Doctor Verified

अंडकोष में हर्निया क्यों होता है? जानें कारण, लक्षण और इलाज

What is Inguinal Hernia in Hindi: अंडकोष में हर्निया होने पर मरीज को गंभीर समस्याएं होती हैं, जानें अंडकोष में हर्निया के कारण, लक्षण व इलाज।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Aug 14, 2022Updated at: Aug 14, 2022
अंडकोष में हर्निया क्यों होता है? जानें कारण, लक्षण और इलाज

What is Inguinal Hernia in Hindi: हर्निया पेट में होने वाली एक गंभीर समस्या है, जो पेट के अलावा नाभि और कमर के आसपास के अंगों को भी प्रभावित करती है। हर्निया कई तरह की होती है और इनमें से ही एक है अंडकोष में हर्निया। अंडकोष में हर्निया (Inguinal Hernia in Hindi) को वंक्षण हर्निया या इनगुइनल हर्निया भी कहा जाता है। आमतौर पर यह समस्या आंत या पेट के किसी हिस्से की मांसपेशियों से शुरू होती है। अंडकोष में हर्निया की समस्या होने पर मरीज को कई गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इस समस्या में झुकते, खांसते और किसी भारी चीज को उठाते समय गंभीर दर्द का सामना करना पड़ता है। इस समस्या में आपके पेट और आंत का कुछ हिस्सा नाभि के नीचे अंडकोष में खिसक कर पहुंच जाता है। एक आंकड़े के मुताबिक हर्निया के लगभग 70 प्रतिशत मरीजों में अंडकोष में हर्निया की समस्या होती है। इस लेख में आइए जानते हैं अंडकोष में हर्निया क्यों होता है? इस समस्या के लक्षण क्या हैं और इससे बचाव कैसे करें?

अंडकोष में हर्निया क्यों होता है?- What Causes Inguinal Hernia in Hindi

Inguinal Hernia in Hindi

इनगुइनल हर्निया या अंडकोष में हर्निया की समस्या दो तरह की होती है- इनडायरेक्ट इनगुइनल हर्निया और डायरेक्ट इनगुइनल हर्निया। पेट और आंत में किसी खिंचाव और भारी चीजों को उठाने से यह समस्या सबसे ज्यादा देखने को मिलती है। इंडायरेक्ट और इंग्वाइनल हर्निया कुछ लोगों में जन्म के समय से ही होता है। जानें माने सर्जन डॉ पंकज सरीन के मुताबिक पेट की मांसपेशियों में कमजोरी भी अंडकोष में हर्निया का प्रमुख कारण माना जाता है। अंडकोष में हर्निया के कुछ प्रमुख कारण इस तरह से हैं-

  • बहुत ज्यादा भारी चीज उठाना
  • बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करना
  • लगातार कब्ज और खांसी की समस्या
  • पेट और आंत पर बहुत ज्यादा दबाव
  • पेट की मांसपेशियों में कमजोरी
  • प्रेग्नेंसी के दौरान पेट की मसल्स में कमजोरी
  • समय से पहले शिशु का जन्म

अंडकोष में हर्निया के लक्षण- Inguinal Hernia Symptoms in Hindi

अंडकोष में हर्निया होने पर मरीज को उठने और बैठने में परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस समस्या से ग्रसित व्यक्ति को पेट में दर्द और खांसते समय गंभीर परेशानी होती है। लंबे समय तक खड़े रहने की वजह से भी मरीज को गंभीर दर्द का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा जिन मरीजों को अंडकोष में हर्निया की समस्या होती है उनके अंडकोष में उभार और दर्द की समस्या बनी रहती है। अंडकोष में हर्निया होने पर ये लक्षण दिखाई देते हैं-

  • पेट और कमर के आसपास गंभीर दर्द
  • किसी चीज को उठाते समय परेशानी
  • शौच करते समय गंभीर दर्द
  • तेज बुखार और उल्टी की समस्या
  • अंडकोष में सूजन और चलने में दर्द

अंडकोष में हर्निया का इलाज- Inguinal Hernia Treatment in Hindi

अंडकोष में हर्निया की समस्या होने पर सबसे पहले अंडकोष का आकार बढ़ने लगता है। इसकी वजह से मरीज को चलने-फिरने में परेशानी और गंभीर दर्द का सामना करना पड़ता है। शुरुआत में हर्निया के लक्षण पहचानकर इलाज लेने से मरीज को जल्दी फायदा मिलता है। जिन लोगों में हर्निया छोटा होता है या शुरुआती स्टेज पर होता है उन्हें डॉक्टर कुछ दवाओं के सेवन की सलाह देते हैं। दवाओं के सेवन के अलावा सपोर्टिंग ट्रस पहनने से इस समस्या में आराम मिलता है। जिन लोगों में अंडकोष का हर्निया बहुत ज्यादा बढ़ जाता है या समस्या गंभीर हो जाती है, उनका इलाज सर्जरी के माध्यम से किया जाता है। डॉक्टर जांच के बाद सर्जरी की सलाह देते हैं और इस समस्या में ओपन हर्निया रिपेयर और लैप्रोस्कोपिक सर्जरी की जाती है। सर्जरी के बाद कुछ दिनों तक खानपान और जीवनशैली में बदलाव करने से मरीज जल्दी रिकवर होता है।

इसे भी पढ़ें: महिलाओं में हर्निया की समस्या होने पर दिखते हैं ये 6 लक्षण, डॉक्टर से जानें इसके कारण और इलाज

अंडकोष में हर्निया की समस्या से बचने के लिए आपको खानपान और जीवनशैली पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है। कब्ज और खांसी की समस्या से बचने के लिए आपको हेल्दी फल और सब्जियों का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा बहुत ज्यादा भारी चीज को उठाने से बचना चाहिए। ऐसे लोग जो जिम में एक्सरसाइज करते हैं, उन्हें एक्सरसाइज के दौरान पेट की मांसपेशियों पर जरूरत से ज्यादा दबाव नहीं देना चाहिए। इसके अलावा स्मोकिंग की वजह से होने वाली खांसी की समस्या के कारण भी मरीज को अंडकोष की हर्निया का खतरा रहता है, इसलिए स्मोकिंग करने से बचना चाहिए। अंडकोष में हर्निया के लक्षण दिखने पर डॉक्टर की सलाह जरूर लें और सही समय पर इलाज कराएं।

(Image Courtesy: Freepik.com)

Disclaimer