मेंहदी की पत्तियां आ सकती हैं बड़े काम, जानें इन 5 समस्याओं में इस्तेमाल करने के तरीके

भारतीय घरों में त्योहार और शुभ कार्यों में हाथों और पैरों में मेहंदी लगाई जाती है। मेहंदी की तासीर ठंडी होती है, इसलिए इसे लगाया जाता है।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasPublished at: Aug 12, 2022Updated at: Aug 12, 2022
मेंहदी की पत्तियां आ सकती हैं बड़े काम, जानें इन 5 समस्याओं में इस्तेमाल करने के तरीके

तीज, त्योहार और शादी के फंक्शन में अक्सर भारतीय घरों की महिलाएं हाथों में मेहंदी रचाती हैं। ऐसा कहा जाता है कि मेहंदी की खुशबू से ही तीज-त्योहार और कोई कार्य कितना शुभ होगा इसका पता चल जाता है। मेहंदी हाथों में कितनी लाल रची ये प्यार का महत्व भी बताती है। लेकिन क्या आप जानते है कि मेहंदी सिर्फ लगाने ही नहीं बल्कि खाने के भी काम आती है। मेहंदी का सेवन करने से शरीर को कई बीमारियों से दूर रखा जा सकता है। हालांकि कई लोग आज भी मेहंदी को सिर्फ श्रृंगार का सामान ही मानते हैं। इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं मेहंदी के पोषक तत्व और इसको खाने के फायदे के बारे में। 

मेहंदी में कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं?

मेहंदी के पत्तों की तासीर ठंडी होती है। इसमें पर्याप्त मात्रा में पोटेशियम , कैल्शियम , आयरन , मैग्नीशियम , मेगनीज और फास्फोरस पाया जाता है। विटामिन सी पाए जाने के कारण इसका सेवन करने से हिमोग्लोबीन बढ़ाने और शरीर में खून की कमी को दूर किया जा सकता है। 

health benefits of henna for girls

किडनी स्टोन की समस्या से दिलाता है राहत

बदलती लाइफस्टाइल और गलत खानपान की वजह से आजकल कई लोगों को किडनी स्टोन की समस्या देखने को मिलती है। ऐसे में मेहंदी का सेवन करना किडनी स्टोन से राहत दिलाने में मददगार साबित होता है। मेहंदी के पत्तों में मैलिक एसिड पाया जाता है, जो किडनी में स्टोन नहीं बनने देता है। किडनी स्टोन की समस्या से राहत पाने के लिए 15 से 20 ग्राम मेहंदी के पत्तों को पीसकर इसको आधा लीटर पानी में मिला लें। इस पानी को उबालें और ठंडा होने पर छानकर इसका सेवन करें। सप्ताह में 1 बार इस तरह मेहंदी के पत्तों का सेवन करने से किडनी स्टोन की समस्या नहीं होती है।

इसे भी पढ़ेंः वजन घटाने से खूबसूरती बढ़ाने तक, संजीव कपूर से जानें गुलाब का फूल खाने के फायदे

बुखार को करता है कम

मेहंदी के पारंपरिक औषधि के तौर पर भी काम करती है। मेहंदी में कुछ ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो शरीर में एंटीपायरेटिक प्रॉपर्टीज में काम करते हैं। बुखार और शरीर का ताप बढ़ने की समस्या में पैरों और हाथों पर मेहंदी के ताजे पत्ते पट्टी की पट्टी बांधने की सलाह दी जाती है। एक रिसर्च के मुताबिक, मेहंदी की तासीर ठंडी होती है, जो बुखार होने पर शरीर के तापमान को कम करने में मददगार साबित होती है।

health benefits of henna for girls

घाव ठीक करने में मददगार

मेहंदी में पर्याप्त मात्रा में एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं। अगर घाव या शरीर में किसी तरह का फंगल इंफेक्शन हो गया है, तो इस पर मेहंदी के पत्तों को पीसकर लगाने की सलाह दी जाती है। घाव या किसी भी फंगल इंफेक्शन पर मेहंदी लगाते वक्त ध्यान दें कि आपको पत्ते ही पीसकर लगाने हैं, बाजार में मिलने वाला पाउडर नहीं। 

पेट की बीमारियों से दिलाता है राहत

मेहंदी के कुछ ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो पेट से संबंधित बीमारियों को ठीक करने में मददगार साबित होते हैं। पाचन तंत्र को मजबूत करने के लिए मेहंदी के पत्तों को पीसकर हल्के गुनगुने पानी के साथ पीने की सलाह दी जाती है। 

इसे भी पढ़ेंः सुष्मिता सेन 46 की उम्र में भी दिखती हैं जवां, जानिए क्या है उनकी खूबसूरती का राज

डेड सेल्स को करता है खत्म

डेड सेल्स संबंधी समस्या होने पर भी मेहंदी का पानी पीने की सलाह दी जाती है। मेहंदी में पर्याप्त मात्रा में टैनिन और हेनोटैनिक एसिड पाया जाता है, ये दोनों ही तत्व त्वचा पर जमी मृत कोशिकाओं को खत्म कर देता है। समस्याओं से बचने के लिए मेहंदी के पेड़ की छाल का काढ़ा बनाकर सेवन करें। 

 

 

 

Disclaimer