कोरोना काल में कैंसर का इलाज कराते समय बरतें ये सावधानियां, जानें एक्सपर्ट की राय

कोरोना काल में कैंसर का इलाज कराते समय मरीजों को विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है, कैंसर विशेषज्ञ से जानिए इस दौरान किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Jun 10, 2021
कोरोना काल में कैंसर का इलाज कराते समय बरतें ये सावधानियां, जानें एक्सपर्ट की राय

कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी ने पूरी दुनिया के लोगों को किसी न किसी रूप में प्रभावित किया है। एक तरफ जहां देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का कहर मौजूद है वहीं अब इसके तीसरे लहर की चर्चा भी जोर पकड़ रही है। यूं तो कोरोनावायरस संक्रमण की वजह से पहले से किसी भी बीमारी से ग्रसित लोगों को दिक्कतों का सामना तो करना ही पड़ा है लेकिन इनमें कैंसर की बीमारी से पीड़ित मरीजों को ज्यादा दिक्कतें झेलनी पड़ी है। कोरोना (Covid 19) की दूसरी लहर में कैंसर से पीड़ित मरीजों के इलाज और उनके देखभाल में भी दिक्कतें आयीं है। देश भर में कोरोना से बचाव के लिए सरकारों ने तमाम नियम और प्रतिबन्ध लगाये थे जिसके चलते कैंसर के इलाज से गुजर रहे लोगों को काफी दिक्कतें झेलनी पड़ी थी, लेकिन अब जब पूरे देश में प्रतिबन्ध खत्म हो रहे हैं तो कैंसर से पीड़ित मरीजों का इलाज आसानी से हो जा रहा है। अगर आप भी कोरोना महामारी के बीच कैंसर के इलाज से गुजर रहे हैं या आपके परिवार में कोई भी व्यक्ति ऐसी स्थिति में है तो यह जानकारी आपके लिए है। कोरोनाकाल के दौरान कैंसर के इलाज में किन सावधानियों का ध्यान रखना चाहिए और इस दौरान क्या करना चाहिए और क्या नहीं? इसे लेकर हमने बातचीत की मेट्रो हॉस्पिटल नोएडा के कैंसर विशेषज्ञ डॉ आर के चौधरी से, आइए जानते हैं उन्होंने हमारे साथ क्या जानकारी साझा की।

कोरोनावायरस और कैंसर का इलाज (Cancer Treatment During Covid Pandemic)

Cancer-Treatment-During-Covid-Pandemic

कोरोनावायरस महामारी ने कैंसर के इलाज सहित कई बीमारियों से जूझ रहे लोगों के इलाज को प्रभावित किया है। कैंसर के मरीज पहले से ही अपने इलाज के कारण इम्यूनोसप्रेस्ड हो जाते हैं, जिसका अर्थ है कि उनकी प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है और इसलिए उनमें कोरोना से संक्रमित होने का जोखिम भी ज्यादा हो जाता है। चूंकि ऑन्कोलॉजी में इलाज अक्सर कई प्रक्रियाओं के तहत होता है जिसमें क्लिनिक के दौरे, सर्जिकल स्टे, रेडिएशन थेरेपी अपॉइंटमेंट, इन्फ्यूजन सेशन आदि शामिल होते हैं। यही कारण है कि महामारी के दौरान कैंसर के मरीजों के इलाज पर सबसे ज्यादा असर पड़ने की बात कही जा रही है। महामारी की वजह से तमाम कैंसर के मरीजों की चिकित्सा में रुकावटें भी आयी हैं जिसके कारण उनका जोखिम और बढ़ गया है।

कोरोना काल में कैंसर के इलाज के दौरान जरूर बरतें ये सावधानी (Important Measures that Cancer Patients Should take During COVID-19) 

Cancer-Treatment-During-Covid-Pandemic

कोरोना संक्रमण ज्यादातर उन व्यक्तियों को अपने चपेट में लेता है जिनके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहद कमजोर या कम है। इस महामारी के दौरान कैंसर रोगियों के इलाज में भी दिक्कतें आयी हैं। वैसे, कैंसर के इलाज से गुजर रहे लोग पहले से ही इम्यूनोसप्रेस्ड होते हैं, जिससे उन्हें कोरोना संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाता है। एक तरफ जहां पूरे देश में कोरोना की दूसरी लहर का कहर जारी है वहीं अगर आप इनके बीच कैंसर का इलाज करवा रहे हैं तो इन बातों का ध्यान जरूर रखें।

इसे भी पढ़ें: क्या है पैराथायरॉइड कैंसर? जानें इसके कारण, लक्षण और उपचार

1. कैंसर के इलाज से गुजर रहे लोग अस्पताल जाने से पहले अपने चिकित्सक से टेली परामर्श के बारे में जानकारी जरूर लें। अगर आप की स्थिति ठीक है और बिना अस्पताल गए परामर्श के आधार पर इलाज हो सकता है तो अस्पताल जानें से बचना चाहिए। हालांकि कैंसर के इलाज के दौरान कई स्थितियों में जैसे  रेडियोलॉजी, बायोप्सी या ब्लड टेस्ट आदि के लिए अस्पताल जाना ही पड़ सकता है।

2. जिन रोगियों को हाल ही में कैंसर का पता चला है, उन्हें ऑन्कोलॉजिस्ट से परामर्श लेने के बाद अपना इलाज शुरू करना चाहिए और जिन रोगियों का पहले से कैंसर का इलाज हो रहा है उन्हें अपने इलाज को जारी रखना चाहिए। बीच में कैंसर के इलाज को रोकने से इस बीमारी से लड़ने में सफलता नहीं मिलती है।

इसे भी पढ़ें: कैसे होती है ब्रेन ट्यूमर की शुरूआत? एक्‍सपर्ट से जानें इससे जुड़ी सभी बातें

3. इलाज कर रहे ऑन्कोलॉजिस्ट से कीमोथेरेपी से इम्यूनोसप्रेशन सहित साइड इफेक्ट को कम करने के बारे में जानकारी जरूर लेनी चाहिए। इस स्थिति में डॉक्टर कीमोथेरेपी की खुराक में कमी या सहायक दवाओं के उपयोग आदि का सुझाव दे सकते हैं।

4. अगर आपको इलाज के लिए रेडियोथेरेपी की सलाह दी गयी है तो इस समय अपने चिकित्सक से रेडियोथेरेपी के छोटे विकल्प हाइपो फ्रैक्शनेटेड रेडियोथेरेपी के बारे में जरूर पूछें। वर्तमान परिस्थिति के हिसाब से हाइपो-फ्रैक्शनेड रेडियोथेरेपी सुरक्षित और प्रभावी मानी जा रही है और इससे अस्पताल जाने से बचा भी जा सकता है।

5. कैंसर के इलाज से गुजर रहे लोग ऑन्कोलॉजिस्ट की देखरेख में घर पर हार्मोन थेरेपी और ओरल टारगेटेड थेरेपी जैसे उपचार ले सकते हैं। अगर आपको भी इन उपचार के बारे में कहा गया है तो अपने चिकित्सक से घर पर रहकर इसे लेने के विकल्पों के बारे में बात जरूर करें।

इसे भी पढ़ें: कैंसर की तरह दिखने वाला 'बिनाइन ट्यूमर' भी हो सकता है खतरनाक, जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

कैंसर के मरीज कब लगवाएं कोरोना का टीका? (Cancer Patient and Covid Vaccine)

Cancer-Treatment-During-Covid-Pandemic

कैंसर की बीमारी से जूझ रहे मरीजों को अपने इलाज में देरी या लापरवाही नहीं करनी चाहिए। जिन मरीजों का इलाज चल रहा है उन्हें अपने चिकित्सक की सलाह के बाद ही कोरोना की वैक्सीन लगवानी चाहिए। अगर आप सर्जरी, विकिरण, कीमोथेरेपी, इम्यूनोथेरेपी, या स्टेम सेल प्रत्यारोपण आदि से गुजर रहे हैं तो चिकित्सक इसके आधार पर ही आपको टीका लगवाने के सलाह देगा। अगर आपने कोरोना का टीका लगवाया है तो इसके 2 सप्ताह बाद ही इम्यूनोसप्रेसिव उपचार लेना चाहिए।

इसके अलावा कैंसर के मरीजों को कोरोनावायरस महामारी से बचने के लिए विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। वैज्ञानिकों ने कोरोना के तीसरी लहर के आने की आशंका व्यक्त की है ऐसे में कैंसर रोगियों को इससे बचने के लिए इन उपायों का पालन जरूर करना चाहिए।

  • सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देशों का पालन।
  • डबल मास्क लगाएं और अपने मुंह और नाक को ढककर रखें।
  • हाथों को समय-समय पर सैनिटाइजर या साबुन की सहायता से साफ करें।
  • सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करें।
  • अस्पताल में जाने पर विशेष सावधानी बरतें।
  • घर पर रहे और स्वस्थ रहें।
Cancer-Treatment-During-Covid-Pandemic

हमें उम्मीद है कि कैंसर के इलाज पर कोरोना के प्रभाव और सावधानी पर आधारित यह जानकारी आपको पसंद आयी होगी। अनिश्चितता के इस समय में कैंसर रोगियों को योग और ध्यान का अभ्यास करके मानसिक रूप से सकारात्मक रहना चाहिए। दवा के अलावा जीवन के प्रति सकारात्मक नजरिया रखना भी जरूरी है। अगर आप चिकित्सक की बताई गयी इन बातों का पालन करेंगे तो आपके स्वास्थ्य को सुधरने में ज्यादा वक्त नही लगेगा और इसकी वजह से होने वाली दिक्कतों से भी दूर रहेंगे। अगर आपके पास कैंसर से जुड़े किसी मुद्दे पर कोई सवाल है तो उसे आप कमेंट बॉक्स में लिखकर हम तक भेज सकते हैं, हम आपके सवाल का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे।

Read More Articles on Cancer in Hindi

Disclaimer