सर्दियों में बार-बार पड़ते हैं बीमार तो न करें ये 5 गलतियां

सर्द‍ियों के मौसम में जल्‍दी-जल्‍दी बीमार पड़ने का कारण आपकी 5 गलत‍ियां हो सकती हैं। जानें इनके बारे में।

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Dec 05, 2022 11:21 IST
सर्दियों में बार-बार पड़ते हैं बीमार तो न करें ये 5 गलतियां

सर्दि‍यों में जल्‍दी-जल्‍दी बीमार क्‍यों पड़ते हैं? सर्द‍ियों में बीमारी और संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ जाता है। वायरल के कीटाणु तेजी से फैलते हैं। वायरस के ऊपर आमतौर पर एक नमी की परत होती है। ठंड के द‍िनों में हवा में नमी की कमी के कारण ये परत खत्‍म हो जाती है। इससे वायरस का संक्रमण फैलाना आसान हो जाता है। आपके बीमार पड़ने के ल‍िए ये एक कारण काफी नहीं है। हमारी जीवनशैली से जुड़ी कई छोटी गलत‍ियों के कारण हमारी सेहत को बड़ा खाम‍ियाजा भुगतना पड़ता है। आप भी सर्द‍ि‍यों में जल्‍दी-जल्‍दी बीमार पड़ जाते हैं, तो जानें 5 गलति‍यों के बारे में।  

cold weather problems

1. सर्द‍ियों में सफाई न रखना  

हम ठंड के द‍िनों में लापरवाह हो जाते हैं। साफ-सफाई पर गौर नहीं करते। रोजाना नहाने से भी बचते हैं। यही कारण है शरीर जल्‍दी बीमार‍ियों की चपेट में आ जाता है। जब मौसम ठंडा होता है, तो वायरल ज्‍यादा समय के ल‍िए जीव‍ित रहता है। यही कारण है क‍ि सर्द‍ियों में संक्रामक रोग का खतरा बढ़ जाता है। बीमार‍ियों से बचने के ल‍िए साफ-सफाई का ख्‍याल रखना जरूरी है। सर्द‍ियों में संक्रामक रोगों से बचना है, तो समय-समय पर हाथ धोएं और शरीर को साफ रखें।  

इसे भी पढ़ें- सर्दी के मौसम में ताकत के लिए क्या खाना चाहिए? जानें 6 फूड्स

2. शरीर को न ढकना

शरीर को सर्द‍ियों में अच्‍छी तरह से न ढकने के कारण, बीमारी तेजी से आपके शरीर में घर बना सकती है। सर्द‍ि‍यों में फ्लू, सर्दी-जुकाम, गले में संक्रमण, गले में खराश आद‍ि का खतरा बढ़ जाता है। दरअसल ठंडी हवा हमारे श्वसन तंत्र पर बुरा असर डालती है और हम सर्द‍ियों में बार-बार बीमार पड़ जाते हैं। शुष्‍क हवा रेस्पिरेट्री ट्रैक की प्राकृतिक सफाई को भी प्रभाव‍ित करती है। श्‍वास नली में मौजूद खास परत म्‍यूकोसा, ठंडी हवा के प्रत‍ि संवेदनशील भी होती है। ऐसे में बदलते मौसम का बुरा असर शरीर पर पड़ता है। शरीर को गरम कपड़ों से ढकें और खुद को बीमार पड़ने से बचाएं।      

3. ज्‍यादा तला-भुना खा लेना  

सर्द‍ियों के मौसम में गलत डाइट लेने से आप बीमार पड़ सकते हैं। लोग इस मौसम में तला-भुना खाते हैं ज‍िससे उनका स्‍वाद बढ़ता है लेक‍िन इम्‍यून‍िटी नहीं। आपको बता दें क‍ि ठंडी हवा, गरम हवा की तुलना में ज्‍यादा घनी और भारी होती है। ऐसा होने के कारण जहरीले पदार्थ और प्रदूषक, ठंडी हवा की परत में फंस जाते हैं और हमें बीमार बनाते हैं। ठंड के दि‍नों में बार-बार बीमार नहीं पड़ना चाहते हैं, तो डाइट में लहसुन, गरम तासीर वाले आहार, खट्टे फल जैसे संतरा, शंकरकंद, अदरक और पालक आद‍ि का सेवन करें।    

4. ज्‍यादा देर घर के अंदर रहना

अगर ठंड के द‍िनों में आप भी रजाई में दुबके रहते हैं और बाहर न‍िकलना छोड़ द‍िया है, तो आप जल्‍दी-जल्‍दी बीमार पड़ सकते हैं। हमारा शरीर बीमार तब होता है जब इम्‍यून‍िटी कमजोर हो। व‍िटाम‍िन डी की कमी से भी शरीर की रोग प्रत‍िरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है। व‍िटाम‍िन डी का सबसे अच्‍छा स्रोत धूप मानी जाती है। सर्द‍ियों की धूप हमारे शरीर को कई बीमारी और संक्रमण से बचा सकती है। ठंड के द‍िनों में केवल घर में रहने की गलती न करें। सुबह की हल्‍की धूप में 15 से 20 म‍िनट हर द‍िन ब‍िताएं।

5. पानी कम पीना

शरीर में पानी की कमी के कारण इम्‍यून‍िटी कमजोर हो सकती है। कम इम्‍यून‍िटी वाला व्‍यक्‍त‍ि जल्‍दी-जल्‍दी बीमार पड़ने लगता है। सर्द‍ियों के द‍िनों में भी पर्याप्‍त मात्रा में पानी का सेवन करें। पानी के साथ-साथ गरम सूप, सब्‍ज‍ियों का रस, गरम दूध आद‍ि का सेवन भी करना चाह‍िए।  

सर्द‍ियों में हम बार-बार बीमार क्‍यों पड़ते हैं? सर्द‍ियों में पानी की कमी, सफाई में ढ‍िलाई, तला-भुना खाने और ठंडी हवा से न बच पाने के कारण शरीर जल्‍दी बीमार पड़ जाता है।

Disclaimer