देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या हुई 80 लाख के पार, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भी हुईं अब कोरोना की शिकार

कोरोना मामलों की संख्या लगातार बढ़ रही है और लोग इसके शिकार होते जा रहे हैं। अब केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भी इसकी चपेट में आ गई हैं।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Oct 29, 2020
देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या हुई 80 लाख के पार, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भी हुईं अब कोरोना की शिकार

दुनियाभर के 180 से ज्यादा देशों में कोरोनावायरस का कहर जारी है। हर दिन कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या एक नए आंकड़ों को छू रही है। वहीं बात सिर्फ भारत (india coronavirus new and active case)की करें, तो अब कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 80 लाख के पार हो चुका है। पिछले 24 घंटे में  49,881 नए मामले सामने आए हैं और अब कुल संक्रमितों की संख्या 80,40,203 हो गई है। दुख कि बात ये कि अब इस वायरस की चपेट से कोई भी अछूता नहीं रहा है। हाल ही में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani tests Covid-19 positive)भी कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं। गुरुवार को केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने यह जानकारी खुद ट्वीट के जरिए दी। 

insideSmritiIranicoronapositive

स्मृति ईरानी कोरोना पॉजिटिव (Union Minister Smriti Irani Tests COVID-Positive)

स्मृति ने ट्वीट करते हुए कहा कि ''इस बात का ऐलान करने के लिए शब्दों का चयन मेरे लिए दुर्लभ है। इसलिए इसे साधारण रखते हुए कहती हूं कि मेरा कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव पाया गया है और उन लोगों से अनुरोध करना चाहूंगी जो मेरे संपर्क में आए हैं वे जल्द से जल्द अपनी जांच करवा लें।'' इससे पहले भी, देश के कई दिग्गज नेता और अभिनेता भी कोरोना के शिकार हो चुके हैं। 

राजधानी दिल्ली में कोरोना का कहर 

वहीं अब देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना कहर बरपा रहा है और यहां पिछले कुछ समय से नए मामलों का हर दिन नया रिकॉर्ड बन रहा है। बुधवार को कोरोना के नए मामलों का सारा रिकॉर्ड टूट गया और पहली बार दिल्ली में 5000 से ज्यादा नए मरीज सामने आए। पिछले 24 घंटों में यहां 5673 नए मामले सामने आए जिसके बाद संक्रमितों की कुल संख्या 3,70,014 हो गई। इसके साथ ही राजधानी में पॉजिटिविटी रेट भी 9.37 % हो गई है। पिछले 24 घंटे में यहां 40 और लोगों की मौत इस जानलेवा वायरस की वजह से हो गई और इसके साथ ही यहां मृतकों की संख्या बढ़कर 6396 हो गई है।

insidecoronavirusupdateinindia

इसे भी पढ़ें : दिल्ली में एक दिन में सामने आए 4853 कोविड के मरीज, त्यौहारों के दौरान इन 5 राज्यों में बढ़े सबसे ज्यादा मामले

कब उपलब्ध होगी कोरोना वैक्सीन?

दुनियाभर में लोग कोविड-19 फैलाने वाले कोरोना वायरस को रोकने के लिए वैक्सीन का इंतजार कर रहे हैं। वहीं 200 से ज्यादा फार्मा कंपनियां और वैक्सीन निर्माता अपने हजारों वैज्ञानिकों के साथ इस प्रयास में लगे हुए हैं कि कैसे जल्द से जल्द लोगों तक एक प्रभावी कोरोना वैक्सीन पहुंचाया जा सके। वैक्सीन बनाने की जंग में जो देश सबसे आगे चल रहे हैं, उनमें रूस भी एक है। रूस द्वारा बनाई स्पुतनिक वी वैक्सीन (Sputnik V Vaccine) की चर्चा पिछले कई महीनों से जोरों पर है और बीते मंगलवार को रूस की तरफ से रशियन डायरेक्ट इंवेस्टमेंट फंड ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization को कोविड वैक्सीन के प्री-क्लाविफिकेशन के रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन किया है। 

यूके वैक्सीन टास्क फोर्स ने फर्स्ट जनरेशन वैक्सीन को लेकर उठाए सवाल

तो वहीं अमेरिकी कंपनी फाइजर (Pfizer) के अधिकारियों ने मंगलवार को 2020 में ही कोरोनो वायरस वैक्सीन (vaccine) तैयार करके देने की आशा व्यक्त की। हालांकि, यूके वैक्सीन टास्क फोर्स के अध्यक्ष केट बिंघम ने COVID-19 वैक्सीन को लेकर चिंता जताई है। उन्होंने कहा है कि कोरोनावायरस की फर्स्ट जनरेशन वैक्सीन उतनी प्रभावी हो, इस बात पर उन्हें शक है। उन्हें लगता कि कोरोना की  फर्स्ट जनरेशन वैक्सीन पूरी तरह से लोगों के बचाव में प्रभावी नहीं हो पाएगी।

इसे भी पढ़ें : CDC ने बदली कोविड मरीज के संपर्क में आने वाले 'क्लोज कॉन्टैक्ट' की परिभाषा, स्कूल-ऑफिस के लिए जरूरी है निर्देश

वहीं खबरों की मानें, तो भारत के सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के द्वारा तैयार की जाने वाली कोरोनावायरसकी वैक्सीन (COVID-19 Vaccine) साल 2021 की दूसरी या तीसरी तिमाही तक उपलब्ध हो जाएगा।   सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया  का कहना है कि SII द्वारा उत्पादित ऑक्सफोर्ड कोरोनावायरस वैक्सीन की 100 मिलियन खुराक का पहला बैच साल 2021 की दूसरी या तीसरी तिमाही तक उपलब्ध हो सकेगा, जो कि लोगों के लिए राहत की बात है। पर कुल मिला कर देखा जाए, तो कोरोना का कहर जारी है और हर किसी को अब कोरोना वैक्सीन और दवा का इंतजार है।

Read more articles on Health-News in Hindi

Disclaimer