क्या कोरोनाकाल में खराब हो गई आपकी भी नींद? आप हो सकते हैं 'काेराेनासाेम्निया' का शिकार, जानें इसके बारे में

Coronasomnia : पिछले एक साल से कई लाेग काेराेनासाेम्निया (काेराेना+इंसाेम्निया) नामक बीमारी की चपेट में आए हैं। जानें इसके लक्षण, कारण और बचाव टिप्स

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jul 08, 2021Updated at: Jul 08, 2021
क्या कोरोनाकाल में खराब हो गई आपकी भी नींद? आप हो सकते हैं 'काेराेनासाेम्निया' का शिकार, जानें इसके बारे में

क्या आप काेराेनासाेम्निया (Coronasomnia) नामक बीमारी के बारे में जानते हैं? यह काेराेना और नींद से जुड़ी एक समस्या है। वैसे ताे आजकल की बिजी और तनावपूर्ण लाइफस्टाइल की वजह से नींद न आने की समस्या बेहद आम हाे गई है। लेकिन पिछले एक साल से नींद की समस्या वाले लाेगाें में लगातार इजाफा हाे रहा है। काेराेना वायरस के बाद से लाेगाें में नींद की समस्या यानी अनिद्रा काफी बढ़ी है। काेविड-19 महामारी में तनाव के कारण नींद में आने वाली समस्याओं काे काेराेनासाेम्निया बताया है। फ्लोरेस हॉस्पिटल,गाजियाबाद के सीनियर फिजिशियन और एमडी डॉ. एम.के. सिंह से जानते हैं क्या है काेराेनासाेम्निया? साथ ही इसके लक्षण, कारण और बचाव टिप्स भी जानें-

coronasomnia

क्या है काेरानासाेम्निया (What is Coronasomnia)

काेराेना वायरस और अनिद्रा से जुड़ी समस्या काे काेराेनासाेम्निया कहा जाता है। काेराेनासाेम्निया और अनिद्रा में काफी अंतर है। दरअसल, काेराेनासाेम्निया काेविड-19 से जुड़ी एक समस्या है। इसमें लाेग काेराेना के हल्के लक्षणाें काे महसूस करते हैं, जिससे उनके मन में डर पैदा हाे जाता है। इससे तनाव की स्थिति पैदा हाेती है और अनिद्रा की समस्या हाेने लगती है। काेराेना वायरस ने लाेगाें काे काफी तरीकाें से प्रभावित किया है। ऐसे में काेराेना के कारण बढ़ते तनाव की वजह से हाेने वाली अनिद्रा की समस्या काे काेराेनासाेम्निया कहा गया है।

इसे भी पढ़ें - स्वस्थ शरीर के लिए गहरी और अच्छी नींद है जरूरी, इन 5 घरेलू उपायों से अनिद्रा की परेशानी को करें दूर

काेराेनासाेम्निया के लक्षण ( Coronasomnia Symptoms)

किसी भी बीमारी के शुरू हाेने पर उसके लक्षण नजर जरूर आते हैं। ऐसे में काेराेनासाेम्निया से पीड़ित हाेने पर भी कुछ लक्षण नजर आते हैं।

  • साेते समय भी दिमाग में कुछ चलते रहना।
  • रात में बार-बार नींद खुलना।
  • देर तक साेने के बाद भी नींद पूरी न हाेना।
  • काम में फाेकस न कर पाना
  • एंग्जायटी और डिप्रेशन
  • दिन में नींद आना
  • मूड खराब रहना

काेराेना महामारी के बाद से लाेगाें में तनाव, चिंता काफी बढ़ा है, जिसकी वजह से अनिद्रा की समस्या भी बढ़ रही है। साथ ही काेराेना ने मानसिक स्वास्थ्य पर भी असर किया है।

coronasomnia causes

काेराेनासाेम्निया के काऱण (Coronasomnia Causes)

काेरानासाेम्निया काेराेना और नींद से जुड़ी एक समस्या है। इसमें काेराेना की वजह से नींद प्रभावित रहती है। दरअसल, काेराेना महामारी के दौरान हमारी जिंदगी में काफी बदलाव हुए हैं।

  • काेराेना वायरस की चैन काे टाेड़ने के लिए देश में लॉकडाउन लगाना बहुत जरूरी था, लेकिन इसकी वजह से कई लाेगाें की नौकरी चली गई है। जिससे लाेग टेंशन या तनाव में हैं और अनिद्रा की समस्या से जूझ रहे हैं।
  • काेराेना महामारी में कई लाेगाें ने अपनाें काे खाेया है। जिससे में काेराेनासाेम्निया की समस्या हाेती है।
  • समाज और देश में कई बदलावाें काे देखकर लाेगाें में तनाव की स्थिति बढ़ी हैं, जाे काेराेनासाेम्निया का एक कारण है।

काेरानासाेम्निया के बचाव टिप्स (Coronasomnia Prevention Tips)

काेराेनासाेम्निया से खुद का या अपनाें का बचाव करने के लिए आपकाे कुछ जरूरी बाताें काे अम्ल में जरूर लाना चाहिए। आप चाहें ताे इसके लिए कुछ बचाव टिप्स काे फॉलाे कर सकते हैं।

  • रात काे साेने से पहले 10-15 मिनट तक मेडिटेशन करें। ऐसा करने से आपकाे जल्दी और बहुत अच्छी नींद आएगी।
  • कैफीन के सेवन से नींद नहीं आती है। ऐसे में आपकाे कैफीन युक्त खाद्य पदार्थाें जैसे चाय या कॉफी का सेवन कम से कम करना चाहिए। बिस्तर पर जाने से पहले ताे इसका सेवन बिल्कुल न करें। कैफीन का अधिक मात्रा में सेवन से सेहत काे नुकसान भी पहुंच सकता है।
  • सुबह उठकर 15 मिनट सूरज की राेशनी में रहें।
  • अच्छी नींद के लिए आपके बेडरूम का तापमान 16-19 डिग्री सेल्सियस के बीच हाेना चाहिए।
  • रात काे साेते समय माेबाइल फाेन का इस्तेमाल न करें। क्याेंकि इसकी ब्लू स्क्रीन मेलाटाेनिन हार्माेन की मात्रा काे कम करती है।
  • बेडरूम काे डार्क, कूल और शांत रखें। इससे आपकाे काफी अच्छी नींद आने में मदद मिलेगी। 
  • अच्छी नींद के लिए तनाव, चिंता या टेंशन कम करने की काेशिश करें। 
  • अपने भीतर सकारात्मक विचार रखें और नकारात्मक विचाराें से दूर बनाकर रखें।

अगर आप भी काेराेनासाेम्निया की समस्या है या उसके लक्षण नजर आ रहे हैं, ताे आपकाे डॉक्टर से जरूर कंसल्ट करना चाहिए। साथ ही ऊपर बताए गए इन बचाव टिप्स काे भी फॉलाे कर सकते हैं। 

Read More Articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer