes 44044 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK