Body Pain: बदन दर्द को दूर करने के 7 प्रभावी उपचार, आयुर्वेदाचार्य से जानें कैसे करें इनका इस्तेमाल

अगर आप भी बदन दर्द से परेशान हैं तो यहां दिए घरेलू उपाय आपके बेहद काम आ सकते हैं। जानते हैं इन्हें इस्तेमाल करने का तरीका...

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Feb 10, 2021Updated at: Feb 10, 2021
Body Pain: बदन दर्द को दूर करने के 7 प्रभावी उपचार, आयुर्वेदाचार्य से जानें कैसे करें इनका इस्तेमाल

बदन दर्द (Body Pain) से परेशान लोग अपना काम ठीक प्रकार से नहीं कर पाते। वे हर वक्त तनाव में रहते हैं इसी कारण उनके व्यवहार में चिड़चिड़ापन आ जाता है। यह दर्द मांसपेशियों में अकड़न के कारण हो सकता है। वहीं जोड़ों में दर्द के कारण शरीर में असामान्यता पैदा हो जाती है लेकिन इसका जल्द से जल्द इलाज होना जरूरी है वरना इसका प्रभाव हमारे रोजमर्रा के कार्यो पर पड़ने लगता है। अगर आप भी बदन दर्द से परेशान है तो कुछ घरेलू उपाय (Home Remedies for Body Pain) को अपनाकर आप इस समस्या से राहत पा सकते हैं। आज का हमारा ये लेख इन्हीं घरेलू उपायों पर है। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि बदन दर्द में राहत पहुंचाने के लिए आप फायदेमंद घरेलू उपायों का कैसे इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए हमने महर्षि आयुर्वेद अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक और आयुर्वेदाचार्य सौरभ शर्मा से भी इनपुट्स मांगे हैं। पढ़ते हैं आगे...

body_pain

बदन दर्द को दूर करने के कुछ घेरलू उपाय (Home Remedies for Body Pain)

बदन दर्द को दूर करने के लिए कुछ घरेलू उपाय आपके बेहद काम आ सकते हैं। ये घरेलू उपाय निम्न प्रकार हैं-

1 - बदन दर्द को दूर करने में हीट या कोल्ड थेरेपी है फायदेमंद (Hot or Cold Therapy for Body Pain)

क्रायोथेरेपी यानी कोल्ड थेरेपी। जैसा कि नाम से ही पता चल रहा है यह बर्फ द्वारा की जाती है। मांसपेशियों के दर्द को दूर करने में बर्फ का उपयोग इस थेरेपी में काफी महत्वपूर्ण है। जब बर्फ और ठंडा पानी बदन पर लगता है तो रक्त परिसंचरण कम होने लगता है, जिसके कारण शरीर में आने वाली सूजन और दर्द में राहत मिलती है। आप बर्फ का पैक, जेल पैक, आइस मसाज के माध्यम से भी ये थेरेपी कर सकते हैं। वहीं हीट मसाज में मांसपेशियों की ऐंठन, इनका खिंचाव, तनाव और अकड़न को दूर किया जाता है। हाइड्रोथेरेपी, हॉटपैक और पैराफिन वैक्स हीटथेरेपी के अंदर ही आते हैं। वैसे तो ये थेरेपी फिजियोथैरेपिस्ट की मदद से की जाती है लेकिन आप घर पर भी गर्म कपड़े से बॉडी पर सिकाई करके थेरेपी ले सकते हैं।

2 - बदन दर्द के लिए अदरक है अच्छी (Ginger for Body Pain)

अदरक घरेलू उपाय में बेहद प्रभावशाली मानी गई है। चूंकि इसके अंदर सूजनरोधी गुण पाए जाते हैं ऐसे में यह शरीर में दर्द और सूजन को कम करने में मददगार है। यह रक्त प्रभाव और परिसंचरण की सेहत में सुधार लाती है। साथ ही अदरक की चाय का अगर नाश्ते में सेवन किया जाए तो ये मांसपेशियों में हो रहे दर्द को कम करती है। आप इसके इस्तेमाल के लिए सबसे पहले अदरक को पीस लें और एक कपड़े में बांध लें। उसको गर्म पानी में कुछ वक्त के लिए डालें और ठंडा होने के बाद प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। ऐसा करने से बदन दर्द दूर हो जाएगा।

इसे भी पढ़ें - क्या है तोदरी? आयुर्वेदिक एक्सपर्ट से जानिए इसके 8 असरदार फायदे

3 - लाल मिर्च शरीर के दर्द को कम करने में है मददगार (Cayenne Pepper for Body Pain)

लाल मिर्च के अंदर एनाल्जेसिक और सूजनरोधी गुण मौजूद होते हैं जो मांसपेशियों के दर्द को ठीक करने के साथ-साथ सूजन और अकड़न को भी दूर करते हैं ऐसे में आप लाल मिर्च को जैतून के तेल के साथ मिलाएं और प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। फिर उस क्षेत्र को कपड़े से बांध लें। रात भर इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें और सुबह कपड़े को खोल कर उस क्षेत्र को सादे पानी से अच्छे से धोएं। इस प्रक्रिया को पूरे दिन में 2 से 3 बार दोहराएं। लाल मिर्च को अपने आहार में शामिल करें।

4 - दालचीनी है बदन दर्द के लिए उपयोगी (cinnamon for back pain)

अगर आप जोड़ों के दर्द से परेशान हैं तो बता दें कि दालचीनी आपकी परेशानी को दूर करने में बेहद मददगार है। दालचीनी के अंदर एंटीऑक्सीडेंट गुणों के साथ साथ सूजनरोधी गुण भी पाए जाते हैं जो अर्थराइटिस जैसी समस्या को दूर करने में बेहद मददगार हैं। ऐसे में आपको एक गिलास दूध में आधा चम्मच दालचीनी और शहद को मिलाना होगा और फिर उसका सेवन करना होगा। ऐसा करने से जोड़ों के दर्द में राहत मिलेगी। साथ ही आप दालचीनी और शहद से बने पेस्ट को बदन पर मसाज के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं। जब आप ये पेस्ट प्रभावित क्षेत्र पर लगाएंगे तो इससे दर्द में राहत मिलेगी।

इसे भी पढ़ें : इन 4 आसान तरीकों से करें बेडसोर (दबाव अल्सर) का इलाज, जानें क्या है तरीका

5 - सरसों का तेल है बदन दर्द के लिए उपयोगी (mustard oil for body pain)

जिन लोगों को बदन दर्द की समस्या है वह सरसों के तेल के उपयोग से अपने रक्त के प्रभाव को बढ़ा सकते हैं और मांसपेशियों में आई अकड़न को ढ़ीला कर रक्त परिसंचरण में सुधार ला सकते हैं। इसके लिए आपको लहसुन की फांकों को काटना होगा और सरसों के तेल मैं उन टुकड़ों को डालकर चलाना होगा। इसके बाद आपको कपूर डालकर गैस पर रखकर कुछ समय तक गर्म करना होगा। अब आप बनें तेल को गैस से उतारें और ठंडा करें। ठंडा हो जाने के बाद प्रभावित क्षेत्र पर इस तेल से मसाज करें, आराम मिलेगा।

6 - केला है बदन दर्द को दूर करने में फायदेमंद (Banana for body pain)

बता दें कि केले के अंदर पोटेशियम पाया जाता है जो न केवल मांसपेशियों को स्वस्थ बनाता है बल्कि शरीर में मजबूती भी बनाए रखता है। ऐसे में थकान को दूर करने और अकड़न में राहत पहुंचाने में केला बेहद मददगार है। पोटेशियम के सेवन से मांसपेशियों की कमजोरी दूर होती है। ऐसे में आप अपने आहार में केले को शामिल करें। इसके लिए आप नाश्ते में केला या बनाना शेक भी ले सकते हैं। ऐसा करने से आपके शरीर को पोटेशियम और कैल्शियम दोनों महत्वपूर्ण तत्व मिल जाएंगे।

इसे भी पढ़ें : इमली ही नहीं बल्कि इसके बीज भी हैं शरीर के लिए फायदेमंद, जानें इमली के बीज के 8 फायदे और इस्तेमाल का तरीका

7 - सेंधा नमक छुटकारा दिलाए बदन दर्द में (epsom salt for body pain)

सेंधा नमक को प्राकृतिक उपचार के रूप में देखा जाता है। यह मांसपेशियों के ऊतकों की सूजन को दूर करने में बेहद मददगार है। साथ ही पुरानी समय से चली आ रही मांसपेशियों के दर्द में भी ये छुटकारा दिलाता है। ऐसे में आप एक बाल्टी या टब में गर्म पानी और दो चम्मच सेंधा नमक डालें और उस टब में बैठ जाए या फिर आप उस पानी को अपने बदन पर डालें। 15 से 30 मिनट तक उस पानी से अपने बदन को भिगाएं रखें। सेंधा नमक के स्नान से मांसपेशियों का दर्द दूर हो जाएगा।

नोट- ऊपर बताए गए घरेलू उपायों को अपनाकर आप आसानी से बदन दर्द की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। लेकिन अगर आपको राहत नहीं मिल रही है तो हो सकता है कि बदन दर्द किसी और गंभीर समस्या का लक्षण हो। ऐसे में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। इसके अलावा यदि ऊपर बताई गई किसी भी चीज से आपको एलर्जी है तो उसका इस्तेमाल न करें। वरना इसका दुष्परिणाम देखने को मिल सकता है। गर्भवती महिलाएं किसी भी चीज का सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें। यदि आप कोऊ स्पेशल डाइट फॉलो कर रहे हैं तो किसी के कहने पर अपनी डाइट में बदलाव न करें। इसके लिए सबसे पहले एक्सपर्ट की राय लें, उसके बाद ही अपनी डाइट में किसी भी चीज को जोड़ें।

(ये लेख महर्षि आयुर्वेद अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक और आयुर्वेदाचार्य सौरभ शर्मा द्वारा दिए गए इनपुट्स पर बनाया गया है।)

Read more articles on Home Remedies in Hindi

Disclaimer