Expert

स्ट्रेस दूर करने के लिए करें ये 5 काम, जानें तनाव कैसे बनाता है आपको धीरे-धीरे बीमार

Effects of Stress on Health: तनाव आपके स्वास्थ्य को कई तरह से प्रभावित कर सकता है, जानें स्ट्रेस को कंट्रोल करने के लिए आसान टिप्स।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Apr 13, 2022Updated at: Apr 13, 2022
स्ट्रेस दूर करने के लिए करें ये 5 काम, जानें तनाव कैसे बनाता है आपको धीरे-धीरे बीमार

तनाव एक बेहद गंभीर समस्या है। वर्तमान समय में हम में से ज्यादातर लोग आए दिन तनाव की स्थिति का सामना करते हैं। तनाव हमारे शरीर और मस्तिष्क की उन अनुभवों के प्रति प्रक्रिया है, जिसका सामना हम अपने दैनिक जीवन में करते हैं। रोजमर्रा के सामान्य काम, जिम्मेदारियां, ऑफिस की घटनाएं, साथ ही परिवारिक समस्याओं जैसे कई अन्य कारणों के चलते हम अक्सर तनावग्रस्त हो जाते हैं। जिसका सीधा असर हमारे स्वास्थ्य पर पड़ता है (Effects of Stress on Health In Hindi)। तनाव सिर्फ हमारे शारीरिक स्वास्थ्य को ही नहीं, बल्कि हमारे मानसिक स्वास्थ्य को भी नुकसान पहुंचाता है। इसलिए तनाव का प्रबंधन करना बहुत जरूरी है। इस लेख में हम आयुर्वेदिक चिकित्सक डॉ. दीक्षा भावसार सवलिया (बीएएमएस, आयुर्वेद) से जानेंगे तनाव के स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभाव और तनाव को कंट्रोल करने के उपाय Effects Of Stress On Health In Hindi Tips To Control।

तनाव का सेहत पर क्या असर पड़ता है? (Stress Effect On Health in Hindi)

डॉ. दीक्षा भावसार के अनुसार तनाव आपके स्वास्थ्य को कई तरह से नुकसान पहुंचा सकता है। यह आपके पेट के स्वास्थ्य से लेकर मानसिक स्वास्थ्य तक सभी को प्रभावित करता है। यहां तक कि तनाव मानव स्वास्थ्य जुड़े लगभग सभी ज्ञात रोगों में एक भूमिका निभाता है जैसे: थायराइड, डायबिटीज, मोटापा, एंडोमेट्रियोसिस, सिस्ट, हार्मोनल असंतुलन, इंसुलिन रेजिस्टेंस, बांझपन, प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम (PMS), पीरियड्स के दौरान ऐंठन, पेट में छाले या अल्सरेटिव कोलाइटिस, इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम (IBS), अपच, अवसाद, एंग्जायटी  माइग्रेन इत्यादि।

इसे भी पढें: क्या अपनी जॉब से खुश नहीं हैं आप? जानें वर्क डिप्रेशन के लक्षण और बचाव के उपाय

तनाव को कंट्रोल करना क्यों जरूरी है (Why Stress Management Is Important In Hindi)

तनाव का प्रबंधन करने से पेट को स्वस्थ रखने और हार्मोन संबंधी समस्याओं में सुधार करने में मदद मिलती है। एसिड रिफ्लक्स या जीईआरडी (GERD), पेट में गैस, सिरदर्द, एंग्जायटी अटैक के जोखिम का कम होता है। ब्लड शुगर और ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है साथ ही कोलेस्ट्रॉल को संतुलित करने में मदद मिलती है। इसके अलावा शरीर का स्वस्थ वजन बनाए रखने में मदद मिलती है।

तनाव को प्रबंधन करने से आपको रूमेटाइड अर्थराइटिस, मल्टीपल स्केलेरोसिस, थायराइड, त्वचा संबंधी समस्याओं, सूजन आदि जैसे ऑटोइम्यून विकारों को उलटने, उनमें देरी करने के साथ ही प्रबंधन में मदद मिलती है।

स्ट्रेस कंट्रोल करने के लिए करें ये 5 काम (Tips To Control Stress In Hindi)

  1. काम से ब्रेक लें और प्रकृति में समय बिताएं। जो कुछ भी आप कर रहे हैं उससे ब्रेक लें और बाहर प्रकृति में थोड़ा समय बिताएं। हम सभी प्रकृति के पांच तत्वों (पृथ्वी, जल, अग्नि, वायु, आकाश) से बने हैं, इसलिए प्रकृति में बाहर जाना हमें अपनी आत्मा के करीब लाता है और हमें शांत महसूस कराता है।
  2. कुछ ऐसा करें जो आपको बहुत पसंद है। जब आप कुछ ऐसा करते हैं जो आपको पसंद है तो आपका ध्यान तनाव से खुशी की ओर जाता है। अपनी पसंद की चीजें करने से आप अच्छा महसूस करेंगे।
  3. अपने पसंदीदा लोगों के साथ कुछ समय बिताएं, उनसे मिलने जाएं या घर बुलाएं। यह तनाव को मैनेज करने का सबसे आसान तरीका  है।
  4. व्यायाम करने से तनाव को कम करने में मदद मिलती है। साथ ही मेडिटेशन और योग का अभ्यास करने से नकारात्मक विचारों से ध्यान हटाकर किसी सकारात्मक चीज की ओर करने में मदद मिलती हैं। साथ ही इससे शरीर में तनाव हार्मोन (कोर्टिसोल) का स्तर कम होता है और हैप्पी हार्मोन रिलीज होता है।
  5. घर की चीजों को ठीक करें जैसे अपनी अलमारी, बिस्तर, डेस्क, रसोई फोन गैलरी आदि। शारीरिक रूप चीजों को व्यवस्थित करने से आपको भावनात्मक रूप से व्यवस्थित करने में मदद मिलती है।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer