Doctor Verified

कंधे पर गांठ होने पर क्‍या करें? डॉक्‍टर से जानें इलाज

Lump on Shoulder: कंधे पर गांठ होने पर तेज दर्द और सूजन महसूस हो सकती है। जानें इसका सही इलाज।

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Sep 16, 2022Updated at: Sep 16, 2022
कंधे पर गांठ होने पर क्‍या करें? डॉक्‍टर से जानें इलाज

कंधे पर त्‍वचा उभरी हुई नजर आ रही है? या नस दबाने पर हल्‍का दर्द, सूजन और गोल मोटा स्‍पॉट होना, कंधे पर गांठ के लक्षण हैं। गंदगी के कारण गांठ हो सकती है या जेनेट‍िक कारण के चलते भी गांठ की समस्‍या हो सकती है। कई बार ऐसी गांठ में पस जमा हो जाता है। समय पर इलाज न करने पर ये गांठ बड़ी भी हो सकती है। कंधे पर गांठ उभरने के कारण आपको बैठने या हाथ का इस्‍तेमाल करने में तेज दर्द महसूस हो सकता है। इस लेख में हम कंधे पर गांठ का सही इलाज जानेंगे। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की। 

lump on shoulder

डॉक्‍टर के पास कब जाएं? 

  • अगर गांठ बेहद सख्‍त है।
  • गांठ के साथ बुखार जैसे अन्‍य लक्षण भी हैं।
  • गांठ 1.5 इंच से बड़ी है। 
  • गांठ लगातार बढ़ रही हो।
  • आपकी उम्र 40 से ज्‍यादा हो।

गांठ की जांच करवाएं 

डॉक्‍टर शारीर‍िक परीक्षण करके बता सकते हैं क‍ि कंधे पर गांठ का कारण क्‍या है और इसका इलाज कैसे क‍िया जा सकता है। गांठ की जांच करने के ल‍िए बायोप्‍सी की जाती है। शरीर में ल‍िपोमा की जांच के ल‍िए सीटी स्‍कैन क‍िया जाता है। अगर गांठ ज्‍यादा बड़ी है, तो एक्‍सरे से उसका पता लगाया जाता है।

इसे भी पढ़ें- हाथ में गांठ होने पर क्या करें? जानें इलाज 

कंधे पर गांठ का इलाज 

गांठ अगर ट्यूमर नहीं है, तो उसका इलाज दवाओं से क‍िया जाता है। कई बार बैक्‍टीर‍ियल या फंगल इंफेक्‍शन के कारण गांठ हो जाती है ज‍िसे ठीक करने के ल‍िए डॉक्‍टर एंटीबैक्‍टीर‍ियल दवा या पेनक‍िलर दे सकते हैं। अगर गांठ बड़ी है, तो उसे छोटे सर्जि‍कल ऑपरेशन की मदद से न‍िकाल द‍िया जाता है। इसके ल‍िए डॉक्‍टर आपको एनेस्‍थीस‍िया देंगे। सुई की मदद से भी गांठ का इलाज क‍िया जाता है ज‍िसे हम ल‍िपोसेक्‍शन के नाम से जानते हैं। 

कंधे पर गांठ का घरेलू उपचार 

  • चुटकी भर हल्‍दी को गरम पानी में म‍िलाकर पेस्‍ट बना लें। सुबह-शाम उसे गांठ पर लगाएं। 
  • कचनार के पेड़ की छाल को पानी में पका लें, जब पानी गाढ़ा हो जाए, तो उसे छानकर पी लें।
  • ज‍िसको बार-बार गांठ होती है उन्‍हें कपालभात‍ि प्राणायाम करना चाह‍िए।  
  • आपको सूर्य नमस्‍कार भी करना चाह‍िए। इससे शरीर को ऊर्जा म‍िलती है और गांठ को प‍िघलने में मदद म‍िलती है।
  • प्रभाल पिष्टी, श‍िला स‍िंदूर और ग‍िलोय को म‍िलाकर चूर्ण बना लें और सुबह-शाम खाएं। इससे गांठ जल्‍दी ठीक हो सकती है।

शरीर में बार-बार गांठ होना ठीक नहीं है। ऐसा होने पर डॉक्‍टर को द‍िखाएं और इलाज लें। लेख पसंद आया हो, तो शेयर करना न भूलें। 

Disclaimer