कोरोनावायरस के 'हाई रिस्क' वाले 30 देशों की लिस्ट में भारत भी शामिल, दुनियाभर में 6000 से ज्यादा आए मामले

रहस्यमी कोरोना वायरस भारत में भी पसार सकता है पांव, 30 हाई रिस्क देशों में भारत 23वें नंबर पर। जानें कोरोनावायरस के शुरुआती लक्षण कैसे होते हैं?

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Jan 29, 2020Updated at: Feb 05, 2020
कोरोनावायरस के 'हाई रिस्क' वाले 30 देशों की लिस्ट में भारत भी शामिल, दुनियाभर में 6000 से ज्यादा आए मामले

रहस्यमयी कोरोनावायरस पूरी दुनिया के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। अब तक इस वायरस के 6000 से ज्यादा कंफर्म मामले सामने आ चुके हैं। वहीं इस खतरनाक वायरस की चपेट में आने से 130 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। भारत में भी बिहार, केरल, मुंबई और जयपुर में इस वायरस के कई संदिग्ध मरीज सामने आए हैं। हालांकि सरकार द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार भारत में अभी कोरोनावायरस का एक भी कंफर्म मामला नहीं सामने आया है। फिर भी स्वास्थ्य मंत्रालय और विदेश मंत्रालय ने इस वायरस को लेकर चिंता जताई है क्योंकि बहुत सारे भारतीय पिछले 1 महीने में चीन से भारत लौटे हैं।

कोरोनावायरस के खतरों वाले देशों की लिस्ट में भारत (Coronavirus in India)

University of Southampton ने 30 देशों की एक लिस्ट जारी की है, जहां कोरोनावायरस पहुंचने या पाए जाने की संभावना है। इस लिस्ट में भारत को 23वें नंबर पर है। वहीं थाईलैंड और जापान इस लिस्ट में पहले और दूसरे नंबर पर हैं। ये लिस्ट चीन से अलग-अलग देशों में लौटे यात्रियों की संख्या के आधार पर बनाई गई है। गौरतलब है कि भारत में इस वायरस के फैलने की संभावना इसलिए भी बताई जा रही है क्योंकि पड़ोसी देश नेपाल में कोरोनावायरस का एक कंफर्म मामला सामने आया है। भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने पिछले दिनों एक चीन से लौट रहे यात्रियों के लिए एक एडवाइजरी जारी की थी, जिसमें कोरोनावायरस से बचने के तरीके बताए गए थे।

सामान्य फ्लू की तरह होते हैं लक्षण (Coronavirus Symptoms)

कोरोनावायरस का अब तक कोई इलाज कंफर्म इलाज नहीं खोजा जा सका है। कुछ रिपोर्ट्स के अनुसार हांगकांग में इस वायरस से बचाव के लिए वैक्सीन तैयार की गई है, मगर इंसानों पर अभी इसका ट्रायल नहीं हुआ है। ये वायरस खतरनाक है मगर इसके लक्षण बेहद सामान्य होते हैं, जिसके कारण बहुत सारे मरीजों ने शुरूआत में इसे नजरअंदाज कर दिया। कोरोनावायरस के शुरुआती लक्षण फ्लू या निमोनिया जैसे दिखते हैं।

इसे भी पढ़ें: क्या है कोरोनावायरस? कहां से फैला, लक्षण और कितना है खतरनाक, जानें वायरस से बचाव के उपाय

ऐसे होती है वायरस की शुरुआत (How Does Coronavirus Spred)

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार कोरोनावायरस की शुरुआत सामान्य बुखार से होती है। इसके बाद सूखी खांसी आना शुरू होती है और फिर सप्ताह भर के अंदर ही व्यक्ति को सांस लेने में तकलीफ होने लगती है। इसके बाद अगर इलाज में देरी की जाए, तो व्यक्ति की किडनियां फेल हो सकती हैं और उसकी मौत हो सकती है। इस वायरस की चपेट में आने का खतरा उन लोगों को ज्यादा है, जिन्हें डायबिटीज है या जो पार्किसंस रोग से जूझ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस से बचने के उपाय: स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने जारी किए दिशानिर्देश

वायरस से बचाव के लिए क्या करें (Tips to Prevent Coronavirus)

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने अपनी एडवाइजरी में कहा है कि कोरोनावायरस से बचने के लिए लोग इन बातों का ध्यान रखें-

  • सर्दी-जुकाम, बुखार से पीड़ित लोगों के संपर्क में आने से बचें।
  • खांसते, छींकते समय अपने मुंह पर रुमाल लगाएं।
  • अपने हाथों को साबुन से धोते रहें या हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें।
  • अधपका और कच्चा मांस बिल्कुल भी न खाएं।
  • सार्वजनिक जगहों पर जाने से पहले N95 मास्क पहनें।

Read more articles on Other Diseases in Hindi

Disclaimer