Remedies for Chikungunya: घरेलू नुस्खों की मदद से आप चिकनगुनिया की समस्या से बच सकते हैं। ये घरेलू उपचार आपके शरीर को कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं और इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है।

"/>

Chikungunya Remedies: चिकनगुनिया से राहत दिलाते हैं ये 5 घरेलू उपचार, जानें सेवन का तरीका

Remedies for Chikungunya: घरेलू नुस्खों की मदद से आप चिकनगुनिया की समस्या से बच सकते हैं। ये घरेलू उपचार आपके शरीर को कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं और इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है।

Atul Modi
Written by: Atul ModiUpdated at: Sep 10, 2019 12:58 IST
Chikungunya Remedies: चिकनगुनिया से राहत दिलाते हैं ये 5 घरेलू उपचार, जानें सेवन का तरीका

Remedies for Chikungunya: चिकनगुनिया मच्छर के काटने से होता है और यह एक वायरल संक्रमण है। चिकनगुनिया में बुखार, सिरदर्द, उल्टी, थकान और मांसपेशियों में दर्द जैसी समस्याएं होती हैं। इस समस्या से बचने के लिए आपको मच्छरदानी का अधिक से अधिक उपयोग करना चाहिए और अपने आस-पास साफ-सफाई रखनी चाहिए। यदि ये मच्छर दिन के समय काटते हैं, तो आपको अतिरिक्त सतर्क रहना चाहिए। हालांकि आप दवाओं के उपयोग से इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं, फिर भी घरेलू उपचार का उपयोग आपके लिए प्रभावी हो सकता है क्योंकि इसके कोई दुष्प्रभाव नहीं होते हैं। इसके अलावा, ये उपाय आपके शरीर के तापमान को भी नियंत्रित करते हैं।

 

चिकनगुनिया से बचने के उपाय

नारियल पानी

नारियल पानी शुगर, अमीनो एसिड, पोटेशियम और सोडियम जैसे इलेक्ट्रोलाइट का एक अच्छा स्रोत है जो चिकनगुनिया के लक्षणों को भी कम करता है। इसके अलावा, यह पेट की समस्या को भी कम करता है और चयापचय को बढ़ाता है।

तुलसी

तुलसी के पत्तों और इलायची को उबाल लें और फिर इसे कुछ घंटों के अंतराल में पीएं। चिकनगुनिया को रोकने के लिए यह फायदेमंद है क्योंकि इसमें एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-फंगल और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं। चिकनगुनिया के संकेत हैं एक से तीन दिन तक बुखार के साथ जोड़ों में दर्द और सूजन, जानें कारण और बचाव

पपीते का पत्ता

हर 3 घंटे में पपीते के पत्ते का रस पीने से आपकी समस्या कम हो जाएगी। इसका सेवन आपके संक्रमण को कम करता है क्योंकि इसमें लार्विसाइडल गुण होते हैं।

इसे भी पढ़ें: घर में लगाएं ये 6 पौधे, भाग जाएंगे मच्‍छर, खटमल और कीड़े

लहसून का पेस्ट

लहसुन का पेस्ट बना लें। प्रभावित क्षेत्रों पर पेस्ट लागू करें और इसे कुछ घंटों के लिए छोड़ दें। इस पेस्ट को दिन में दो बार लगाएं। यह बेहतर रक्त परिसंचरण प्रदान करता है और दर्द से राहत देता है।

इसे भी पढ़ें: मलेरिया वाले मच्‍छरों को पास नहीं आने देते ये 6 एसेंशियल ऑयल, जानें इस्‍तेमाल करने का तरीका

हल्दी वाला दूध

हल्दी वाले दूध में करक्‍यूमिन नामक एक एंटीऑक्सिडेंट होता है, जो एंटी-इंफ्लेमेटरी एजेंट के रूप में काम करता है और चिकनगुनिया के लक्षणों को कम करता है। बेहतर परिणामों के लिए सुबह एक गिलास हल्दी पिएं और सोते समय भी इसे पीएं।

चिकनगुनिया की समस्या को कम करने के लिए घरेलू उपचार के साथ-साथ दवाओं को भी अपनाना चाहिए क्योंकि इनका कोई साइड इफेक्ट नहीं है।

Read More Articles On Home Remedies In Hindi

Disclaimer