औषधीय गुणों से भरपूर होती हैं ये 10 पत्तियां, इन्हें खाली पेट चबाने से मिलते हैं ढेर सारे फायदे

औषधीय गुणों से भरपूर इन 10 पत्तियों को चबाने से आप डायबिटीज, मोटापा और स्किन की कई समस्याओं से बच सकते हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में विस्तार से। 

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Sep 27, 2021
औषधीय गुणों से भरपूर होती हैं ये 10 पत्तियां, इन्हें खाली पेट चबाने से मिलते हैं ढेर सारे फायदे

बचपन में आपने कई बार अमरूद और आम की पत्तियों को चबाया होगा। आपको तब शायद मालूम न हो कि अमरूद की पत्तियों को चबाने से आपके  पेट की ऐंठन ठीक हो जाती है तो, आम की पत्तियों को चबाने से डायबिटीज नहीं होता। जबकि ये सब औषधीय गुणों से भरपूर हैं और इन पत्तों से निकलने वाला अर्क कई बीमारियों का रामबाण इलाज है। दरअसल, आयुर्वेद में कुछ जड़ी बूटियां औषधीय पेड़ों और पौधों की पत्तियों से बना करती हैं। होता ये है कि पत्तियों से निकलने वाले अर्क तुरंत ब्लड में सर्कुलेट हो जाते हैं और बीमारी में तेजी से काम करते हैं। आज हम आपको ऐसी 10 पत्तियों के बारे में बताएंगे जो कि आपके आस-पास ही मिलती हैं और जिन्हें खाली पेट चबा कर आप कई बीमारियों से छुटकारा पा सकते हैं। इन पत्तियों के बारे में जानने के लिए हमने  डॉ. संजय शास्त्री  से बात की जो कि एक आयुर्वेदिक डॉक्टर हैं और लखनऊ आयुर्वेदा क्लीनिक में कार्यरत हैं। 

inside3neemleaves

खाली पेट चबाने वाली 10 पत्तियां-10 herbal leaves benefits on empty stomach 

1. नीम की पत्तियां (Neem leaves benefits)

नीम की पत्तियां अपने आप में एंटीबैक्टीरियल और एंटी एलर्जिक गुणों से भरपूर हैं। रोजाना इनका खाली पेट सेवन करने से आपको पेट में कीड़े नहीं होंगे। साथ ही जिन लोगों लगातार फोड़े-फूंसी निकलते हैं उनके लिए नीम की पत्तियां रामबाण इलाज की तरह काम करती हैं। ये खून की साफ करती हैं और त्वचा को अंदर से स्वस्थ बनाती हैं। साथ ही नीम की पत्तियों का खाली पेट सेवन करने से ब्लड वेसेल्स हेल्दी रहती हैं और आपको दिल की बीमारियां नहीं होतीं। साथ ही ये बुखार, डायबिटीज, मसूड़ों की बीमारी और लिवर की समस्याओं से भी बचाव में मदद करती हैं। 

2. तुलसी की पत्तियां (Basil leaves benefits)

तुलसी का उपयोग पेट में ऐंठन, सर्दी-जुकाम, आंतों की समस्या और एसिडिटी को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। पर खाली पेट तुलसी की पत्तियां चबाने से आपको कई लाभ मिल सकते हैं। दरअसल, तुलसी की पत्तियों में एंटीवायरल गुण होते हैं जो कि आपको मौसमी बीमारियों से बचाव में मदद करती हैं। साथ ही इसकी एंटी इंफ्लेमेटरी गुण शरीर में सूजन को कम करने में मदद करती है। यहां तक कि जोड़ों के दर्द से भी इसकी पत्तियां आपको बचाती हैं। इसके अलावा इसके एंटीबैक्टीरियल गुण श्वसन रोगों, मूत्र रोगों, पेट और त्वचा के संक्रमण से भी लड़ने में मदद करते हैं। साथ ही रोजोना तुलसी की 4 पत्तियों को खाना आपकी इम्यूनिटी बढ़ाने का काम करते हैं। 

3. पुदीना (Mint leaves benefits)

पुदीना के पत्ते का लोग तरह-तरह से इस्तेमाल करते हैं। पुदीने के पत्ते को चबाने का सबसे बड़ा फायदा ये है कि ये मुंह और सांस की दुर्गंध को दूर करता है। पुदीने के पत्ते में एंटीएसिडिक गुण होते हैं यानी कि ये एसिडिटी को कम करता है। इसलिए जिन लोगों को रेगुलर गैस की समस्या रहती हैं उन्हें इसका सेवन जरूर करना चाहिए। साथ ही पुदीना पेट का पीएच सही करता है और मेटाबोलिज्म तेज करता है। इसे सुबह-सुबह चबाने से आपका मूड फ्रेश रहता है और ये मौसमी एलर्जी, अस्थमा और सर्दी-जुकाम को कम करने में मदद करता है।

इसे भी पढ़ें : आयुर्वेद के अनुसार सुबह के नाश्ते के समय ये 5 गलतियां करने से सेहत पर पड़ता है बुरा असर

4. करी पत्ता (Curry leaves benefits)

करी पत्ता खाली पेट चबाने का सबसे ज्यादा फायदा डायबिटीज के मरीजों को होता है। दरअसल, ये शरीर में शुगर को कम करता है और पेनक्रियाज को हेल्दी रख कर इंसुलिन के प्रोडक्शन में मदद करता है। ये कब्ज और डायरिया को भी ठीक करने में मदद करता है। करी पत्ते को आप प्रेग्नेंसी में मोर्निंग सिकनेस को कम करने के लिए भी आप इस्तेमाल कर सकते हैं। साथ ही रेगुलर सुबह उठ कर करी पत्ता खाने से ये आपके मूड को बेहतर बनाता है, वजन संतुलित करता है, कोलेस्ट्रॉल कम करता है और स्किन और बालों को भी हेल्दी बनाने में मदद करता है। 

5. अजवाइन के पत्ते (Ajwain leaves benefits)

अगर आपको तेज पेट दर्द हो रहा है या फिर खाने के बाद एसिडिटी महसूस हो रही है तो, आपको अजवाइन के पत्तों का सेवन करना चाहिए। दरअसल, इनके पत्तों में एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं जिस चबा कर खाने से पेट के इंफेक्शन को कम करने में मदद मिलती है। साथ ही सर्दी-जुकाम में इसकी पत्तियों को शहद के साथ मिला कर खाने से आपको सर्दी-जुकाम से छुटाकारा मिल सकता है। इसके अलावा आर्थराइटिस के दर्द को दूर करने और सूजन से बचाव के लिए भी आप अजवाइन के पत्ते का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

insidejamunbenefits

6. जामुन के पत्ते (Jamun leaves benefits)

जामुक के पत्ते का सेवन कर आप शुगर को कंट्रोल कर सकते हैं। दरअसल, इसके पत्ते का अर्क इंसुलिन के प्रोडक्शन को बढ़ाने में मदद करते हैं। इससे शुगर तेजी से पचाता है डायबिटीज में ये बहुत फायदेमंद है। साथ ही मुंह के छालों में भी इसे चबा कर खाना माउथ इंफेक्शन को कम कर सकता है। इसके अलावा अपच और कमजोर पाचनतंत्र को मजबूत बनाने में भी जामुन के पत्ते मददगार हैं। 

7. पान के पत्ते (Benefits of Betel Leaves)

पान के पत्ते एंटी डायबिटीक गुणों से भरपूर है। साथ ही ये हाई कोलेस्ट्रॉल के स्तर को भी कम करने में मदद करता है। पान के पत्ते एंटी बैक्टीरियल से भी भरपूर है जो कि इंफेक्शन को रोकने में मदद करता है। पान के पत्ते माउथ फ्रेशनर की तरह काम करते हैं और मुंह को साफ रखते हैं। जिन लोगों को मूड स्विंग्स होते हैं उनके लिए भी ये काफी फायदेमंद है। ये डिप्रेशन को कम करने में मदद करते हैं। 

8. धनिया (Dhania leaves benefits)

धनिया ब्लड शुगर को कम करने में मदद करता है। ये कुछ ऐसे एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर है जो कि इम्यूनिटी बढ़ाता है। साथ ही धनिया के पत्ते कोलेस्ट्रॉल को भी कम करने में मददगार है। ये दिल की सेहत बनाता है। इसके अलावा ये वेट लॉस करने वाले के लिए भी मददगार है क्योंकि ये बॉवेल मूवमेंट तेज करता है और फैट पचाने में मददगार है। 

इसे भी पढ़ें : आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए इन आयुर्वेदिक तरीकों से करें गेंदे के फूल का इस्तेमाल

9. जिन्कगो (Gingko leaves benefits)

जिन्कगो लीफ एक्सट्रेक्ट का उपयोग अस्थमा, ब्रोंकाइटिस, थकान और टिनिटस जैसी विभिन्न स्थितियों के इलाज के लिए किया जाता है। इसका उपयोग स्मृति में सुधार और मेमोरी लॉस जैसे अन्य मस्तिष्क विकारों को रोकने के लिए भी किया जाता है। पर ध्यान रहे कि इसके ज्यादा इस्तेमाल से बचें नहीं तो ये नुकसानदायक हो सकता है।

inside1saufleaves 

10. सौंफ का पत्ता (Fennel leaves benefits)

सौंफ के पत्ते पित्त को शांत करता है। ये भूख बढ़ाता है और भोजन को पचाता है। साथ ही ये मूड भी फ्रेश करता है। ये हृदय, मस्तिष्क तथा शरीर के लिए कई प्रकार से लाभकारी होता है। गठिया आदि वात रोगों को कम करता है और अपच और कब्ज की समस्या में भी फायदेमंद है। 

इस तरह आप इन दस पत्तियों को खाली पेट चबा कर इन तमाम लाभों का पा सकते हैं। साथ ही आप इन पत्तियों को अपनी चाय और काढ़े में शामिल कर सकते हैं। इसके अलावा खाना बनाने के दौरान भी आप इनमें से कुछ पत्तियों का इस्तेमाल कर सकते हैं।

all image credit: freepik

Read more articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer