स्पॉन्डिलाइटिस के मरीजों की तकलीफ बढ़ाती हैं ये 5 आदतें, डॉक्टर से जानें इनसे बचाव के उपाय

अगर आपको स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस है तो कुछ आदतों से आपकी तकलीफ बढ़ सकती है, चल‍िए जानते हैं उन आदतों के बारे में और उनसे बचने के उपाय 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Aug 19, 2021Updated at: Aug 19, 2021
स्पॉन्डिलाइटिस के मरीजों की तकलीफ बढ़ाती हैं ये 5 आदतें, डॉक्टर से जानें इनसे बचाव के उपाय

आज के समय में कई बीमार‍ियां हमारे शरीर में घर बनाकर बस जाती हैं ज‍िनमें से एक है स्‍पॉन्ड‍िलाइट‍िस। स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस क्‍या होता है? रीढ़ की हड्डी में सूजन की श‍िकायत को स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस कहा जाता है। ज‍िन लोगों को स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस होता है उनकी गर्दन और आसपास के ह‍िस्‍से में अक्‍सर दर्द रहता है। कैल्‍श‍ियम की कमी, उम्र बढ़ने के कारण ये बीमारी हो सकती है वहीं कुछ बुरी आदतों के कारण भी स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस की समस्‍या बढ़ सकती है। इस लेख में हम स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस का दर्द बढ़ाने वाली ऐसी 5 आदतें और दर्द से बचने के उपायों पर चर्चा करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।

spondylitis pain

(image source:cloudfront)

1. ज्‍यादा समय के लि‍ए आराम करना (Rest for long hours)

अगर आप एक्‍ट‍िव नहीं है और पूरे द‍िन सुस्‍त रहते हैं तो स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस में आपकी तकलीफ बढ़ सकती है। जो लोग स्‍पॉन्‍ड‍िलाइटिस में एक्‍ट‍िव नहीं रहते और अपना ज्‍यादातर समय बेड पर गुजारते हैं उनके शरीर में दर्द बढ़ सकता है क्‍योंक‍ि मूवमेंट न करने से मांसपेश‍ियां स्‍टिफ हो जाती हैं। आपके ल‍िए आलस्‍य भी दर्द बढ़ाने का काम करेगा इसल‍िए इससे बचें। अपनी जीवनशैली पर ध्‍यान दें। ज‍िन लोगों को स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस होता है उन्‍हें लंबे समय तक ड्रायव‍िंग करने से भी बचना चाहि‍ए। इसके अलावा भी कुछ कारण है ज‍िसके कारण स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस का दर्द बढ़ सकता जैसे अन‍ियम‍ित पीर‍ियड्स की समस्‍या। अगर मह‍िलाओं में पीर‍ियड्स न‍ियम‍ित नहीं है तो स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस का दर्द बढ़ सकता है। कुछ लोग गलत तरीके से चलते या खड़े होते हैं उससे भी स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस के दौरान तकलीफ बढ़ सकती है।

इसे भी पढ़ें- सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस के दर्द में इन 6 एक्यूप्रेशर प्वाइंट्स को दबाने से मिलेगा तुरंत आराम, जानें तरीका

2. डाइट‍िंग करना (Dieting)

अगर आप डाइट‍िंग करते हैं तो स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस के दौरान आपकी तकलीफ बढ़ सकती है। आपको डाइट‍िंग करके भूखा नहीं रहना चाह‍िए। आपकी बॉडी को बीमारी से लड़ने के ल‍िए न्‍यूट्र‍िशन्‍स की जरूरत होती है अगर आप डाइट करेंगे तो आपके शरीर को जरूरी पोषक तत्‍व नहीं म‍िलेंगे। आपको हेल्‍दी खाना चाहि‍ए ज‍िसमें आप अपने खाने की क्‍वॉन्‍ट‍िटी कम कर सकते हैं पर मील्‍स की संख्‍या बढ़ा दें, जैसे आप द‍िन में तीन बार खाने के बजाय 5 मील्‍स में दि‍न को डिवाइड करें। इसके साथ ही अपनी डाइट में होल ग्रेन एड करें। आपको चाय और कैफीन की मात्रा भी कम कर देनी चाह‍िए। ज्‍यादा कैफीन का सेवन करने से भी तकलीफ बढ़ सकती है। उम्र बढ़ने के साथ स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस की समस्‍या बढ़ती जाती है इसल‍िए आपको मसालेदार खाना, डाइट‍िंग आद‍ि आदतों का त्‍याग करना चाह‍िए। 

3. प्रोसेस्‍ड फूड का सेवन (Eating processed food)

spondylitis pain

अगर आप ज्‍यादा तला-भुना खाते हैं तो आपका वजन बढ़ सकता है ज‍िसका सीधा असर स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस पर पड़ेगा। फास्‍ट फूड में बैड फैट की मात्रा ज्‍यादा होती है जो आपके शरीर के ल‍िए हर तरह से नुकसानदायक है इसल‍िए बाहर की चीजों का सेवन अवॉइड करना चाह‍िए। जो लोग रोजाना बाहर खाना खाते हैं या हफ्ते में दो बार से ज्‍यादा बाहर खाते हैं उनके वजन बढ़ने का र‍िस्‍क चार गुना बढ़ सकता है। आपको अपनी डाइट को ट्रैक करना चाह‍िए, इससे आप समझ पाएंगे क‍ि डाइट में क‍िन बदलावों को करने की जरूरत है, स्‍पॉन्‍डलाइट‍िस के दौरान आपको हेल्‍दी डाइट लेनी चाह‍िए, डाइट में फल, सब्‍ज‍ियां, व‍िटाम‍िन डी, और सारे जरूरी तत्‍वों को शाम‍िल करें। हेल्‍दी डाइट लेने के फायदे ये होंगे क‍ि आपका दर्द बढ़ेगा नहीं और वजन भी कंट्रोल रहेगा।

4. एल्‍कोहॉल का सेवन करना (Consuming alcohol)

(image source:dnaindia)

एक शोध के मुताबि‍क ज‍िन लोगों को स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस होती है उनके शरीर को शराब नुकसान पहुंचाती है वहीं शरीर पीने से हड्ड‍ियों से जुड़े रोग होने का खतरा बढ़ जाता है। एल्‍कोहॉल का सेवन करने से हड्ड‍ियां कमजोर होने लगती हैं, अर आप हर द‍िन शराब पीते हैं तो आपको ज्‍यादा द‍िक्‍क्‍त हो सकती है। एल्‍कोहॉल का असर दवाओं पर भी पड़ता है अगर स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस के दौरान आप कोई दवा ले रहे हैं और शराब का सेवन भी करते हैं तो शरीर को इससे ज्‍यादा नुकसान हो सकता है। एल्‍कोहॉल के अलावा आप क‍िन दवाओं का सेवन कर रहे हैं इस पर भी ध्‍यान दें, कुछ दवाओं के सेवन से पोटैश‍ियल और फोल‍िक एसिड की मात्रा कम हो जाती है और उससे स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस की समस्‍या बढ़ सकती है। 

इसे भी पढ़ें- कंधों का असहनीय दर्द हो सकता है Spondylitis का संकेत, एक्सपर्ट से जानें स्पॉन्डिलाइटिस के 8 प्रकार और लक्षण

5. वजन न‍ियंत्र‍ित न करना (Not maintaining healthy weight)

weight managment

(image source:prodia)

अगर आपको स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस है आपका वजन ज्‍यादा है तो आपकी परेशानी बढ़ सकती है। आपकी हड्ड‍ियों पर ज्‍यादा भार पड़ेगा और स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस की तकलीफ बढ़ सकती है इसल‍िए आपको हेल्‍दी वेट मेनटेन करना चाह‍िए। वजन कंट्रोल करने से स्‍पॉन्‍ड‍िलाइटिस के दौरान होने वाली तकलीफ को कम क‍िया जा सकता है। वजन कम करने के लि‍ए आपको डॉक्‍टर और डायटीश‍ियन से म‍िलकर अपनी डाइट तय करनी चाहिए। वजन कम करने के उपाय ढूंढ रहे हैं तो इन ट‍िप्‍स को फॉलो कर सकते हैं- 

  • अपनी डाइट से चीनी को हटाएं, मीठी चीजों का सेवन बंद करें और चाय या कॉफी में भी चीनी का इस्‍तेमाल न करें। 
  • सुबह गुनगुने पानी में नींबू का रस और नैचुरल शहद डालकर प‍िएं इससे मेटाबॉल‍िज्‍म मजबूत होगा और आप वजन घटा पाएंगे। 
  • रोजाना कम से कम 40 म‍िनट चलने की आदत डालें, आप वॉक के जर‍िए भी वजन घटा सकते हैं। 

स्‍पॉन्‍डलाइट‍िस के दौरान दर्द से कैसे बचें? (How to prevent spondylitis pain)

vitamin d rich food

(image source:sunvitd3.co.uk)

  • आपको स्‍पॉन्‍डलाइट‍िस के दर्द से बचने के ल‍िए कैल्‍श‍ियम युक्‍त चीजों का सेवन करना चाह‍िए, ऐसी चीजों को खाएं ज‍िसमें व‍िटाम‍िन डी मौजूद हो। 
  • आपको एक द‍िन में एक हजार से बारह सौ म‍िलीग्राम के बराबर कैल्‍श‍ियम कन्‍ज्‍यूम करना चाह‍िए। कैल्‍श‍ियम र‍िच फूड्स में ब्रोकली, जूस, आद‍ि शाम‍िल है।
  • आपको धूप से व‍िटामिन डी म‍िल सकता है, रोजाना छत पर सुबह-सुबह वॉक करें। 
  • पैदल चलने की आदत डालें, पैदल चलने से बोन मास बढ़ता है और आपका शरीर एक्‍ट‍िव महसूस करेगा।
  • आपको सोते समय आरामदायक गद्दा चुनना चाह‍िए ज‍िससे शरीर में दर्द न हो। 
  • ज‍िन लोगों को स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस होता है उन्‍हें डॉक्‍टर तक‍िया न लगाने की सलाह देते हैं, तक‍िया लगाने से आपका दर्द बढ़ सकता है।

स्‍पॉन्‍ड‍िलाइट‍िस के दौरान ज्‍यादा दर्द होने पर डॉक्‍टर से संपर्क करें, डॉक्‍टर आपको सही दवा और इलाज का तरीका बता सकते हैं।

(main image source:thearthritisconnection)

Read more on Miscellaneous in Hindi 

Disclaimer