बवासीर का शिकार बना सकती हैं रोज की कई आदतें, जानें बचाव के लिए क्या करें

आप खानपान की आदतों को बदलकर बवासीर की समस्या में आराम पा सकते हैं। इस दौरान अपनी दिनचर्या में भी बदलाव करें।

Vikas Arya
Written by: Vikas AryaUpdated at: Dec 11, 2022 15:00 IST
बवासीर का शिकार बना सकती हैं रोज की कई आदतें, जानें बचाव के लिए क्या करें

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

बवासीर आज के दौर में एक आम समस्या है। इसमें मरीज को मल त्याग करते समय दर्द और खून आने की समस्या होती है। ये समस्या मुख्य रूप से कब्ज और शौच संबंधी समस्या के कारण होती है। इसमें मलद्वार के आसपास की नसों में सूजन आ जाती है। ये समस्या महिला या पुरूषों को किसी भी आयु में हो सकती है। बवासीर होने पर मलद्वारा के पास दर्द, बैचेनी व खुजली होने के लक्षण महसूस हो सकते हैं। लेकिन ये समस्या बढ़ जाए तो व्यक्ति के मलद्वार पर मस्से हो जाते हैं, जिनसे मल त्यागते समय खून आने लगता है। एक अन्य प्रकार की बवासीर में मस्सों से खून नहीं आता है। लेकिन दर्द बना रहता है। इस समस्या होने के कई कारण हो सकते हैं। अपनी डाइट में मासलेदार, गर्म तासीर वाले और जंक फूड के सेवन से कब्ज हो सकती है। जिससे बाद में बवासीर हो जाती है। 

मगर आप अपनी डाइट में बदलाव कर इस समस्या को कम कर सकती हैं। इस समस्या से बचाव के लिए आपको अपनी आदतों पर बदलाव करना चाहिए। यदि ये समस्या हो गई है तो भी आप इसके प्रभावों को कम कर सकते हैं। चलिए जानते हैं ऐसी कौन सी आदतें हैं जो बवासीर को बढ़ावा दे सकती हैं। 

कौन सी आदतें बवासीर को बना सकती है गंभीर

व्‍यक्ति की कुछ आदतें बवासीर के लिए जिम्‍मेदार हो सकती हैं। बवासीर के इलाज में आहार यानी कि डाइट अहम भूमिका निभाती है। फाइबर की मात्रा, हरी सब्जियां, फल और पानी का कम सेवन बवासीर का कारण बन सकता है। फैटी और ऑयली चीजों का सेवन भी इसका मुख्य कारण माना जाता है। कई बार कॉफी का अधिक सेवन भी मल त्‍याग को धीमा कर सकता है और इस समस्‍या को बढ़ा सकता है।

इसे भी पढ़ें : बवासीर की समस्या में बहुत असरकारी हैं ये 5 घरेलू उपचार, मिलेगा जल्द आराम 

बवासीर होने पर अपनाएं ये टिप्‍स

हमें स्वस्थ रहने के लिए संतुलित आहार लेना चाहिए। डाइट में नियमित रूप से फाइबरयुक्त आहार जैसे-सब्जियां, साबुत अनाज और फलों को शामिल करना चाहिए। इसके साथ ही पर्याप्‍त मात्रा में पानी पीना चाहिए। सही मात्रा में पानी पीने से आपको कब्‍ज की समस्‍या से छुटकारा मिलता है और बवासीर में आराम मिलता है।

piles home remedies

बवासीर में क्‍या खाएं?

बवासीर से पीड़ित व्‍यक्ति के लिए फलियां या बीन्‍स खाना फायदेमंद होता है। ये आसानी से डाइजेस्‍ट हो जाती है और बवासीर के कारण होने वाली जलन और सूजन को दूर किया जा सकता है। साबुत अनाज जैसे- ब्राउन राइस, मक्‍का, जई और जौ भी बवासीर को नियंत्रित करने में अहम भूमिका निभाता है। इसे भी आप अपनी डाइट का हिस्सा बना सकते हैं। मसालेदार खाने से बवासीर में बढ़ोतरी होती है। इसलिए आप डाइट में मुख्य रूप से ब्रोकली, शकरकंद, शलजम और गाजर को शामिल कर सकते हैं। 

बवासीर का उपचार

ज्‍यादातर लोग बवासीर को ठीक करने के लिए घरेलू नुस्‍खों का सहारा लेते हैं, लेकिन इससे स्‍थाई रूप से आराम नहीं मिलता है। ये केवल बवासीर की समस्‍या को कम करने में मदद करते हैं। बवासीर की समस्‍या से छुटकारा पाने के लिए डॉक्‍टर की सलाह लें।

इसे भी पढ़ें : बवासीर के लिए कौन से घरेलू उपाय अच्छे हैं और कौन से खराब, जानें एक्सपर्ट की राय

लेजर सर्जरी कितनी फायदेमंद हो सकती है?

बवासीर को ठीक करने के लिए लेजर जैसी लेटेस्‍ट तकनीक का प्रयोग किया जा सकता है। लेजर सर्जरी से पहले बवासीर को दूर करने में घंटों का समय लगता था, लेकिन अब 15 से 30 मिनट में ही सर्जरी हो जाती है।

Disclaimer