क्या आप भी टांगों के दर्द से हैं परेशान? अपनाएं दर्द से तुरंत राहत दिलाने वाले ये 5 घरेलू नुस्खे

टांगों में दर्द होने पर व्यक्ति के लिए रोजमर्रा के काम करना, उठना, बैठना और चलना-फिरना मुश्किल हो जाता है। जानें इस दर्द के लिए आसान 5 घरेलू नुस्खे।

सम्‍पादकीय विभाग
घरेलू नुस्‍खWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Mar 03, 2021Updated at: Mar 03, 2021
क्या आप भी टांगों के दर्द से हैं परेशान? अपनाएं दर्द से तुरंत राहत दिलाने वाले ये 5 घरेलू नुस्खे

शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द या कोई तकलीफ होने लगती है तो उसका असर व्यक्ति की रोज की गतिविधियों पर पड़ता है। इसलिए शरीर के हर अंग का स्वस्थ रहना बेहद जरूरी है। कुछ लोग अक्सर टांगों में दर्द से परेशान रहते हैं। पहले यह समस्या बुढ़ापा आने पर या हड्डियां कमजोर होने पर ही होती थी, लेकिन आज के समय में बच्चे और महिलाएं भी तेजी से इस समस्या का शिकार हो रही हैं। कई बार यह दर्द आपको रात के समय भी परेशान करता है, जिससे आप ठीक तरह से सो भी नहीं पाते। यह दर्द थोड़ी देर ही आपको पीड़ा देता है उसके बाद सामान्य हो जाता है। इससे जूझ रहे लोग अमूमन इसे नजरअंदाज कर देते हैं, लेकिन ऐसा करने की बजाय इसका इलाज करना चाहिए। टांगों में होने वाले दर्द में कई घरेलू उपचार बहुत फायदेमंद होते हैं। कई बार यह दर्द शरीर में विटामिन्स, कैल्शियम या कुछ पोषक तत्वों की कमी के कारण भी हो सकता है। इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि किन घरेलू उपचारों को अपनाकर आप इस दर्द से निजात पा सकते हैं।

यह हैं इस दर्द से निजात पाने के घरेलू नुस्खे

epsom salt for pain

1. पानी में सेंधा नमक डालकर सिकाई करें

पानी में नमक मिलाकर टांगों की सिंकाई करना एक अच्छा विकल्प है। दर्द बढ़ जाने पर आप एक बर्तन में पानी उबालकर उसमें सेंधा नमक डालकर सिंकाई करें, तो यह दर्द के लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है। सेंधा नमक में भरपूर मात्रा में मैग्नीशियम होने के साथ ही कई ऐसे लाभकारी तत्व मौजूद होते हैं, जो नर्वस सिस्टम को नियंत्रित करने में मदद करता है। इसके इस्तेमाल से आपकी मांसपेशियों का संचालन सुचारू रूप से अच्छा होता है, जिससे आपको दर्द के साथ सूजन कम करने में भी लाभ मिलता है।

2. दर्द वाले हिस्से पर करें मसाज

home remedies for leg pain

अगर आपकी टांगों का दर्द आपकी रोजाना की तकलीफ बन गया है तो ऐसे में आप नारियल के तेल, सरसों के तेल, ऑलिव ऑयल या फिर किसी सुरक्षित तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। दर्द होने पर कुछ देर प्रभावित हिस्से (दर्द वाली जगह) पर तेल की मसाज करें। इससे आपको काफी लाभ होगा।

इसे भी पढ़ें: टांगों की मसल्‍स को मजबूत बनाते हैं ये 3 आसान योगासन, सीखें करने का तरीका

3. पोटैशियम युक्त आहार का करें सेवन

टांगों में दर्द के एक नहीं बल्कि अनेक कारण हो सकते हैं, इनमें से ही एक है पोटेशियम की कमी, जिसके कारण भी आपकी टांगों में दर्द हो सकता है। इसलिए आपको अपनी रोज की डाइट में पोटैशियम युक्त आहार जरूर खाना चाहिए। पोटैशियम के लिए आप केले और आलू का प्रयोग कर सकते हैं। इनमें भरपूर मात्रा में पोटैशियम उपल्ब्ध होता है। आप चाहें तो ड्राई फ्रूट्स के तौर पर किशमिश को भी अपनी डाइट का हिस्सा बना सकते हैं। साथ ही पौष्टिक सब्जियों का भी सेवन करें। ऐसा करने से आपके शरीर में इसकी कमी पूरी होगी और टांगों में दर्द भी धीरे-धीरे कम होने लगेगा।

4. व्यायाम को करें रूटीन में शामिल

व्यायाम और योग कुछ बीमारियों को ठीक करने में अहम भूमिका निभाते हैं। व्यायाम करने के कई ऐसे परिणाम भी देखे गए हैं, जिनमें लोगों ने व्यायाम कर अपने दर्द को पूरी तरह से ठीक कर लिया है। व्यायाम आपकी मांसपेशियों को बेहतर और सुचारू रूप से करने में मदद करता है। ध्यान रहे कि कोई भी व्यायाम करने से पहले अपने चिकित्सक की सलाह जरूर लें।

इसे भी पढ़ें: लगातार बैठ कर काम करने से होने लगता है टांगों में दर्द? जानें क्यों होती है ये समस्या और कैसे करें बचाव

5. हल्दी का उपयोग करें

turmeric powder for pain

अगर आपने कई नुस्खे अपनाकर देख लिए हैं फिर भी आपको टांगों में दर्द से राहत नहीं मिल रही है तो अपनी डाइट में हल्दी की मात्रा बढ़ा दें। हल्दी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स और कुछ ऐसे गुण मौजूद होते हैं, जो सूजन और दर्द को कम करने में मदद करते हैं। आप हल्दी का पेस्ट बनाकर उसे प्रभावित जगह पर लगाएं। चाहें तो पेस्ट के उपर कोई साफ कपड़ा भी लपेट सकते हैं या फिर आप आसान तरीके से हल्दी का सेवन करना चाहते हैं तो रात में सोते समय दूध में हल्दी मिलाकर पिएं। इससे आपको दर्द में आराम मिलेगा।

इन घरेलू नुस्खों को अपनाकर आप अक्सर होने वाले टांगो के दर्द और सूजन से छुटकारा पा सकते हैं। अगर घरेलू नुस्खों से जल्द आराम न मिले, तो चिकित्सक से मिलकर इस समस्या की जांच कराएं।

Read More Articles on Home Remedies in Hindi

Disclaimer