गर्दन की नसों में दर्द क्यों होता है? जानें छुटकारा पाने के लिए 5 घरेलू उपाय

Causes of nerve pain in neck home remedies: गर्दन की नसों में दर्द के कई कारण हो सकते हैं, जानें इससे छुटकारा पाने के लिए 5 घरेलू उपाय।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Aug 26, 2022Updated at: Aug 26, 2022
गर्दन की नसों में दर्द क्यों होता है? जानें छुटकारा पाने के लिए 5 घरेलू उपाय

Causes of nerve pain in neck home remedies: गर्दन में दर्द की समस्या का सामना हम आए दिन करते हैं। गर्दन में दर्द का एक बड़ा कारण नसों में सूजन है। गर्दन में दर्द मांसपेशियों में खिंचाव होने या फिर नसों में सूजन होने पर होता है। मांसपेशियों में दर्द होने पर आप बाम, सिकाई या कुछ पेन किलर की मदद से आसानी से राहत पा सकते हैं। लेकिन गर्दन की नसों में दर्द होने पर लोगों को काफी गंभीर दर्द, असहजता है का सामना करना पड़ता है। नसों में दर्द होने पर गर्दन से लेकर सिर तक काफी तकलीफ होती है। जिसमें पेन किलर्स लेने पर भी आराम नहीं मिलता है। वहीं अगर आप दर्द से राहत पाने के लिए ज्यादा पेन किलर लेते हैं, तो यह सेहत के लिए और भी नुकसानदायक हो सकता है।

बहुत से लोगों के मन में अक्सर यह सवाल आता है कि गर्दन की नसों में दर्द क्यों होता है? या गर्दन की नसों में दर्द के क्या कारण हैं? इस लेख में हम आपको गर्दन में दर्द के इलाज (gardan ki naso me dard ka ilaj) के लिए 5 घरेलू उपाय बता रहे हैं।

गर्दन की नसों में दर्द क्यों होता है- Causes Of Nerve Pain In Neck In Hindi

  • गर्दन की नसों में दर्द के कई कारण हो सकते हैं। लंबे समय तक एक ही मुद्रा में बैठे रहने से भी नसों में दर्द की समस्या होती है। इसके अलावा गर्दन के आसपास की मांसपेशियां और हड्डियां भी नसों पर दबाव डालती हैं।
  • गर्दन की नसों में दर्द का एक बड़ा कारण नसों में ब्लॉकेज या ब्लड सर्कुलेशन ठीक न होना भी है। क्योंकि जब आपकी नसों में ब्लड फ्लो ठीक से नहीं होता है और नसों में ब्लॉकेज होते हैं, तो इससे रक्त एक ही जगह रुक कर जमने लगता है। जिससे नसों में सूजन की समस्या होती है। इसके कारण नसों में गंभीर दर्द होता है, जो कंधों से लेकर गर्दन और सिर तक को प्रभावित करता है।

Causes of nerve pain in neck home remedies

गर्दन की नसों में दर्द का घरेलू उपचार- gardan ki naso me dard ka ilaj

1. गर्दन को स्ट्रेच करें

गर्दन में दर्द की समस्या मांसपेशियों में अकड़न के कारण भी होती हैं, जो आपकी नसों को भी प्रभावित करता है। स्ट्रेचिंग करने से नसों और मांसपेशियों दोनों को स्ट्रेच करने और ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने में मदद मिलती है। आपको गर्दन को आगे-पीछे, दाएं-बाएं चारों दिशाओं में स्ट्रेच करने की कोशिश करनी चाहिए। इससे नसों के दर्द में बहुत लाभ मिलेगा।

2. हल्दी का सेवन करें

हल्दी एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होती है, जिससे यह सूजन से लड़ने में बहुत लाभकारी है। साथ ही यह शरीर में ब्लड फ्लो को बेहतर बनाने में भी मदद करती है। जिससे ब्लॉकेज खोलने में मदद मिलती है और दर्द कम होने लगता है। आप हल्दी वाले दूध, सब्जियों में हल्दी और गुनगुने पानी में आधा चम्मच हल्दी मिलाकर इसका सेवन कर सकते हैं।

इसे भी पढें: घुटने के पीछे की नस में दर्द से छुटकारा दिलाएंगे ये 5 घरेलू उपाय

3. ऐसे फूड्स खाएं जिनसे ब्लड फ्लो बढ़े

अगर आप ब्लड फ्लो बढ़ाने वाले फूड्स का सेवन करते हैं, तो इससे नसों में ब्लॉकेज को खोलने में मदद मिलती है, और नसों में रक्त का संचार बिना रुकावट के होता है। इससे नसों में दर्द से की समस्या दूर हो जाती है। हल्दी के अलावा अनार, प्याज, लहसुन, अदरक आदि का सेवन भी ब्लड फ्लो बढ़ाने में बहुत लाभकारी है।

4. नसों और नसों के आसपास मांसपेशियों की सिकाई

सूजन को कम करने का अगर कोई सबसे प्रभावी घरेलू नुस्खा है तो वह है सिकाई करना। खासकर अगर आप गर्म सिकाई करते हैं, तो इससे सूजन को दूर और दर्द से जल्द राहत मिलती है। आप इसके लिए हॉट बैग का प्रयोग कर सकते हैं या फिर तवा गर्म करके किसी सूती कपड़े से गर्दन की नसों और मांसपेशियों की सिकाई कर सकते हैं। इससे ब्लड नसों में दौड़ने लगता है।

5. मालिश करना है बहुत लाभकारी

बाजार में कई आयुर्वेदिक तेल मौजूद हैं, जिन्हें कई दर्द निवारक आयुर्वेदिक औषधियों की मदद से तैयार किया जाता है। हालांकि आप घर भी तेल में हल्दी, लहसुन आदि डालकर और इससे गर्म करके भी दर्द निवारक तेल बना सकते हैं। इसके लिए सरसों का तेल सबसे अच्छा आता है। इस तेल से गर्दन की मांसपेशियों की अच्छी तरह मालिश करें। इससे नसों और मांसपेशियों का तनाव, सूजन कम होगी और दर्द से राहत मिलेगी।

इसे भी पढें: पैरों की नसों में दर्द से छुटकारा दिलाएंगे ये 5 घरेलू उपाय

अगर आपको इन उपायों की मदद से गर्दन की नसों में दर्द की समस्या में आराम नहीं मिल रहा है, तो आपको ऐसे में जल्द-जल्द डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए, क्योंकि यह किसी मेडिकल कंडीशन का संकेत भी हो सकता है।

All Image Source: freepik.com

Disclaimer

Tags