आलू के दूध (Potato Milk ) से सेहत को मिलते हैं ये 9 फायदे, न्यूट्रीशनिस्ट से जानें इसकी रेसिपी

आलू दूध जिसे अग्रेजी में पोटैटो मिल्क कहा जाता है। इस दूध को पीने से खून की कमी से लेकर पेट की समस्या भी दूर रहती हैं। 

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiUpdated at: Aug 02, 2021 15:29 IST
आलू के दूध (Potato Milk ) से सेहत को मिलते हैं ये 9 फायदे, न्यूट्रीशनिस्ट से जानें इसकी रेसिपी

बदलते समय के साथ खानपान के तरीके भी बदलते हैं। उसी कड़ी में शामिल है पोटैटो मिल्क यानी आलू का दूध। सुनकर आपको थोड़ा अटपटा लग रहा होगा, लेकिन यह आलू का दूध सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। जैसे ओट मिल्क, सोया मिल्क, बादाम का दूध, नारियल का दूध और काजू का दूध होता है ठीक वैसे ही आलू का दूध होता है। यह भी एक नॉन डेयरी प्रोडक्ट है। आलू का दूध केवल स्वास्थ्य के लिए ही लाभदायक नहीं है, बल्कि पर्यावरण हितैषी भी है। 

inside5_Potatomilk

पोटैटो मिल्क में विटामिन सी, पोटैशियम, मैंग्नेशियम, फोसफोरस और फोलेट होता है। डेयरी मिल्क में कैल्शियम की अधिकता होती है। आलू के दूध में भी कैल्शियम की अधिकता होती है। जिस कारण यह हड्डियों के लिए भी लाभदायक साबित होता है। आलू के दूध (Potato Milk Benefits) से सेहत को और कौन से फायदे मिलते हैं, इसके बारे में हमें बताया नमामी लाइफ में न्यूट्रीशनिस्ट शैली तोमर ने। साथ ही जानेंगे कि इस दूध को बनाना कैसे है?

आलू के दूध के फायदे (Potato Milk Benefits)

न्यूट्रीशनिस्ट शैली तोमर ने पोटैटो मिल्क पीने के निम्न फायदे बताए-

1. हड्डियों को मजबूती

आजकल हड्डियों की कमजोरी एक आम समस्या बन गई है। इस परेशानी से छोटे और बड़े दोनों ही परेशान हैं। हड्डियों की परेशानी आपको न हो उसके लिए जरूरी है कि आप पोटैटो मिल्क का सेवन करें। आलू के दूध में कैल्शिमय की अधिकता होती है जिस वजह से यह हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है। इसे पीने से बच्चों की सेहत भी ठीक रहती है। 

2. कोलेस्ट्रोल फ्री

आलू का दूध फैट फ्री होता है और कोलेस्ट्रोल फ्री। इस कारण यह हृदय के स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा होता है। नियमित रूप में इसका सेवन करना शरीर को अन्य लाभ भी देता है। 

3. ग्लूटन फ्री

आलू का दूध ग्लूटन फ्री होता है, इस वजह से वे लोग जिन्हें ग्लूटन एलर्जी है, उनके लिए भी यह दूध लाभदायक हो साबित होता है। यह ग्लूटन फ्री होने के साथ-साथ सोया फ्री भी होता है। यह एक विगन फ्रेंडली दूध है। यह दूध सोया से एलर्जी वालों के लिए भी लाभदायक है। यह एक अच्छी ग्लूटन फ्री डाइट है।

inside2_Potatomilk

इसे भी पढ़ें : बच्चों को आलू खिलाने से सेहत को मिलते हैं कई फायदे, न्यूट्रीशनिस्ट से जानें किस उम्र से खिला सकते हैं आलू

4. पर्यावरण फ्रैंडली है आलू का दूध

आलू का दूध पर्यावरण के लिए भी बहुत फायदेमंद है। क्योंकि आलू की खेती को कम पानी, कम जमीन चाहिए होती है। साथ ही ओट मिल्क या बादाम दूध के मुकाबले में यह कार्बनडाईऑक्साइड भी कम प्रोड्यूस करता है। इसे कम लागत में उगाया जा सकता है। अव्वल तो हम अपनी सुख सुविधाओँ के लिए पर्यावरण को बहुत नुकसान पहुंचा चुके हैं। लेकिन पोटैटो मिल्क एक ऐसा विकल्प है जिससे पर्यावरण की भी रक्षा कर सकते हैं। 

5. पेट का स्वास्थ्य 

आलू दूध में फाइबर होता है, जो गट हेल्थ यानी आंतों के स्वास्थ्य को ठीक रखता है। यह प्रिबायोटिक की तरह काम करता है। यह गट में इरिटेशन को शांत करता है। आलू के दूध को पीने से इरिटेबल बाउल सिंड्रोम की बीमारी भी दूर रहती है। साथ ही यह दूध पाचन तंत्र को भी ठीक रहता है जिस वजह से यह पाचन संबंधी परेशानियां नहीं होतीं। 

6. इम्युनिटी बूस्टर

कोरोना आने के बाद सभी को मजबूत इम्युन सिस्टम का मतलब समझ आ गया है। कमजोर इम्युनिटी सिस्टम आपको बीमारियों का घर बना सकता है। इसलिए इम्युनिटी को स्ट्रांग करना जरूरी है। पोटैटो मिल्क इम्युनिटी को बढ़ाने का कभी काम करता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स जैसे फ्लेवनॉइड्स और कैरोटेनॉइड्स पाए जाते हैं जो इम्युनिटी को बढ़ाने में मदद करते हैं। यही एंटीऑक्सीडेंट्स कैंसर से भी बचाते हैं। 

inside1_Potatomilk

7. ऊर्जा का अच्छा स्रोत

आलू में स्टार्च पाया जाता है जो ब्लड शुगर लेवल को भी कम करता है। साथ ही हम यह जानते हैं कि आलू ऊर्जा का अच्छा स्रोत होता है, इसे एक बार खाने से आप दिन भर ऊर्जावान रहते हैं। बार-बार भूख की आदत को भी यह कम करते हैं। जिससे वजन नियंत्रण में भी सहायता मिलती है। पोटैटे मिल्क में पोटैशियम की अधिकता होती है जो ब्लड प्रेशर को रेग्यूलेट करती है। इसमें विटामिन बी6 भी पाया जाता है जो कार्बोहाइड्रेट्स में से एनर्जी को निकालता है। 

8. ब्लड प्रेशर नियंत्रण

आलू दूध में सोडियम की मात्रा कम होती है, जिस वजह से यह हाई ब्लड प्रेशर वालों के लिए एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है। पोटैटे मिल्क ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में भी मदद करता है। बीपी की समस्या आज के दिनों में एक आम समस्या बनकर उभरा है। ऐसे में इसे हेल्दी फूड हैबिट्से सुधारा जा सकता है।  

इसे भी पढ़ें : इन 5 हेल्‍दी चीजों को दूध में मिलाकर पीने से मिलती है दोगुनी ताकत, 7 दिन में दूर होती है कमजोरी

9. खून की कमी करे दूर

पोटैटो मिल्क में आयरन की अधिकता होती जिस कारण इसका सेवन करने से खून की कमी दूर होती है। बच्चों को दूध जल्दी पसंद नहीं आता, ऐसे में आलू के साथ दूध को देना एक अच्छा विकल्प ह सकता है। इससे बच्चों को न्यूट्रीशन भी मिलेगा और सेहत भी। इस दूध को पीने से बच्चों में एनिमिया की शिकायत भी दूर होगी। 

inside3_Potatomilk

कैसे तैयार करें पोटैटै मिल्क?

बाजार से आपको पाउडर फॉर्म में पोटैटो मिल्क मिल जाएगा। आपको इसे पानी में डालना है। और पोटैटो मिल्क तैयार हो जाएगा। अगर आप घर पर आलू का दूध बनाना चाहते हैं तो उसके लिए आपको पहले आलू को उबालना है। उसमें आप स्वाद के लिए बादाम, वनिला एक्ट्रैक्ट और मीठे के लिए शहद या गुड़ मिला सकते हैं। इसमें दूध मिलाएं। इसे सूती कपड़े से छान लें। अब आपका पोटैटो मिल्क बनकर तैयार है। 

आलू दूध का ऐसे करें इस्तेमाल

पोटैटो मिल्क को आप कॉफी, चाय या स्मूदी के साथ भी प्रयोग में ला सकते हैं। साथ ही इसे दलिया में भी डाला जा सकता है। पोटैटो मिल्क में प्रोटीन कम होता है, तो इस कमी को पूरा करने के लिए इसमें आप बादाम का दूध भी मिला सकते हैं। इससे प्रोटीन की कमी पूरी हो जाएगी। 

आलू दूध जिसे अग्रेजी में पोटैटो मिल्क कहा जाता है। इस दूध को पीने से खून की कमी से लेकर पेट की समस्या भी दूर रहती हैं। आलू और दूध में जितने गुण होते हैं उतने सभी हमारे शरीर को मिलते हैं। रोजाना इसका सेवन करने से शरीर स्वस्थ रहता है। साथ ही बलवान भी रहता है। इसलिए अपनी डाइट में पोटैटो मिल्क को शामिल करना कोई बुरा विकल्प नहीं है।

Read More Articles on healthy diet in hindi

Disclaimer