ब्लड शुगर घटाने और स्वस्थ रहने के लिए वीगन नहीं अपनाएं पीगन डाइट, एक्सपर्ट से जानें इसके फायदे और नुकसान

वीगन डाइट प्लान के बारे में आपने सुना होगा, लेकिन क्या कभी पीगन डाइट के बारे में सुना है? अगर नहीं, तो आइए जानते हैं इस बारे में-

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraUpdated at: Feb 08, 2021 09:54 IST
ब्लड शुगर घटाने और स्वस्थ रहने के लिए वीगन नहीं अपनाएं पीगन डाइट, एक्सपर्ट से जानें इसके फायदे और नुकसान

मोटापे को कम करने के लिए आपने कई तरह के डाइट का नाम सुना होगा। इन डाइट में से आपको वीगन, पालीओ डायट और लो फैट कैलोरी डाइट के बारे में अच्छी तरह पता होगा। लेकिन क्या आपने कभी पीगन डाइट के बारे में सुना है? पीगन डाइट से आपके शरीर का मोटापा तेजी से कम होता। आजकल यह डाइट काफी ट्रेंड में है, जिसे लोग अपनी डाइट प्लान में शामिल कर रहे हैं। इससे मोटापा ही नहीं, बल्कि कई तरह की बीमारियां दूर रहेंगी। अगर आप इस डाइट प्लान के बारे में नहीं जानते हैं, तो आइए जानते हैं इस बीमारियों के बारे में विस्तार से- 

क्या है पीगन डाइट प्लान? (What is Pegan Diet)

पीगन डाइट दो मशहूर डाइट प्लान वीगन (Vegan) और पैलिओ (Paleo ) डाइट का बेहतरीन मेल है। पैलियो डाइट में जहां मांसहारी चीजों को शामिल किया जाता है। वहीं वीगन डाइट में सब्जियां और पौधों का प्रोटीन यानी प्लांट बेस्ड डाइट को अधिक मात्रा में  शामिल किया जाता है। वीगन डाइट में एनीमल फैट वाले फूड पर कंट्रोल किया जाता है। या फिर एनीमल फूड को बिल्कुल ही डाइट में शामिल नहीं किया जाता है। क्लीवलैंड क्लिनिक सेंटर फॉर फंक्शनल मेडिसिन के डॉयरेक्टर डॉ. मार्क हाइमन ने इस डाइट प्लान को इजाद किया है। डॉक्टर के अनुसार, पीगल डाइट में आप बिना स्टार्च की सब्जियां, फल-फ्रूट्स पर फोकस करते हैं, जिससे आप अपने सेहत को अच्छी तरह सुधार सकते हैं। इस डाइट प्लान में 75 फीसदी फल और सब्जियों को शामिल किया जाता है। वहीं, एनिमल फैट 25 फीसदी ही शामिल की जाती है।

इसे भी पढ़ें - घर पर बनाएं स्वादिष्ट और हेल्दी पोहा, एक्सपर्ट से जानिए पोहा खाने के फायदे

क्या खाएं और क्या ना खाएं? 

एक्सपर्ट के अनुसार, इस डाइट प्लान में फल और सब्जियों को अधिक और एनिमल फैट को कम लिया जाता है। इसके साथ ही इसमें डेयरी प्रोडक्ट्स से जुड़ी चीजों से परहेज करने की सलाह दी जाती है। जिसमें गाय का दूध, पनीर, प्रोसेस्ड फूड मना होता है। साथ ही शुगर या उनके बने प्रोडक्ट्स जैसे रिफाइंड ऑयल, चीनी, मिठाई इत्यादि को डाइट प्लान का हिस्सा नहीं माना जाता है। 

इस डाइट प्लान में सबसे अधिक फोकस यानी 75 फीसदी पौधे वाले फूड में होते हैं, जिसमें ग्लूटन (Gluten) फ्री अनाज, सब्जियां, दालें, फल एवोकाडो और ऑलिव ऑयल जैसी चीजों को शामिल किया जाता है। इसके अलावा 25 फीसदी में बहुत ही कम एनिमल फैट होना चाहिए। 25 फीसद हिस्से में सिर्फ हथेली में समा सकने लायक प्रोटीन रिच फूड होना चाहिए। जिसमें आप मछली, सी, नट्स, फूडस को शामिल कर सकते हैं।

पीगन डाइट के फायदे (Health benefits of Pegan Diet)

डायट मंत्रा क्लीनिक की डायटीशियन कामिनी कुमारी का कहना है कि बढ़ते वजन को कंट्रोल करने में पीगन डाइट प्लान काफी फायदेमंद हो सकता है। वजन कम करने के साथ ही यह अन्य कई बीमारियों से छुटकारा दिला सकता है। शरीर में होने वाले सूजन, डायबिटीज, ब्लड शुगर इत्यादि को कंट्रोल करने में असरकारी साबित हो सकता है। इतना ही नहीं यह हृदय संबंधी रोगों से बचाव करने में अहम भूमिका निभाता है।

इसे भी पढ़ें - Healthy Breakfast: हाई बीपी (हाइपरटेंशन) से हैं परेशान, तो नाश्ते में शामिल करें ये 5 चीजें

1. ब्लड प्रेशर की समस्या करे दूर

अमेरिकी स्वास्थ्य संस्था न्यूरोलॉजी में हुए अध्ययन के मुताबिक, पीगन डाइट प्लान बच्चों और वयस्कों दोनों के लिए बेहतर साबित हो सकता है। इस डाइट प्लान को फॉलो करने से बच्चों और वयस्कों हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को कम करने में असरकारी साबित हो सकता है। 

2. डायबिटीज करे कंट्रोल

डायबिटीज के मरीजों के लिए पीगन डाइट प्लान काफी मददगार हो सकता है। इस डाइट प्लान में शुगर बिल्कुल भी शामिल नहीं किया जाता है, बल्कि अन्य डाइट प्लान में कई सावधानियां बरतने के बावजूद किसी ना किसी रूप में शरीर में शुगर पहुंच जाता है। जिससे शरीर का शुगर लेवल बढ़ने की संभावना होती है। ऐसे में शुगर रोगियों के लिए पीगन डाइट प्लान फायदेमंद हो सकता है। कई अध्ययन में यह बात सामने आई है कि पीगन डाइट से आप ब्लड शुगर को कंट्रोल कर सकते हैं। 

3. कोलेस्ट्रॉल को करें कंट्रोल 

पीगन डाइट प्लान से आप कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल कर सकते हैं। डायटीशियन के मुताबिक, पीगन डाइट से हमारे शरीर का कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल में रहता है। दरअसल, हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का सबसे बड़ा कारण सैचुरेटेड फैट होता है। जो पीगन डाइट में नहीं होता है। इसमें आप सैचुरेटेड फैट को शामिल नहीं किया जाता है। लगातार एक महीने तक पीगन डाइट प्लान को फॉलो करने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल का लेवल को आसानी से घटाया जा सकता है। 

इसे भी पढ़ें - रोज डे पर अपने पार्टनर को पिलाएं गुलाब से बनी चाय, वजन कम होने के साथ-साथ सेहत को होंगे ये 5 फायदे

4. हड्डियों को करें मजबूत

हड्डियों को मजबूत रखने में पीगन डाइट फायदेमंद हो सकता है। इसमें विटामिन डी और कैल्शियम भरपूर रूप से होता है। इसके सेवन से शरीर में सूजन और गठिया की परेशानी को कंट्रोल कर सकते हैं। इतना ही नहीं यह बोन कैंसर के खतरे को भी कम करने में कारगर साबित होता है।

5. दिल के लिए है अच्छा

पीगन डाइट में शुगर और सैचुरेटेड फैट बिल्कुल भी नहीं होता है। ऐसे में यह डाइट ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के साथ-साथ कोलेस्ट्रॉल लेवल को भी कंट्रोल में रखता है। ये सभी चीजें आपके हृदय स्वास्थ्य पर असर डालती हैं। आप अपने आहार में सैचुरेटेड फैट जितना कम शामिल करते हैं, वे आपके हृदय के लिए उतना ही फायदेमंद होता है।

पीगन डाइट के नुकसान (Side Effects of Pegan Diet) 

डायटीशियन बताती हैं कि पीगन डाइट प्लान हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद है। इसे आप लंबे समय तक फॉलो कर सकते हैं। लेकिन यह स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेय भी हो सकता है। क्योंकि इस डाइट प्लान में आपको बहुत सी चीजों के सेवन से परहेज करना पड़ता है। इसके साथ-साथ इसमें आपको खाने में अलग-अलग चीजों को शामिल करने के लिए बहुत अधिक चुनाव की आवश्यकता होती है। जिसे मैनेज करने में बहुत ही अधिक वक्त लग सकता है। इसलिए सही से चुनाव ना करने के कारण आपके शरीर में कई पोषक तत्व की कमी हो सकती है।

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer