मॉनसून में पैरों को फंगल इंफेक्शन से कैसे बचाएं? जानें घरेलू उपाय

बारिश के मौसम में गंदे पानी में पैर रहने के कारण पैरों में फंगल इंफेक्शन होने का खतरा काफी बढ़ जाता है। जानें इससे बचाव के लिए घरेलू उपाय।

Deepshikha Singh
Written by: Deepshikha SinghPublished at: Jul 17, 2022Updated at: Aug 16, 2022
मॉनसून में पैरों को फंगल इंफेक्शन से कैसे बचाएं? जानें घरेलू उपाय

मॉनसून में पैरों का ख्याल रखना बहुत जरूरी होता है क्योंकि इस मौसम में अक्सर लोगों को पैर में फंगल और बैक्टीरियल इंफेक्शन होने का खतरा रहता है।बारिश या गंदे पानी में भीगे जूते देर तक पहने रहने या सड़क पर जमा पानी के बीच चप्पल पहनकर निकलने से पैरों में फंगल इंफेक्शन का खतरा काफी बढ़ जाता है। इस मौसम में अगर ठीक से पैरों की सफाई न की  जाए, तो  समस्या काफी बढ़ सकती है।

क्या हैं फंगल इंफेक्शन 

पैरों में फंगल इंफेक्शन मॉनसून के मौसम में काफी जल्दी फैलता है। फंगस तब ज्यादा फैलता है जब ये सीधा आपके संपर्क में आता है। ये शरीर पर खुजली, नेल इन्फेक्शन या फंफूद के रूप में बाहर आता है। ये पैरों पर उस जगह ज्यादा फैलता है, जहां पर नमी मौजूद होती है, जैसे- पैर की  उंगलियों के बीच का हिस्सा, एड़ी और नाखून। इसलिए इस मौसम में पैरों को अधिक केयर की जरूरत होती है।  इन टिप्स को अपनाकर आप इस मौसम में अपने पैरों को फंगल इंफेक्शन से बचा सकते हैं।

मॉनसून में पैरों को फंगल इंफेक्शन से बचाने के उपाय

नमक का प्रयोग

नमक में एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं, जिस कारण ये पैरों में फंगल इंफेक्शन होने को रोकता है। पैरों में किसी प्रकार के संक्रमण से बचने के लिए एक टब पानी में 2 चम्मच नमक डालें। लगभग 20 मिनट तक इस टब में पैर डालकर बैठे रहें, इससे पैरों में फंगस और इंफेक्शन नहीं होगा। आप इस उपाय को बारिश में भीगकर आने के बाद भी कर सकते हैं। ये पैरों की एड़ियों को भी साफ करता है।

नंगे पैर न चलें

कई बार मॉर्निग वॉक करते समय हम घास पर कुछ देर नंगे पैर चलते हैं। ऐसा करने से काफी आराम मिलता है। लेकिन मॉनसून के मौसम में नंगे पैर चलने से बचें। इस मौसम में नंगे पैर चलने से फंगल इंफेक्शन का खतरा बना रहता है। जूते पहनने से पहले आप पैरों पर एंटी-फंगल पाउडर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। ये पैरों में इंफेक्शन होने से बचाएगा।

नाखूनों को छोटा रखें

लगातार पैरों के भीगने से मॉनसून के मौसम में नाखून थोड़े कमजोर हो जाते है। इस कारण इस मौसम में नाखून टूटने का खतरा ज्यादा रहता है। कोशिश करें इस मौसम में नाखूनों को छोटा ही रखें क्योंकि नाखून टूटने पर उसमें इंफेक्शन होने का डर इस मौसम में रहता है। नाखून काटने के बाद उसमें नारियल तेल से मसाज भी कर सकते हैं। नारियल तेल में  एंटीफंगल गुण मौजूद होते हैं, जिस कारण ये फंगल संक्रमण को बढ़ने नहीं देता।

Foot Fungal Infection

मौसम के हिसाब से जूते पहनें

मॉनसून के मौसम में कब बारिश हो जाए, कुछ पता नहीं चलता। इसलिए इस मौसम में ऐसे फुटवियर का चुनाव करें, जो पूरी तरह बंद न हो, क्योंकि बंद जूतो में पैरों को हवा नहीं मिलती, जिस कारण पैरों में फंगल इंफेक्शन होने का खतरा बना रहता है। ऑफिस के लिए भी ऐसे फुटवियर का चुनाव करें जिसमें पैरों को हवा लगती रहे।

इसे भी पढ़ें- फंगल इंफेक्शन क्यों होता है और क्या हैं इसके लक्षण? डर्मेटोलॉजिस्ट से जानें इलाज और बचाव के टिप्स

बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा में एंटीफंगल गुण पाए जाते हैं, जो फंगल इंफेक्शन के खतरे को कम करता है। इस मौसम में बाहर से आने के बाद एक बाल्टी पानी में आधा कप बेकिंग सोडा मिलाकर अपने पैरों को 15-20 मिनट के लिए डिप करके रखें। ये पैरों को फंगल इंफेक्शन से बचाएगा और पैरों को साफ भी करेगा।

All Image Credit- Freepik

Disclaimer