पोटेशियम की कमी से शरीर को हो सकती हैं ये 6 बीमारियां, जानें इसकी कमी के लक्षण और उपचार

शरीर में अगर पोटेशियम की कमी हो जाए तो विभिन्न समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में जानते हैं कमी के लक्षण और बचाव...

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jan 29, 2021Updated at: Jan 29, 2021
पोटेशियम की कमी से शरीर को हो सकती हैं ये 6 बीमारियां, जानें इसकी कमी के लक्षण और उपचार

हमारे शरीर के लिए पोटेशियम महत्वपूर्ण मिनरल्स में से एक है। यह शरीर को कई तरीकों से तंदुरुस्त बनाता है। मांसपेशियों के मजबूती लाने के साथ तंत्रिकाओं की सेहत में सुधार, शरीर में पानी का संतुलन आदि बनाए रखने में पोटेशियम बेहद महत्वपूर्ण काम करता है। अगर शरीर में इसकी कमी हो जाए तो स्वास्थ्य संबंधित काफी गंभीर बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। बता दें कि शरीर में प्रोटीन के साथ-साथ कार्बोहाइड्रेट्स को तोड़कर इनके उपयोग करने के लिए पोटेशियम की जरूरत पड़ती है। ऐसे में आज हम आपको इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि पोटेशियम की कमी से किन बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही हम जानेंगे कि पोटेशियम की कमी के लक्षण और बचाव के उपाय क्या हैं। पढ़ते हैं आगे...

पोटेशियम की कमी से होने वाली बीमारियां (know about disease caused by potassium deficiency)

अगर शरीर में पोटेशियम की कमी हो जाए तो अनेक बीमारियां पैदा हो सकती हैं जानते हैं इन बीमारियों के बारे में-

1 - हाई ब्लड प्रेशर - अगर पोटेशियम का स्तर कम हो जाए हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को पैदा कर सकता है।

2 - दिल से संबंधित बीमारी - पोटेशियम का स्तर कम होने से हृदय रोग, स्ट्रोक, दिल का दौरा आदि समस्याओं की संभावना बढ़ जाती हैं।

3 - हड्डी में मजबूती - अगर पोटेशियम ना हो तो विशेषकर महिलाओं में हड्डी के स्वास्थ्य संबंधित समस्या देखने को मिलती हैं।

4 - त्वचा संबंधित समस्याएं - बता दें कि पोटेशियम की कमी से त्वचा रूखी हो जाती है। और चेहरे पर दाने और मुंहासे निकल आते हैं।

5 - बालों की समस्या - पोटेशियम की कमी से ना केवल बाल कमजोर हो जाते हैं बल्कि वे झड़ने भी शुरू हो जाते हैं।

6 - माइग्रेन की समस्या - पोटेशियम की कमी से मानसिक बीमारी जैसे माइग्रेन, सिरदर्द आदि समस्या पैदा हो सकती है।

इसे भी पढ़ें- वेट लॉस के लिए ग्रीन टी पी कर थक चुके हैं आप तो ट्राई करें Oolong Tea, जानें इसे बनाने का तरीका और 5 फायदे

पोटेशियम की कमी के लक्षण (Potassium Deficiency Causes in Hindi)

पोटेशियम की कमी से शरीर में हल्के लक्षण नजर आते हैं। ऐसे में पेट, गुर्दे, दिल, मांसपेशियां, नस आदि इससे प्रभावित होते हैं। लक्षणों के बारे जानते हैं-

1 - थकान महसूस करना।

2 - बाजू में टांग में कमजोरी महसूस करना (कभी-कभी समस्या गंभीर रूप ले लेती है और आप टांग और बाजू हिलाने में असमर्थ महसूस करते हैं। यह कमजोरी और थकान पोटेशियम की कमी के सबसे पहले लक्षणों में से एक है।)

3 - मांसपेशियों में मरोड़ या ऐंठन का शुरू हो जाना। अचानक से अनियंत्रित रूप से मांसपेशियों में संकुचन आने की स्थिति पैदा हो जाती है। ऐसा तब होता है जब खून में पोटेशियम का स्तर गिरने लगता है या कम हो जाता है।

4 - सांस लेने में कठिनाई महसूस करना। पोटेशियम की कमी सबसे ज्यादा शरीर में हो जाती है तो सांस लेने में कठिनाई जैसे लक्षण नजर आते हैं।

5 - पाचन संबंधी समस्याएं नजर आती हैं। पोटेशियम की कमी से मस्तिष्क से पाचन क्रिया की मांसपेशियों तक जाने वाली नसों में सिग्नल नहीं भेज पाता, जिसके कारण पेट में मल जमने लगता है और वह कब्ज और दस्त के रूप में शरीर से बाहर निकलता है।

इसे भी पढ़ें- Diabetes Diet: डायबिटीज में भी खा सकते हैं पैनकेक, जानिए 5 हेल्दी Pancake रेसिपी

6 - पोटेशियम की कमी से लो ब्लड प्रेशर की भी समस्या नजर आती है और इंसान थकान जैसे हालत महसूस करता है।

7 - अधिक मात्रा में पेशाब आना। ज्यादा समय तक प्यास महसूस करना भी पोटेशियम की कमी के लक्षण हैं।

पोटेशियम की कमी से बचाव (Potassium Deficiency Prevention in Hindi)

पोटेशियम पाया जाता है यह चीजें निम्न प्रकार है

1 - फलों में आप कीवी, सेब ,खुबानी, खरबूजा, खट्टे फल, केला आदि का सेवन कर सकते हैं। 

2 - सब्जियों में आप आलू, पालक, खीरा, कद्दू, बैंगन , टमाटर, शकरकंद, मटर, ब्रोकली आदि का सेवन कर सकते हैं।

3 - खाद्य पदार्थों में आप चिकन, दही, सोया, रेड मीट, मछली, दूध, मशरूम आदि का सेवन कर सकते हैं।

Read More Articles on Healthy diet in hindi

Disclaimer