मांसपेशियों का दर्द (मसल पेन) दूर करने के लिए इन 5 तेलों से करें मसाज

अगर आप भी मांसपेशियों के दर्द से परेशान हैं तो इन 5 तेलों से मसाज कर सकते हैं। यहां जानें इनके बारे में।

 
Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraUpdated at: Aug 11, 2021 10:56 IST
मांसपेशियों का दर्द (मसल पेन) दूर करने के लिए इन 5 तेलों से करें मसाज

मसल पेन (मांसपेशियों का दर्द) अक्सर लोगों को परेशान करता रहता है। स्ट्रेच और मालिश इसका सबसे असरदार और अचूक इलाज माना जाता है। मसल पेन से बचने के लिए कुछ एसेंशियल ऑयल की मसाज करने से आपका दर्द काफी जल्दी ठीक होता है। क्या आप भी मसल पेन की समस्या से ग्रस्त हैं? अगर हां, तो यह लेख आपके काम का हो सकता है। इसके माध्यम से हम आपको मसल पेन से राहत पाने के लिए 5 प्रकार के तेलों के बारे में बताएंगे, जो आपको इस समस्या से राहत दिलाएंगे। इनके प्रयोग से आपकी मांसपेशियों में खिंचाव, ऐंठन और दर्द आदि की समस्या आसानी से दूर हो सकती है। इन सभी तेलों को आप अपने प्रभावित हिस्से पर लगाकर मालिश कर सकते हैं। चलिए जानते हैं इन एसेंशियल ऑयल्स के बारे में। 

tulsi oil

1. तुलसी का तेल

तुलसी एसेंशियल ऑयल एक एंटीसेप्टिक और एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर ऑयल है। इसके सूजनरोशी गुण सूजन कम करके दर्द से राहत दिलाते हैं। यह अर्थराइटिस के दर्द में भी आराम पहुंचाता है। मसल्स में होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए तुलसी का तेल लगाएं। तुलसी का तेल मांसपेशियों का ब्लड सर्कुलेशन ठीक करता है। जिससे आपको दर्द में भी आराम मिलता है। यह आपकी शरीर में बनी जकड़न आदि को भी कम करने में काफी मददगार होता है। इसके लिए भी आप किसी एसेंशियल ऑयल के साथ इसे मिलाएं और दर्द वाली जगह लगाएं। ऐसा करने से आपको थोड़ी ही देर में आराम मिलने लगेगा।  

इसे भी पढ़ें - हार्मोन्स को संतुलित रखने के लिए अपनाएं ये 5 आयुर्वेदिक हर्ब्स

2. लेमनग्रास ऑयल

लेमनग्रास ऑयल आपके मांसपेशियों के दर्द पर बहुत जल्दी प्रतिक्रिया देता है। इसमें एंटीस्पामोडिक और एंटी इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज पाई जाती हैं, जो जोड़ों के दर्द से लेकर मांसपेशियों के दर्द में आराम पहुंचाता है। एक शोध के अनुसार इसे अर्थराइटिस के मरीजों पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है। यह उनके दर्द को भी कम करने में सहायक होता है। 

3. यूकेलिप्टस ऑयल

यूकेलिप्टस ऑयल की एंटीसेप्टिक और एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज मसल्स में उठने वाले दर्द को कम करती हैं। साथ ही यूकेलिप्टस ऑयल मसल्स को ठंडक पहुंचाता है। इसे नीलगिरी के तेल के नाम से भी जाना जाता है। शोध के अनुसार यूकेलप्टिस ऑयल की हीलिंग प्रॉपर्टीज मांसपेशियों के दर्द को खींचने के साथ ही अर्थराइटिस के दर्द से भी राहत दिलाने में काफी मददगार होता है। इस तेल को पेन किलर के नाम से भी जाना जाता है। इसे आप सीधा अपने प्रभावित हिस्से पर लगा  सकते हैं। यह दर्द के साथ ही आपकी जलन और घाव आदि में भी मददगार होता है। यह तेल लगाने से सख्त मांसपेशियों के साथ ही लिगामेंट्स की समस्या को भी दूऱ करता है। 

इसे भी पढ़ें - सफेद चाय (व्हाइट टी) पीने से सेहत तो मिलते हैं ये 6 फायदे

4. रोजमेरी ऑयल

रोजमेरी ऑयल दर्द कम करने के लिए बहुत उपयोगी होती है। इसमें पेन रिलीविंग प्रॉपर्टीज पाई जाती हैं, जो सूजन और दर्द को कम करने में मदद करती हैं। यह आपकी मांसपेशियों की टेंशन को कम करने के साथ ही मसल क्रैंप व ऐंठन को भी कम करता है। मसल सोरनेस में राहत देने के साथ ही यह आपको अर्थराइटिस में भी आराम पहुंचाता है। इसके लिए इसे प्रभावित हिस्से पर लगाएं। 

mintoil

5. पिपरमेंट ऑयल

पिपरमिंट ऑयल एक एंटी इंफ्लेमेटरी एसेंशियल ऑयल होता है। यह मसल्स क्रैंप को कम करता है। पिपरमिंट में मेंथोल पाया जाता है जो मसल्स को ठंडा एहसास देता है और दर्द कम करता है। एक शोध के मुताबिक पिपरमेंट ऑयल में जीवनरोधी गुण पाए जाते हैं। जो आपकी शरीर में सूजन और दर्द को कम करने में मदद करते हैं। इसमें पाया जाने वाला रोजमेरिनिक एसिड शरीर से दर्द को खींचने में काफी मददगार होते है। यह तेल थोड़ा गाढ़ा होता है इसलिए इसे किसी एसेशियल ऑयल के साथ मिलाकर लगाएं। कोशिश करें इसकी 4 से 5 बूंदें नारियल तेल के साथ मिलाकर दर्द वाले हिस्से पर लगाएं।

लेख में दिए गए इन ऑयल्स से मसाज कर आप मसल पेन से आसानी से राहत पा सकते हैं। लेख में दिए गए तरीकों से इसे इस्तेमाल करें। 

Read more Articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer