पूरे शरीर में होता है दर्द? जानें इसके 6 कारण और इलाज

Full Body Pain in Hindi: कई लोगों को पूरे शरीर में दर्द महसूस होता है। यह दर्द कभी-कभी असहनीय भी हो सकती है। जानें शरीर में दर्द के कारण-

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jun 13, 2022Updated at: Jun 13, 2022
पूरे शरीर में होता है दर्द? जानें इसके 6 कारण और इलाज

Full Body Pain Reason in Hindi: पूरे शरीर में दर्द क्यों होता है? कई लोग पैरों, हाथों, कमर, कंधों या फिर गर्दन में दर्द की शिकायत करते हैं। लेकिन कुछ लोग कभी-कभार पूरे शरीर में होने वाले दर्द से भी परेशान रहते हैं। इस दौरान उन्हें शरीर के सभी हिस्सों में हल्का या तेज दर्द महसूस होता है। कई बार पूरे शरीर में दर्द होने के कारण आम होते हैं, तो कई बार गंभीर भी हो सकते हैं। तो चलिए आज के इस लेख में फैमिली फिजिशियंस ऑफ इंडिया, ग्रेटर नोएडा के अध्यक्ष डॉक्टर रमन कुमार से जानेंगे शरीर में दर्द होने के आम कारण कौन-कौन (Whole Body Pain Reason) से हो सकते हैं।

पूरे शरीर में दर्द के कारण (Full Body Pain Reason in Hindi)

कई लोगों को अकसर ही पूरे शरीर में दर्द रहता है। यह दर्द तनाव, स्ट्रेस, अनिद्रा आदि की वजह से हो सकता है। कई बार पूरे शरीर में दर्द होने के कई गंभीर कारण भी हो सकते हैं। जानें पूरे शरीर में दर्द के कारण (Poore Sharir Mein Dard Hone ka Karan)-

1. तनाव या स्ट्रेस

तनाव महसूस होने पर शरीर में तेज दर्द महसूस हो सकता है। स्ट्रेस में रहने से शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो जाती है। इससे मांसपेशियां कठोर हो सकती है। साथ ही सूजन और संक्रमण से भी शरीर प्रभावित हो सकता है। लंबे समय तक तनाव में रहने से शरीर की मांसपेशियों में दर्द हो सकता है।

full body pain

2. डिहाइड्रेशन

डिहाइड्रेशन यानी शरीर मं पानी की कमी होना। किसी व्यक्ति के शरीर को अच्छी तरह से काम करने के लिए हाइड्रेटेड रहना बहुत जरूरी होता है। जब व्यक्ति डिहाइड्रेट होता है, तो थका हुआ महसूस करता है। इसकी वजह से पूरे शरीर में दर्द महसूस हो सकता है।

इसे भी पढ़ें - शरीर में दर्द होने पर आजमाएं ये 5 आयुर्वेदिक उपाय, दर्द से मिलेगी राहत

3. नींद की कमी

स्वस्थ रहने के लिए नींद पूरी होना बहुत जरूरी है। जब नींद की कमी होती है, तो पूरे शरीर में दर्द का अहसास हो सकता है। अनिद्रा से परेशान लोगों को अकसर दर्द का अनुभव करना पड़ता है। नींद न खाने से शरीर में थकान होने लगती है, इससे सुस्ती और भारीपन महसूस हो सकता है। साथ ही शरीर मं दर्द भी होने लगता है। दरअसल, नींद की कमी से शरीर के ऊतक और कोशिकाएं प्रभावित होती हैं। इससे व्यक्ति को पूरे शरीर में तेज दर्द हो सकता है। इसलिए आपको दिन में 7-8 घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए।

4. क्रोनिक फटीग सिंड्रोम 

जो व्यक्ति पूरी नींद नहीं लेता है, उसे थकावट, कमजोरी महसूस हो सकती है। साथ ही मांसपेशियों में दर्द हो सकता है। इस स्थिति को क्रोनिक फटीग सिंड्रोम कहा जाता है।

5. आर्थराइटिस

आर्थराइटिस तब होता है, जब किसी व्यक्ति के जोड़ों में सूजन आ जाती है। आर्थराइटिस यानी गठिया में व्यक्ति को पूरे शरीर में तेज दर्द महसूस हो सकता है। पूरे शरीर में दर्द होना गठिया का आम लक्षण हो सकता है। 

full body pain causes

6. ऑटोइम्यून डिसऑर्डर

ऑटोइम्यून डिसऑर्डर भी शरीर में दर्द का कारण बन सकते हैं। ल्यूपस, मायोसिटिस और स्कलेरोसिस ऐसे ऑटोइम्यून विकार हैं, जिनकी वजह से शरीर की मांसपेशियों में दर्द महसूस हो सकता है। इस स्थिति में शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली स्वस्थ ऊतकों पर हमला करना शुरू कर देती हैं। इससे शरीर में सूजन और दर्द होने लगता है। 

इसे भी पढ़ें - एड़ी में रहती है दर्द और जलन की समस्या? जानें इसके कारण और घरेलू उपाय

पूरे शरीर में दर्द का इलाज- Full Body Pain Treatment in Hindi

शरीर के दर्द को कम करने के लिए डॉक्टर पेन किलर लिख सकते हैं। या फिर दर्द के कारण का पता लगाकर इलाज शुरू कर सकते हैं। आप घर पर इन तरीकों से पूरे शरीर के दर्द को कम कर सकते हैं- 

  • पूरे शरीर में दर्द होने पर गुनगुने पानी से नहाएं। इससे मांसपेशियों और शरीर का तनाव कम होने में मदद मिलेगी। साथ ही मांसपेशियों को आराम भी मिलेगा।
  • शरीर के दर्द को कम करने के लिए खुद को हाइड्रेट रखना जरूरी होता है। हाइड्रेट रहकर थकान, सुस्ती और दर्द को कम करने में मदद मिल सकती है।
  • शरीर में दर्द होने पर रेस्ट करना बहुत जरूरी होता है। इससे शरीर की मांसपेशियों की मरम्मत होती है। आपका दर्द कम हो सकता है।
  • शरीर के दर्द को कम करने के लिए बॉडी टैंप्रेचर को भी कंट्रोल में रखना जरूरी है। शरीर का तापमान बहुत कम नहीं होना चाहिए। इससे दर्द बढ़ सकता है।

अगर आपको भी अकसर शरीर में दर्द रहता है, तो डॉक्टर दर्द के कारणों का पता लगाकर आपका इलाज शुरू कर सकते हैं। पूरे शरीर में दर्द होने की स्थिति को बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें। 

Disclaimer