इन 5 हेल्‍दी चीजों को दूध में मिलाकर पीने से मिलती है दोगुनी ताकत, 7 दिन में दूर होती है कमजोरी

न केवल दूध बल्कि इससे बनी दूसरी चीजें भी बहुत सेहतमंद होती हैं। लेकिन अगर दूध इतना फायदेमंद है तो इसमें दूसरी पौष्टिक चीजों को मिलायेंगे तो इसकी पौष्टिकता बढ़ना लाजमी है।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Sep 10, 2018

दूध को बनायें अधिक पौष्टिक

दूध को बनायें अधिक पौष्टिक
1/6

दूध को सेहतमंद माना जाता है, क्‍योंकि न केवल ये हमारा पहला आहार होता है बल्कि इसमें मौजूद कैल्शियम हमारी हड्डियों और दांतों को मजबूत बनाता है। बचपन हो या जवानी हमें स्‍वस्‍थ रहने और बीमारियों से बचने के लिए हमेशा नियमित रूप से दूध पीने की सलाह दी जाती है। न केवल दूध बल्कि इससे बनी दूसरी चीजें भी बहुत सेहतमंद होती हैं। लेकिन अगर दूध इतना फायदेमंद है तो इसमें दूसरी पौष्टिक चीजों को मिलायेंगे तो इसकी पौष्टिकता बढ़ना लाजमी है। इस स्‍लाइडशो में हम आपको दूध के साथ, बादाम, केला, शहद, हल्‍दी मिलाकर सेवन करने के फायदों के बारे में बता रहे हैं।

केला और दूध

केला और दूध
2/6

दूध और केले का सेवन करने की सलाह वजन बढ़ाने वाले सभी व्‍यक्ति को दी जाती है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं केला और दूध पीने के कई दूसरे फायदे भी हैं। यह मांसवर्धक है और बीमारी के बाद की कमजोरी व थकान को दूर कर शरीर को एनर्जी देता है। इसके अलावा यह हड्डियों व मांसपेशियों को मजबूत भी बनाता है। रोज केले और दूध का शेक बनाकर इसका सेवन कर सकते हैं। कब्ज, अधिक कॉलेस्ट्रॉल और कफ की समस्या वाले लोग इसका सेवन न करें।

बहुत फायदेमंद है हल्दी-दूध

बहुत फायदेमंद है हल्दी-दूध
3/6

हल्‍दी को महाऔषधि कहा जाता है, इसमें अगर दूध मिल जाये तो यह न केवल पौष्टिक हो जाता है बल्कि सामान्‍य और खतरनाक बीमारियों का भी खात्‍मा कर सकता है। हल्दी में विटामिन-ए, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट के साथ-साथ एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-सेप्टिक गुण होते हैं। यह प्राकृतिक पेन किलर भी है। 250 मिली दूध में एक चौथाई चम्मच हल्दी और चीनी डालकर उबालें, इसका सेवन दिन में एक बार करें। इससे पुराने जुकाम, कफ के साथ खांसी, गले में एलर्जी, चोट में दर्द या सूजन, खुजली, दिल की समस्‍यायें, फेफड़े की बीमारियां, त्वचा की समस्‍यायें, यूरिन और लिवर संबंधी समस्‍यायें आदि दूर होती हैं। इसका सेवन डायबिटीज के रोगी भी बिना शुगर के कर सकते हैं।

दूध और मुनक्का

दूध और मुनक्का
4/6

मुनक्‍का और दूध का सेवन करने से शरीर को ग्लूकोज और विटामिन्स मिलते हैं। 250 मिली दूध में दस मुनक्कों (बीज निकाल लें) को उबालें। महीने में 10-15 दिन केवल रात के समय इसका सेवन करें। इससे खूनी बवासीर, गले व यूरीन में जलन, आंखों में जलन व रेडनेस, दिमाग की कमजोरी, बुखार व कब्ज में लाभदायक है। इसके साथ शरीर में दर्द, स्नायुतंत्र में गड़बड़ी, पैरों में ऐंठन और नकसीर जैसी समस्याओं में यह लाभकारी है। मधुमेह और दमा के मरीज और कफ के साथ खांसी होने पर इसका सेवन न करें।

गुणकारी है बादाम दूध

गुणकारी है बादाम दूध
5/6

बादाम और दूध बहुत पौष्टिक माना जाता है, इन दोनों ही कैल्शियम और विटामिन्स होता है, जिससे प्रोटीन, फाइबर व मिनरल्स की पूर्ति होती है। 250 मिली दूध में 6 बारीक पिसे बादाम व चीनी के साथ इलायची को उबालकर रोज पी सकते हैं। इससे बुखार व पीलिया के बाद की कमजोरी दूर होगी और मांसपेशियां भी मजबूत होंगी। इसके साथ यह याद्दाश्‍त में सुधार के साथ आंतों, आंखों, पेट व गले में जलन और सूखी खांसी में भी फायदेमंद है। दस्त, भूख न लगने पर इसे न लें।

शहद के साथ दूध

शहद के साथ दूध
6/6

शहद में लगभग सभी गुण होते हैं, दूध में इसे मिलाने से इसका फायदा अधिक मिलता है। दूध और शहद दोनों में विटामिन ए, बी व डी और कैल्शियम होता है, जो कि एंटी-एलर्जिक, एंटीफंगल, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुणों से भरपूर होता है। 250 मिली दूध में दो चम्मच शहद मिलाकर रोज एक बार पियें। इससे खून साफ होता है, प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है, लीवर संबंधी समस्‍यायें दूर होती हैं और तनाव भी दूर होता है। मधुमेह रोगी जिनको नकसीर की समस्‍या वे इसका सेवन न करें।

Disclaimer