लंबे समय से पेट दर्द और कब्ज हो सकते हैं सीलिएक रोग का संकेत, जानें इसके लक्षण, कारण और बचाव के टिप्स

celiac disease : सीलिएक रोग ग्लूटेन खाए जाने पर इम्यूनिटी द्वारा दिया गया एक रिएक्शन होता है। इसमें पेट में दर्द, कब्ज और उल्टी जैसे लक्षण दिखाई देते

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Nov 29, 2021Updated at: Nov 29, 2021
लंबे समय से पेट दर्द और कब्ज हो सकते हैं सीलिएक रोग का संकेत, जानें इसके लक्षण, कारण और बचाव के टिप्स

सीलिएक रोग क्या (what is celiac disease) है? सीलिएक रोग को स्प्रू और कोएलियाक भी कहा जाता है। सीलिएक रोग एक स्व-प्रतिरक्षित विकार है। यह रोग किसी भी व्यक्ति को तब होता है, जब ग्लूटेन युक्त आहार खाए  (gluten food) जाने पर शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता रिएक्शन (immune reaction) करती है। 

ग्लूटेन एक तरह का प्रोटीन होता है, यह गेंहू, जौ, ओट्स और राई में पाया जाता है। सीलिएक रोग में शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता अपने ही शरीर के खिलाफ लड़ने लगती है। यह रोग बच्चों से लेकर वयस्कों तक को हो सकता है। बच्चों में सीलिएक रोग उनके शारीरिक-मानसिक विकास में बाधा डाल सकता है। इसलिए इसके लक्षणों को नजरअंदाज करने से बचना चाहिए। जनरल फिजिशियन डॉक्टर एम.के.सिंह से जानें सीलिएक रोग के लक्षण, कारण और बचाव टिप्स-

celiac disease

सीलिएक रोग के लक्षण (celiac disease symptoms)

सीलिएक रोग पेट से संबंधित एक समस्या है। इसके कई लक्षण होते हैं। यह प्रत्येक व्यक्ति में अलग-अलग हो सकते हैं। सीलिएक रोग के लक्षण बार-बार आते-जाते रहते हैं। यह आंतों को नुकसान पहुंचाता है। कई बार इसके लक्षण बच्चों और वयस्कों में अलग-अलग होते हैं। सीलिएक रोग कई अन्य बीमारियों का भी कारण बन सकता है। 

1. पेट से जुड़े लक्षण

सीलिएक रोग होने पर पेट से जुड़े लक्षण देखने को मिलते हैं। इसमें पेट दर्द, पेट का फूलना और पेट में सूजन शामिल हैं। व्यक्ति में ये लक्षण तब देखने को मिलते हैं, जब छोटी आंत भोजन से जरूरी पोषक तत्वों को अवशोषित करने में असफल होती है। इसमें आपको सामान्य से लेकर गंभीर पेट दर्द हो सकता है।

इसे भी पढ़ें - होने वाले बच्चे के विकास पर असर डालता है सीलिएक रोग, गर्भवती महिलाएं बरतें जरूरी सावधानियां

2. कब्ज और दस्त

सीलिएक रोग होने पर आपको अपने मल में भी लक्षण देखने को मिल सकते हैं। इसमें आपको मल में भी बदलाव देखने को मिलता है। सीलिएक रोग में अपच और कब्ज सामान्य लक्षण है। पीले रंग का मल, बदबूदार, झाग वाला मल देखने को मिलता है। इसके अलावा कई बाद मल में वसा या फैट भी दिखाई देता है। बच्चों में दस्त भी सीलिएक रोग का लक्षण होता है। ये सभी लक्षण बच्चों और वयस्कों दोनों में देखने को मिलते हैं। इस स्थिति में व्यक्ति का पाचन तंत्र सही तरीके से कार्य करने में सक्षम नहीं होता है।

3. लगातार वजन कम होना

सीलिएक रोग में लगातार वजन कम होना एक सामान्य लक्षण है। बच्चों, वयस्कों दोनों में यह लक्षण दिखाई देता है। सीलिएक रोग में कुछ लोगों का सामान्य भूख के साथ भी वजन घटता जाता है, तो कुछ लोगों में भूख में कमी भी देखने को मिलती है। एनीमिया भी इसका एक लक्षण होता है। सीलिएक रोग बच्चों में भी सामान्य हो रहा है

vomiting

(image source : healthlibrary.askapollo.com)

4.थकान, उल्टी और कमजोरी

सीलिएक रोग होने पर कुछ रोगियों में थकान, उल्टी, मतली और कमजोरी जैसे लक्षण भी देखने को मिल सकते हैं। सीलिएक रोग होने पर ये लक्षण इसलिए दिखाई देते हैं, क्योंकि इस स्थिति में ऊर्जा और शक्ति में कमी आ जाती है। वयस्कों की तुलना में बच्चों में ये लक्षण अधिक देखने को मिलते हैं। 

सीलिएक रोग के अन्य लक्षण (other symptoms of celiac disease)

  • बच्चों का विकास धीमा होना
  • चिड़चिड़ापन
  • हड्डियों में दर्द होना
  • त्वचा पर निशान दिखना
  • बालों का झड़ना
  • हाथ-पैरों में झुनझुनी
  • थकान और सिरदर्द
  • डिप्रेशन
  • ध्यान देने में कठिनाई

सीलिएक रोग के कारण (celiac disease causes)

1. सीलिएक रोग कई कारणों से हो सकता है। लेकिन ग्लूटेन खाद्य पदार्थ खाने पर जब रोग प्रतिरक्षा प्रणाली रिएक्शन देती है, तो यह इसका सबसे सामान्य कारण होता है। दरअसल, यह तब होता है जब ग्लूटेन नामक प्रोटीन असाधारण रिएक्शन देता है। यह गेंहू, जौ, ओट्स, ब्रेड, पास्ता और अनाज से बना खाना खाने से हो सकता है।

सीलिएक रोग की स्थिति खतरनाक स्थिति होती है। यह एक स्व प्रतिरक्षित स्थिति होती है। इसमें प्रतिरक्षा प्रणाली यानी इम्यूनिटी स्वस्थ कोशिकाओं को खतरनाक कोशिकाएं समझ लेती है और उनके खिलाफ एंटीबॉडी का उत्पादन करने लगती है। ये एंटीबॉडी आंतों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इससे आंतों में सूजन, जलन की समस्या हो सकती है।

सीलिएक रोग की स्थिति में छोटी आंत भोजन से जरूर पोषक तत्वों को अवशोषित करने में सक्षम नहीं होती है, जिसकी वजह से सीलिएक रोग के लक्षण दिखाई देने लगते हैं। 

celiac disease

2. सीलिएक रोग पारिवारिक स्थिति की वजह से भी हो सकता है। जब परिवार में किसी करीबी सदस्या जैसे माता-पिता को सीलिएक रोग होता है, तो बच्चे में इसके होने की संभावना भी अधिक रहती है। यह समस्या परिवार में एक से दूसरे को हो सकता है। जिन परिवारों में सीलिएक रोग है, उनके बच्चों में इस रोग के होने की संभावना 10 गुना तक बढ़ जाती है। 

3. सीलिएक रोग के लिए पर्यावरणीय कारण भी जिम्मेदार हो सकते हैं। जिस व्यक्ति को पाचन तंत्र में संक्रमण हो चुका है, उनमें इस रोग के होने की संभावना काफी ज्यादा होती है। 

4. तीन महीने से पहले शिशु को ग्लूटेन युक्त खाद्य पदार्थ खिलाना भी सीलिएक रोग का कारण बन सकता है। इस स्थिति में शिशु को सीलिएक रोग होने का खतरा अधिक रहता है।

5. अगर आप किसी स्वास्थ्य संबंधी समस्या जैसे- टाइप 1 डायबिटीज,  थायराइड, अल्सरेटिव कोलाइटिस, न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर, डाउन सिंड्रोम और टर्नर सिंड्रोम से जूझ रहे हैं, तो आपको सीलिएक रोग होने का जोखिम काफी अधिक रहता है। 

सीलिएक रोग के लिए बचाव टिप्स (celiac disease prevention tips)

सीलिएक रोग से बचाव के लिए आपको अपने खान-पान पर खास ध्यान देने की जरूर होती है। अगर आप अपनी डाइट पर ध्यान देंगे, तो सीलिएक रोग के लक्षणों में कमी हो सकती है। इसके अलावा अगर आप इसके विपरीत डाइट फॉलो करेंगे, तो समस्या के लक्षण बढ़ भी सकते हैं। जानें सीलिएक रोग में क्या खाएं और क्या नहीं-

gluten free diet

  • 1.सीलिएक रोग एक आनुवांशिक रोग है, इसलिए इससे बचाव थोड़ा मुश्किल हो जाता है। इससे बचने के लिए आपको ग्लूटेन युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से हमेशा दूरी बनाकर रखनी चाहिए।
  • 2.ग्लूटेन फ्री फूड्स का सेवन करें। इसमें आप ग्लूटेन फ्री ब्रेड, पास्ता और कुकीज भी खा सकते हैं। 
  • 3.ओट्स और ओट्स से जुड़े खाद्य पदार्थों से परहेज करें।
  • 4.सोया सॉस, डिब्बाबंद सूप और आइसक्रीम के सेवन से भी बचें।
  • 5.चटनी, मसाला और कैचअप में भी ग्लूटेन होता है, इसलिए आपको इनके सेवन से भी बचना चाहिए।
  • 6.गेहूं, राई, चोकर, दलिया से बने खाद्य पदार्थों जैसे ब्रेड, पास्ता, बिस्कुट, केक और कुकीज का सेवन बिल्कुल न करें।

अगर आपको भी सीलिएक रोग के लक्षण दिखाई दे रहे हैं, तो आपको ग्लूटन युक्त आहार से पूरी तरह से दूरी बनाकर रखना चाहिए। साथ ही अगर आपके घर में भी किसी को यह रोग है, तो ग्लूटेन रिच डाइट के सेवन से बचें। लंबे समय तक इसके लक्षणों को नजरअंदाज करना कई अन्य समस्याओं को न्यौता दे सकता है, इसलिए इसके लक्षण दिखते ही डॉक्टर से संपर्क करें।

(main image source : internethaber.com)

Disclaimer