इन 7 तरीकों से ब्लैकबेरी सेहत को बनाए तंदुरुस्त, एक्सपर्ट से जानें इसके नुकसान भी

ब्लैकबेरी को अपनी डाइट में क्यों जोड़ें? इसके सेवन से सेहत को क्या फायदे और नुकसानों का सामना करना पड़ सकता है? जानते हैं एक्सपर्ट से...

Garima Garg
Written by: Garima GargUpdated at: Feb 08, 2021 17:00 IST
इन 7 तरीकों से ब्लैकबेरी सेहत को बनाए तंदुरुस्त, एक्सपर्ट से जानें इसके नुकसान भी

फल के रूप में उपयोग होने वाला ब्लैकबेरी सेहत के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। बता दें कि इसके अंदर हानिकारक कोलेस्ट्रॉल नहीं होता है। वही इसमें विटामिन ए, विटामिन बी1, विटामिन बी2, बी3, बी6, विटामिन सी, फोलेट, विटामिन के आदि विटामिंस मौजूद होते हैं। ये आयरन, पोटेशियम, जिंक, कैल्शियम, फास्फोरस जैसे खनिजों का भी अच्छा स्रोत है। फाइबर और अमीनो एसिड से भरपूर ब्लैकबेरी सेहत को हर तरीके से स्वस्थ रख सकता है। लेकिन इसके कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। ऐसे में इसके फायदे और नुकसान के बारे में पता होना जरूरी है। आज हम इन्हीं दोनों चीजों पर प्रकाश डालेंगे। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि आप ब्लैकबेरी के सेवन से सेहत को क्या-क्या फायदे हो सकते हैं। साथ ही हम जानेंगे कि इसके सेवन से किन नुकसानों का सामना करना पड़  सकता है। इसके लिए हमने शीला सहरावत, डाइटीशियन, हेड डायटीशियन डाइट क्लीनिक, दिल्ली से भी राय मांगी। पढ़ते हैं आगे...

ब्लैकबेरी के सेवन से होने वाले फायदे (Blackberry Benefits in Hindi)

बता दें कि ब्लैकबेरी के सेवन से सेहत को कई तरीकों से फायदा मिल सकता है। जानते हैं इन फायदों के बारे में... 

1 - बालों के लिए ब्लैकबेरी (Blackberry for good and healthy hair)

बता दें कि ब्लैकबेरी के अंदर भरपूर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है, जिससे ज्यादा मात्रा में कॉलेजन बनने में मदद मिलती है। ऐसे में इसके सेवन से बालों को मजबूती मिलती है। साथ ही इसके अंदर ऐसे एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जो बालों को पर्यावरण से होने वाले हानिकारक प्रभावों से बचाते हैं। वहीं अगर ब्लैकबेरी का अर्क लगाया जाए तो इससे बाल चमकीले, आकर्षक और घने नजर आते हैं।

2 - डायबिटीज के मरीजों के लिए ब्लैकबेरी (Blackberry for Diabetes)

ध्यान दें कि ब्लैकबेरी के अंदर पोटेशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो इंसुलिन को कम करने में बेहद मददगार है। यदि आप एक चम्मच शहद के साथ ब्लैकबेरी का सेवन करते हैं तो इससे डायबिटीज नियंत्रित रहती है। बता दें कि केवल ब्लैकबेरी नहीं बल्कि इसके पत्ते भी डायबिटीज को नियंत्रित करने में बेहद मददगार हैं।

इसे भी पढ़ें- कैसे दूर करें करेले का कड़वापन? एक्सपर्ट से जानें करेले की 5 हेल्दी और स्वादिष्ट रेसिपीज

3 - ब्लैकबेरी के सेवन से बढ़ाएं याददाश्त (Blackberry for WeakMemory)

जिन लोगों को याददाश्त संबंधित परेशानी हैं उन्हें बता दें कि ब्लैकबेरी के सेवन से ज्यादा स्कोर बनाने में मदद मिलती है। ब्लैकबेरी के अंदर पॉलिफिनॉलिक तत्व मौजूद होता है जो उम्र से जुड़ी बदलावों को धीमा करने में बेहद मददगार है। साथ ही मानसिक स्थिति में सुधार के लिए भी उपयोगी है। ऐसे में अगर आप इसे अपनी डाइट में जोड़ते हैं तो दिमागी सक्रियता बढ़ाने और याददाश्त बढ़ाने में आपके बेहद काम आ सकता है।

3 - प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करें ब्लैकबेरी (Blackberry For Immunity)

ब्लैकबेरी के अंदर विटामिन के साथ-साथ फाइटोएस्ट्रोजन पाया जाता है जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाता है। अगर इसका नियमित सेवन किया जाए तो यह न केवल रोगाणुओं से लड़ने में मदद करता है बल्कि शरीर को संक्रमित होने से बचाने और घातक बीमारियों को दूर रखने में बेहद उपोयगी है।

4 - हड्डियों में मजबूती लाए ब्लैकबेरी (Blackberry For Bones)

बता दें कि ब्लैकबेरी के अंदर मैग्निशियम के साथ कैल्शियम भी भारी मात्रा में पाया जाता है जो हड्डियों को मजबूत बनाए रखने के साथ उन्हें स्वस्थ बनाने में भी बेहद मददगार है। मैग्नीशियम शरीर में कैल्शियम और पोटेशियम के अवशोषण में मदद करता है ऐसे में ब्लैकबेरी के सेवन से हड्डियों को न केवल मजबूती मिलती है बल्कि कोशिकीय संचालन ठीक तरीके से होता है।

इसे भी पढ़ें- ब्लड शुगर घटाने और स्वस्थ रहने के लिए वीगन नहीं अपनाएं पीगन डाइट, एक्सपर्ट से जानें इसके फायदे और नुकसान

5 - वजन कम करने में मददगार है ब्लैकबेरी (Blackberry for Weight Loss)

ध्यान दें कि ब्लैकबेरी में शर्करा यानी शुगर की मात्रा बहुत कम होती है, जिसके सेवन से वजन पर नियंत्रण पाया जा सकता है। वहीं ब्लैकबेरी में फाइबर मौजूद होता है, जिससे पेट साफ होता है क्योंकि इसमें कैलोरी कम होती है, जिसकी वजह से वजन कम किया जा सकता है। अगर आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो आप इसे अपनी डाइट में आसानी से जोड़ सकते हैं।

6 - दिल की सेहत के लिए अच्छा है ब्लैकबेरी (Blackberry Good for Heart Health)

बता दें कि ब्लैकबेरी के अंदर एंथोसायनिन भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं जो दिल की सेहत के लिए बेहद मददगार हैं। इसके अंदर फाइबर और मैग्नीशियम भी मौजूद होता है, जिससे अन्य तत्व धमनियों को बंद होने से रोकने में मदद मिलती है और रक्त का प्रवाह बढ़ाने में भी सहायक हैं। इसके सेवन से हृदय रोग की समस्या जैसे स्ट्रोक, एथेरोसिलेरोसिस (वो रोग, जिसमें धमनियों के अंदर 'प्लाक' बनना शुरू हो जाता है।) आदि रोग खत्म हो जाता है। मैग्निशियम बीपी को काबू करने में मदद करता है साथ ही यह हृदय की अनियमित संकुचन से बचाव भी करता है।

7 - ब्लैकबेरी के सेवन से बड़े आंखों की रोशनी (Blackberry for Eyesight)

आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए ब्लैकबेरी का सेवन बेहद उपयोगी माना गया है। बता दें कि ल्यूटिन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है इसीलिए अगर आप इसका नियमित रूप से सेवन करते हैं तो यह अल्ट्रा-वायलेट किरणों से आंखों की रक्षा की जा सकती है। बता दें कि ल्यूटिन रेटिना के पीछे के हिस्से में मैकुला नामक एक पिग्मेंट बनाता है और आंखों को ऑक्सीडेंट तनाव से भी बचाता है। इसके अंदर विटामिंस आंखों की रोशनी बढ़ाने और आंखों से संबंधित सभी बीमारियों को दूर रखने में बेहद मददगार हैं।

ब्लैकबेरी के नुकसान (Side Effects of BlackBerry in Hindi)

हर किसी फल के फायदे और नुकसान दोनों होते हैं। ऐसे में जहां फायदों के बारे में जान रहे हैं तो वहां नुकसान के बारे में भी पता होना जरूरी है। ब्लैकबेरी के नुकसान निम्न प्रकार हैं-
1 - ब्लैक बेरी के पत्तों से कुछ लोगों में मामूली से लेकर गंभीर एलर्जी नजर आती है। ऐसे में डॉक्टर की सलाह पर ही इसका उपयोग करें।
2 - गर्भावस्था में ब्लैकबेरी का उपयोग डॉक्टर की सलाह पर करें। वैसे डॉक्टर ब्लैकबेरी का सेवन गर्भावस्था के दौरान सामान्य मात्रा में करने के लिए कहते हैं लेकिन ब्लैकबेरी के पत्तों से बनी चाय से इन महिलाओं को बचना जरूरी है। वहीं नवजात शिशु को या बच्चे की उम्र 2 साल से कम है तो उसे ब्लैकबेरी के पत्तों से बनी चाय ना दें।
3 - ध्यान दें कि ब्लैकबेरी की जड़ में भारी मात्रा में टैनिंग मौजूद होता है, ऐसे में जिन लोगों को कोलाइटिस जैसे पेट की समस्या है इसका सेवन बिल्कुल ना करें।
नोट - ब्लैकबेरी को अपनी डाइट में शामिल करने से आप अपनी सेहत को अच्छा बना सकते हैं। सेहत के लिहाज से यह एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है। लेकिन अगर आप गर्भवती महिलाएं या स्तनपान कराने वाली महिलाएं हैं तो डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करें। खासकर इसकी पत्तियों का सेवन किसी के कहने पर न करें। ऐसा करने से बच्चे और महिला दोनों की सेहत को नुकसान पहुंच सकता है। वहीं अगर आप कोई स्पेशल डाइट फॉलो कर रहे हैं तो अपनी डाइट में बदलाव करने से पहले एक बार डॉक्टर से संपर्क जरूर करें। इसके अलावा यदि आपको इससे एलर्जी महसूस हो रही है तो तुरंत इसका सेवन बंद कर दें। वरना इसके चलते आपको अन्य स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं हो सकती हैं।  

ये लेख शीला सहरावत, डाइटीशियन, हेड डायटीशियन डाइट क्लीनिक, दिल्ली द्वारा दिए गए इनपुट्स पर बनाया गया है।

Read More Articles on Healthy diet in hindi

Disclaimer