कोरोनावायरस को लेकर क्या आपके मन में भी हैं ये 6 सवाल, गूगल छोड़ यहां पढ़ें सही और सटीक जवाब

कोरोनावायरस को लेकर लोगों के मन में तमाम सवाल हैं, जैसे कोरोनावायरस क्या है, इसके लक्षण क्या है ये कैसा फैलता है, कितना खतरनाक है, जानें इनके जवाब।

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Mar 04, 2020Updated at: Mar 04, 2020
कोरोनावायरस को लेकर क्या आपके मन में भी हैं ये 6 सवाल, गूगल छोड़ यहां पढ़ें सही और सटीक जवाब

भारत में कोरोनावायरस की बढ़ती दहशत के बीच ये जानना हम सभी के लिए जरूरी हो जाता है कि आखिरकार कोरोनावायरस है क्या, इसके लक्षण क्या हैं, क्या कोरोनावायरस और चिकन के बीच कोई संबंध है और क्या कोरोनावायरस का इलाज अभी तक ढूंढा जा चुका है? तमाम तरह की वेबसाइट तमाम तरह की जानकारी दे रही हैं, खुद डब्लूएचओ भी कोरोनावायरस को लेकर पहुंचाई जा रही गलत जानकारी को रोकने के लिए टिकटॉक जैसे सोशल मीडिय सोर्स का सहारा ले रहा है। लोगों के बीच कोरोनावायरस के बढ़ते डर के बीच देश के बड़े-बड़े डॉक्टर्स कोरोनावायरस को लेकर फैल रही गलत जानकारियों पर से पर्दा उठा रहे हैं।

हार्ट केयर फाउंडेशन के अध्यक्ष और इंडियन मेडिकल काउंसिल के पूर्व अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल ने कोरोनावायरस के बारे में बताते हुए ये जानकारी दी कि कैसे आम फ्लू COVID-19 से अलग है। उनका कहना है कि कोरोनावायरस एक प्रकार की फेफड़ों से जुड़ी बीमारी है न कि बंद नाक की समस्या। 90 फीसदी लोगों को बुखार होता है, 80 फीसदी को सूखी खांसी और करीब 30 फीसदी को सांस लेने में दिक्कत होती है, जिसके कारण व्यक्ति थका-थका महसूस करता है। बहती नाक की समस्या केवल 4 फीसदी को ही है और कुछ व्यक्ति को कोल्ड और फ्लू दोनों ही हो जाते हैं। बुखार, सांस लेने में दिक्कत और संभवित रूप से निमोनिया होना आम हो सकता है और इस स्थिति में आपको अस्तपात में भर्ती नहीं कराया जाता। लेकिन अगर नौबत ऑक्सीजन लेने की आ गई तो आप गंभीर स्थिति का शिकार हो सकते हैं।

coronavirus

कोरोनावायरस को लेकर लोगों के मन में तमाम सवाल हैं, जैसे कोरोनावायरस क्या है, इसके लक्षण क्या है ये कैसा फैलता है, कितना खतरनाक है आदि। इनके जवाब ढूंढने के लिए लोग गूगल करते हैं लेकिन डब्लूएचओ भी इस बात को कह चुका है कि आप कोरोना से जुड़ी जानकारी के लिए गूगल न करें बल्कि संगठन की साइट पर जरूरी जानकारी पढ़े। इस लेख में हम आपको ऐसे ही 6 आम सवालों को जवाब दे रहे हैं, जो आपके मन में आते हैं।

सवाल-1: कोरोनावायरस क्या है और इसके लक्षण क्या हैं?

कोरोनवायरस (सीओवीडी-19) वायरस के एक बड़े परिवार का हिस्सा है, जो आम सर्दी से लेकर सेवर एक्यूट रेस्पिरेटरी डिस्ट्रेस सिंड्रोम जैसी गंभीर बीमारी तक का कारण बन सकता है। जब भी आपको बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई हो, तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं क्योंकि ये एक बैक्टीरियल और वायरल संक्रमण, एलर्जी या एक प्रकार गंभीर श्वसन संक्रमण के कारण हो सकते हैं। कोरोनावायरस संक्रमण के सामान्य लक्षणों में

  • सांस संबंधी लक्षण
  • बुखार
  • खांसी
  • सांस लेने में तकलीफ।

अधिक गंभीर मामलों में संक्रमण से निमोनिया, सेवर एक्यूट रेस्पिरेटरी डिस्ट्रेस सिंड्रोम , किडनी फेल्योर और तो और मृत्यु भी हो सकती है।

coronavirusquestions

इसे भी पढ़ेंः COVID-19: कोरोनावायरस से जुड़ी ये 9 जरूरी बातें ऑनलाइन सर्च करने से बचें, जानें कहीं आप भी तो नहीं कर रहे सर्च

सवाल-2:  कहां से आया कोरोनावायरस?

कोरोनावायरस एक नया चलन है, जो पहले कभी इंसानों में नहीं देखा गया। लेकिन 31 दिसंबर को चीन के वुहान शहर में एक व्यक्ति में इसकी पहचान हुई और आज ये विश्व भर में बहुत तेजी से फैल चुका है।

सवाल-3:  कैसे फैलता है कोरोनावायरस?

कोरोनावायरस जूनोटिक वायरस है, इसका मतलब है कि ये जानवरों से इंसानों में फैलता है। जानवरों में कई तरह के कोरोनावायरस देखने को मिले थे, जिन्होंने कभी इंसानों को संक्रमित नहीं किया था। इसलिए हाथों को साफ रखना संक्रमण से बचने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी घटक है। इसके साथ ही आप अन्य लोगों से करीब 1 मीटर यानी की तीन फीट की दूरी बनाकर रखें। खासकर उन लोगों से जो खांस रहे हैं, छींक रहे हैं या उन्हें बुखार है। कोरोनावायरस और चिकन के बीच संबंध की अफवाह फैली हुई है लेकिन ये सिर्फ फेक न्यूज है।

coronavirusmyth

सवाल-4: कोरोनावायरस से खुद को सुरक्षित रखने का सबसे अच्छा तरीका क्या है?

एंटीसेप्टिक हैंड वॉश से अपने हाथों को धोएं और अगर आपके हाथों पर पानी है तो कोरोनोवायरस खत्म हो जाएगा। हाथ कई तरह की सतह के संपर्क में आते हैं और अगर हम हाथ को चेहरे पर स्पर्श करते हैं या इसे नाक के करीब लाते हैं तो हम वायरस से संक्रमित हो सकते हैं। आप एंटीसेप्टिक हैंडवाश का उपयोग कर सकते हैं। खांसी और छींकने जैसी सांस की बीमारी के लक्षण दिखाने वाले किसी के भी निकट संपर्क से बचें। जब किसी को खांसी या छींक आती है तो वे वायरस वाली छोटी बूंदों का स्राव करते हैं। अगर आप उस व्यक्ति के बहुत करीब हैं, तो आप सांस के साथ वायरस को ले सकते हैं। इसलिए सार्वजनिक स्थानों पर लोगों से दूरी बनाएं रखें।  हाथ कई सतहों को छूते हैं जो वायरस से दूषित हो सकते हैं। और अगर आप अपने दूषित हाथों से अपनी आंखें, नाक या मुंह को छूते हैं, तो आपके वायरस से संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाएगा।  संक्रमण को रोकने के लिए नियमित रूप से हाथ धोना, खांसने और छींकने के दौरान मुंह और नाक को ढंकना, मांस और अंडे को अच्छी तरह से पकाना शामिल है।

इसे भी पढ़ेंः क्या है कोरोनावायरस? कहां से फैला, लक्षण और कितना है खतरनाक, जानें वायरस से बचाव के उपाय

coronavirusmyth debunked

सवाल-5: कितना खतरनाक है कोरोनावायरस?

अन्य सांस की बीमारियों के साथ कोरोनोवायरस के आम लक्षणों में बहती नाक, गले में खराश, खांसी और बुखार शामिल है। कोरोनावायरस के लक्षण कुछ व्यक्तियों के लिए अधिक गंभीर हो सकते हैं और इससे निमोनिया या सांस लेने में कठिनाई हो सकती है। कुछ मामलों में ये बीमारी घातक भी हो सकती है। उम्रदराज लोगों और डायबिटीज व हृदय रोग से पीड़ित लोग इस वायरस के कारण गंभीर रूप से बीमार हो सकते हैं।

सवाल-6:  क्या इंसान से इंसान में फैलता में है कोरोनावायरस?

जी हां, COVID-19 सांस संबंदी बीमारी का कारण बनता है और ये इंसान से इंसान में फैलता है। अगर आप किसी संक्रमित व्यक्ति के नजदीक जाते हैं तो आप इसका शिकार हो सकते हैं।

Read More Articles On Other Diseases In Hindi

Disclaimer