अर्थराइटिस रोगियों के लिए फायदेमंद है देवदार, इन 6 तरीकों से करें इस्तेमाल

अर्थराइटिस रोगियों के लिए देवदार का पेड़ काफी फायदेमंद हो सकता है। चलिए जानते हैं इसके इस्तेमाल करने के तरीके-

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jun 09, 2021
अर्थराइटिस रोगियों के लिए फायदेमंद है देवदार, इन 6 तरीकों से करें इस्तेमाल

अर्थराइटिस की समस्या को आप देवदार के इस्तेमाल से कम कर सकते हैं। आयुर्वेद में देवदार का इस्तेमाल काफी समय से किया जा रहा है। देवदार बरगद के पेड़ों की तरह ही सालों साल जिंदा रहता है। आयुर्वेद के अनुसार, देवदार का पेड़ जितना ज्यादा पुराना होता है, वह उतना ही ज्यादा उपोयगी भी होता है। इसका इस्तेमाल कई औषधियों के निर्माण के लिए किया जाता है। देवदार के पेड़ कई तरह के होते हैं। साथ ही इसका इस्तेमाल अर्थराइटिस के अलावा कई बीमारियों को दूर करने के लिए किया जाता है। आयुर्वेद में इस पेड़ का इस्तेमाल, कान, नाक, गला, जोड़ों में दर्द, डायबिटीज और अन्य गंभीर समस्याओं को दूर करने के लिए क्या जाता है। देवदार में अर्थराइटिस में होने वाली समस्या, जैसे पैरों में दर्द, सूजन और लालिमा को कम करने की क्षमता होती है। आज हम आपको इस लेख में देवदार के इस्तेमाल करने का तरीका बताने जा रहे हैं, जिससे आप अर्थराइटिस की परेशानियों को कम कर सकेंगे। चलिए जानते हैं उन तरीकों के बारे में-

देवदार के किस हिस्से का कर सकते हैं इस्तेमाल?

देवदार के पेड़ के विभिन्न हिस्सों का आप इस्तेमाल कर सकते  हैं। इसके जड़, फल, काठ और छाल का इस्तेमाल किया जाता है। आयुर्वेद में इसका इस्तेमाल बीमारियों के आधार पर किया जाता है। अगर आपको घाव या फिर किसी तरह का चोट लगा है, तो इसकी पत्तियों को पीसकर लगाया जाता है। इसके अलावा कई अन्य बीमारियों में इसके इस्तेमाल करने की विधि अलग है। चलिए जानते हैं अर्थराइटिस के रोगी कैसे करें देवदार का इस्तेमाल?

इस्तेमाल करने की विधि- 1

अगर आपके जोड़ों में काफी ज्यादा दर्द है, तो देवदार की पत्तियों को पीसकर अपने प्रभावित हिस्से पर लगाएं। इससे आपको जोड़ों में होने वाले दर्द से तुरंत आराम मिलेगा। साथ ही आप इसके छाल को पत्थर पर रगड़कर इसका लेप भी जोड़ों के दर्द पर लगा सकते हैं। इससे आपको काफी फायदा हो सकता है।

इसे भी पढ़ें - जांघ, बाजू और हिप्स के थुलथुले फैट (सैल्यूलाइट) को कम करने के लिए घर पर बनाएं ये 5 मसाज ऑयल

इस्तेमाल करने की विधि - 2

अर्थराइटिस के मरीजों को पैरों में सूजन की समस्या देखी गई है। ऐसे मरीज देवदार के छाल को पीसकर, इसमें चित्रकमूल और गोमूत्र मिक्स करें। इसके बाद इस मिश्रण को थोड़ा गर्म करके अपने प्रभावित हिस्से पर लगाएं। इससे पैरों में होने वाले सूजन से आराम मिल सकता है। 

इस्तेमाल करने की विधि - 3

पैरों में सूजन होने पर आप  गुडूची यानि गिलोय, सोंठ (सूखे अदरक का चूर्ण) तथा देवदार चूर्ण के चूर्ण को बराबर मात्रा में मिक्स करें। अब इसमें थोड़ा सा गोमूत्र मिक्स करें। तैयार लेप को अपने पैरों के आसपास लगाएं। इससे अर्थराइटिस में होने वाले सूजन से राहत मिल सकता है।  

इस्तेमाल करने की विधि - 4

सूजन की समस्या को कम करने के लिए सबसे पहले 1 चम्मच देवदार का चूर्ण लें। इसमें सफेद सरसों और सोंठ बराबर मात्रा में डालें। इसके बाद सभी सामाग्री को अच्छी तरह पीस लें। अब इसमें थोड़ा का गोमूत्र मिक्स करके सूजन वाले स्थान पर लगाएं। इस लेप से आप सूजन की समस्या को कम कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें - पुरुषों के टेस्टिकल्स (अंडकोष) में दर्द होने पर काम आएंगे ये 7 घरेलू नुस्खे

इस्तेमाल करने की विधि - 5

अर्थराइटिस या फिर अन्य वजहों से होने वाले सूजन को कम करने के लिए 1 गिलास दूध लें। इसमें देवदार का चूर्ण, वर्षाभू और सोंठ मिक्स करके इसे अच्छे से उबालें। दिन में करीब 100-200 मिली दूध पीने से सूजन की समस्या कम हो सकती है। 

इस्तेमाल करने की विधि - 6

अर्थराइटिस के कारण अगर आपके पैरों में लालिमा या फिर घाव हो गया है, तो आप देवदार के इस्तेमाल से इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। इसके लिए  देवदार का चूर्ण और सोंठ का चूर्ण बराबर मात्रा में लें। इसमें गोमूत्र को सही अनुपात में मिक्स करें। इस लेप को अपने प्रभावित हिस्से पर लगाएं। इससे लालिमा या घाव से आप राहत पा सकते हैं।

इन तरीकों से आप अर्थराइटिस में देवदार के पेड़ का इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रखें कि किसी भी घरेलू उपायों को अपनाने से पहले एक्सपर्ट से जरूरी सलाह जरूर लें।

Read More Articles on Home Remedies in Hindi

Disclaimer