चलते समय पैर के एक हिस्से में भारीपन होता है महसूस? जानें पैरों में गांठ के लक्षण, कारण और इलाज

चलते समय पैर में भारीपन महसूस हो तो इसका कारण कोई गांठ हो सकती है, जिसे नजरअंदाज करना भारी पड़ सकता है। जानें कैसे पहचानें इसे और इलाज कैसे करें।

Monika Agarwal
अन्य़ बीमारियांWritten by: Monika AgarwalPublished at: Mar 29, 2021Updated at: Mar 29, 2021
चलते समय पैर के एक हिस्से में भारीपन होता है महसूस? जानें पैरों में गांठ के लक्षण, कारण और इलाज

कभी-कभी पैर के हिस्से में भारीपन, रैडिशनैस (लालपन), सूजन या दर्द महसूस हो तो लापरवाही ना बरतें। बल्कि जानने की कोशिश करें कि क्या है इसके पीछे का कारण। हमेशा इसे नजर अंदाज करना उचित नहीं। हालांकि बहुत से लंप बिना कारण के भी हो सकते हैं। पर कुछ लंप या गांठ किसी बड़ी गंभीर समस्या की ओर इशारा कर सकते हैं। पैर में इस तरह की गांठ एक मटर के दाने के बराबर भी हो सकती है और एक टेनिस की बॉल के बराबर भी। यह पैर के किसी भी हिस्से में हो सकती है। चाहे वह टखना हो या पैर की आर्क। जरूरी नहीं कि यह गांठ आपको रोजमर्रा के काम में दिक्कत करे। लेकिन लापरवाही बरतना सही नहीं। असल में पैर की यह गांठ कैंसर भी हो सकती है।

pain in leg

पैर में गांठ होने के कुछ मुख्य कारण (Causes Of Foot Lump)

निम्न कुछ आम कारणों से पैर के एक हिस्से में गांठ हो सकती है।

1. चोट लगने के कारण (Due to Injury)

यदि आपको हाल ही में पैर में कोई चोट लगी है तो चोट के निशानों के साथ साथ आपको वहां पर कोई छोटी मोटी गांठ भी हो सकती है। जैसे जैसे आपके पैर की सूजन उतरती है आपकी यह गांठ भी पिघलनी शुरू हो जाती है और कुछ दिनों के बाद खुद ही ठीक हो जाती है। यदि दर्द या सूजन 5 दिन से ज्यादा दिन तक रह जाता है तो आपको डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

2. प्लांटर फाइब्रोमोस (Plantar Fibromas)

leg hurts due to lump

यह भी पैर में होने वाली एक गांठ होती है जोकि बहुत सॉफ्ट होती है और इसमें आपको दर्द नहीं महसूस होता है। यह ज्यादातर आपको पैर के नीचे देखने को मिलते हैं लेकिन यह कई बार आपके पैरों की साइड में भी हो जाते हैं।

3. पैर में गंगलियन सिस्ट (Ganglion Cysts on Foot)

यह एक प्रकार की जेली की तरह ग्रोथ होती है जोकि अक्सर लोगों के पैरों पर देखने को मिलती है और यह बहुत ही आम होती है। इसके लिए आपको डरने की भी आवश्यकता नही होती। यह वैसे तो आपके पैर के टॉप पर ज्यादा होती है। लेकिन कभी कभार साइड में भी हो जाती हैं। यह ज्यादातर कोई लक्षण नहीं देती है लेकिन जब यह बड़ी हो जाती हैं और आपके जूते के अंदर से महसूस होने लगती है तब आपको थोड़ा बहुत दर्द होना शुरू हो जाता है। यह सर्जरी द्वारा बाहर निकलती है लेकिन यह भी संभावना होती है की यह दोबारा उस जगह उग जाए।

इसे भी पढ़ें- क्या आप भी टांगों के दर्द से हैं परेशान? अपनाएं दर्द से तुरंत राहत दिलाने वाले ये 5 घरेलू नुस्खे

4. लिपोमस के कारण (Lipomas Formation)

यह केवल पैरों में ही नही बल्कि आपके पूरे शरीर में होते हैं और यह ज्यादातर उम्र बढ़ने के साथ साथ देखने को मिलते हैं। यह एक प्रकार के सॉफ्ट टिश्यू ही होते हैं। यह न तो कैंसरस होते हैं और न ही आपको इनकी वजह से दर्द महसूस होगा। वैसे तो आपको इनकी वजह से कोई दिक्कत नही होती है लेकिन यदि किसी को इनकी वजह से दिक्कत होती है तो वह डॉक्टर की सहायता से सर्जरी के माध्यम से इन्हें निकलवा भी सकता है।

5. दर्दनाक बर्साइटिस (Painful Bursitis)

extreme pain in legs

यह एक दर्दनाक स्थिति होती है जो तब होती है जब आपके पैर में फ्लूइड इक्कठा होता है और वह जगह सूज जाती है। यह ज्यादातर शारीरिक गतिविधियां ज्यादा करने के कारण होता है। यदि आप गलत साइज के जूते पहन लेते हैं या ज्यादा एक्सरसाइज आदि करते हैं तो भी आपको यह स्थिति झेलनी पड़ सकती है। यह आपकी पैरों के साइड में भी हो सकती है और आपकी हील के आस पास भी। इसके लक्षणों में प्रभावित क्षेत्र का लाल हों जाना शामिल है।

6. एसेसरी नविकुलर (Accessory Naviculars)

यह एक्स्ट्रा बोन ग्रोथ के कारण होता है। इस स्थिति में आपके पैर के भीतरी भाग में आपको छोटे छोटे बंप देखने को मिल सकते हैं। इस कारण आपकी स्किन लाल हो सकती है और आपको दर्द भी सहना पड़ सकता है। खास कर तब जब आप कोई काम कर रहे हों या आपने जूते पहने हों।

इसे भी पढ़ें- पैर के अल्सर के लिए असरदार है यह 10 आयुर्वेदिक उपचार, एक्सपर्ट से जानिए इस्तेमाल का आसान तरीका

7. मलिग्नांत ट्यूमर (Malignant Tumors)

यह कैंसरस गांठ होती हैं और इनका इलाज करवाना आपको बहुत जरूरी होता है। यह वैसे तो बहुत ही कम लोगों में देखने को मिलती हैं।

8. डायबिटीज भी एक वजह (Diabetes)

यदि आपको डायबिटीज होती है तो यह ज्यादा जरूरी नहीं होता की आपको पैर में या कही और किसी प्रकार की चोट महसूस हो। लेकिन कई बार आपके पैर में डायबिटीज के कारण ही गांठ हो जाती है जोकि एक प्रकार का फंगल इंफेक्शन होता है और आपको अपने पैरों पर भी अक्सर नजर रखनी चाहिए। यदि यह कुछ दिनों में ठीक नहीं होता है तो आपको डॉक्टर के पास जाना चाहिए। 

गांठ होने पर कैसे करें इलाज? (Treatment)

treatment of lump in leg

यदि आपके पैर में कोई खुली चोट है, जिसमें पस या मवाद हो रहा हो और आप को बुखार भी हो व पैर जमीन पर रखने में परेशानी हो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें। डॉक्टर पैर की उस गांठ का एक सैंपल लेगा। यदि कैंसर का संदेह होगा तो आपको आगे कैंसर के इलाज के लिए ऑन्कोलॉजिस्ट के पास भेजा जा सकता है। यदि आप का दर्द बढ़ गया है या गांठ का साइज बड़ा हो गया है, जो कि 5 सेंटीमीटर से अधिक है। साथ ही उसमें मवाद भी है तो यह स्पष्ट कैंसर के लक्षण हैं।

पैर के एक हिस्से में भारीपन या गांठ होने पर बेहतर रहेगा कि आप आर्थोपेडिक विशेषज्ञ या पोडियाट्रिस्ट से मिलें।

Read more on Other Diseases in Hindi 

Disclaimer