जंक फूड खाने से महिलाओं में बढ़ता है फर्टिलिटी का खतरा, जानें उपचार

आमतौर पर पिज्ज़ा-बर्गर जैसी चीज़ें सभी को अच्छी लगती हैं पर एडिलेट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं द्वारा हाल ही में किए गए एक अध्ययन से यह तथ्य सामने आया है कि ऐसी चीज़ों के अधिक सेवन से स्त्रियों को कंसीव करने में परेशानी हो सकती है।

Rashmi Upadhyay
स्वस्थ आहारWritten by: Rashmi UpadhyayPublished at: Oct 31, 2018
जंक फूड खाने से महिलाओं में बढ़ता है फर्टिलिटी का खतरा, जानें उपचार

आमतौर पर पिज्ज़ा-बर्गर जैसी चीज़ें सभी को अच्छी लगती हैं पर एडिलेट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं द्वारा हाल ही में किए गए एक अध्ययन से यह तथ्य सामने आया है कि ऐसी चीज़ों के अधिक सेवन से स्त्रियों को कंसीव करने में परेशानी हो सकती है। दरअसल फास्ट फूड में सैचुरेटेड फैट, सोडियम और चीनी की अधिक मात्रा होती है। इन तत्वों की अधिकता से गर्भधारण में सहायक सेल्स की मात्रा घटने लगती है। वहीं दूसरी ओर ताज़े फलों का सेवन स्त्रियों की प्रजनन क्षमता को मज़बूत बनाता है। आज हम आपको प्रश्न और उत्तर के माध्यम से कई प्रश्नों के जवाब दे रहे हैं। 

प्रश्न- मैं 40 वर्षीया अविवाहिता हूं। मेरे पेट के निचले हिस्से में अकसर दर्द रहता था। डॉक्टर को दिखाने के बाद मालूम हुआ कि मेरे यूट्रस में फाइब्रॉयड है। इसका क्या उपचार है? क्या इसे दवाओं से ठीक किया जा सकता है?

उत्तर- पेट के निचले हिस्से में दर्द के और भी कई कारण हो सकते हैं। बेहतर यही होगा कि आप दोबारा किसी कुशल स्त्री रोग विशेषज्ञ से अपनी जांच कराएं। अगर फाइब्रॉयड की वजह से ही दर्द है और आपके पीरियड्स नियमित हैं तो आजकल इसके लिए दवाएं भी उपलब्ध हैं, जिनके सेवन से आपको राहत मिलेगी।

प्रश्न- मैं 28 वर्षीया विवाहिता हूं। तीन माह पहले मेरी शादी हुई है। यूरिन डिस्चार्ज करते समय दर्द के साथ बहुत जलन महसूस होती है। मुझे बहुत घबराहट हो रही है कि कहीं मुझे यूटीआई तो नहीं हो गया?

उत्तर- यह यूटीआई का भी लक्षण हो सकता है। आपको यूरिन की जांच करवा लेनी चाहिए। उसके आधार पर डॉक्टर आपको कुछ एंटीबायोटिक दवाएं देंगी, जिससे आपकी यह समस्या जल्द ही दूर हो जाएगी।

प्रश्न- मैं 35 वर्षीया विवाहिता हूं। मेरी प्रेग्नेंसी का तीसरा महीना चल रहा है। मैंने लोगों से सुना है कि अधिक उम्र में मां बनने से कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। इससे बचाव के लिए मुझे किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

उत्तर- यह बात कुछ हद तक सही है लेकिन आप चिंतित न हों। आजकल मेडिकल साइंस के क्षेत्र में टेक्नोलॉजी का$फी एडवांस हो चुकी है, आजकल ज़्यादातर स्त्रियां इसी उम्र में मां बन रही हैं। ऐसी स्थिति में गर्भवती स्त्री को डॉक्टर की विशेष निगरानी में रखा जाता है। ज़रूरत महसूस होने पर अल्ट्रासाउंड की मदद से गर्भस्थ शिशु के विकास और उसकी अवस्था की जांच की जाती है। आप स्वस्थ खानपान अपनाएं और खुश रहें। अगर आप डॉक्टर के सभी निर्देशों का पालन करेंगी तो संभवत: कोई समस्या नहीं होनी चाहिए।

प्रश्न- मैं 19 वर्षीया छात्रा हूं। मैंने अपनी सहेलियों से कुछ ऐसी दवाओं के बारे में सुना है, जिनके सेवन से पीरियड की तारीख को कुछ दिनों के लिए स्थगित किया जा सकता है। कई बार परीक्षा के दौरन्‍ान पीरियड्स के कारण असुविधा होती है। ऐसे में किसी दवा का सेवन किया जा सकता है?

उत्तर- हालांकि, ऐसी दवाएं नुकसानदेह नहीं होतीं और आकस्मिक स्थिति में इनका इस्तेमाल किया जा सकता है पर इनमें कुछ खास तरह के हॉर्मोन होते हैं। इसलिए इन्हें बार-बार लेने की आदत सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकती है। इससे यह पता लगाना मुश्किल होगा कि आपके पीरियड्स आने की अगली डेट क्या होगी? इसलिए कोशिश यही होनी चाहिए कि यथासंभव ऐसी दवाओं के सेवन से दूर रहा जाए। 

प्रश्न- मैं 24 वर्षीया विवाहिता हूं। दो माह पहले ही मैंने कंसीव किया है। वैसे तो मुझे कोई समस्या नहीं है पर मैं नॉर्मल डिलिवरी चाहती हूं। इसके लिए मुझे पहले से ही किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

उत्तर- यह उम्र प्रेग्नेंसी के लिए अनुकूल है। फिर भी एहतियात के तौर पर आप संतुलित खानपान अपनाएं, अधिक कैलरी वाली चीज़ों, सॉफ्ट ड्रिंक्स और जंक फूड के सेवन से दूर रहें। हमेशा सक्रिय रहें और किसी विशेषज्ञ से सीखकर कुछ एक्सरसाइज़ भी कर सकती हैं। आमतौर पर स्वस्थ जीवनशैली और खानपान अपनाने से नॉर्मल डिलिवरी की संभावना बढ़ जाती है।

प्रश्न- मैं 28 वर्षीया विवाहिता हूं और दो बच्चों की मां हूं। मेरे पति परिवार नियोजन के किसी साधन का इस्तेमाल नहीं करना चाहते हैं। ऐसे में मुझे ही ऑपरेशन कराना होगा। कहीं इसका कोई साइड इफेक्ट तो नहीं होता? मैंने सुना है कि इसके बाद कुछ स्त्रियों के पेट पर अतिरिक्त फैट जमा हो जाता है। क्या यह सच है ?   

उत्तर- अगर आप ऑपरेशन नहीं करवाना चाहतीं तो  फिलहाल 3 या 5 साल के लिए कॉपर टी लगवाना भी आसान विकल्प है। इसी तरह गर्भनिरोधक इंजेक्शन का इस्तेमाल भी पूरी तरह सुरक्षित है। फिर जब आपके बच्चे बड़े हो जाएंगे तो आप ऑपरेशन के बारे में सोच सकती हैं या यह भी संभव है कि तब तक आपके पति परिवार नियोजन के अन्य साधन अपनाने को तैयार हो जाएं। 

प्रश्न- मैं 24 वर्षीया विवाहिता हूं और तीन माह पहले ही मेरे बेटे का जन्म हुआ है। मैं उनसे हर दो घंटे के अंतराल पर फीड कराती हूं, फिर भी ब्रेस्ट में बहुत दर्द और भारीपन महसूस होता है। इस समस्या का क्या समाधान है ?

उत्तर- आप चिंतित न हों, लैक्टेशन पीरियड में कुछ स्त्रियों को ऐसी समस्या होती है। अगर फीड कराने के बाद भी आपको ब्रेस्ट में भारीपन महसूस हो तो अतिरिक्त दूध निकाल कर उसे 24 घंटे के लिए फ्रिज में स्टोर कर सकती हैं ताकि आपकी अनुपस्थिति में परिवार का कोई दूसरा सदस्य उसे बॉटल से दूध पिला सकता है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Healthy Eating In Hindi

Disclaimer