Bloating: ब्लोटिंग (पेट फूलने) की समस्या क्यों होती है? जानें इसके कारण, लक्षण और आसान उपचार

Bloating in hindi: ब्लोटिंग (पेट फूलने) के कई कारण हो सकते हैं जिनमें कि खराब लाइफस्टाइल से लेकर कुछ गंभीर बीमारियां तक शामिल हैं। 

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Feb 09, 2022Updated at: Feb 09, 2022
Bloating: ब्लोटिंग (पेट फूलने) की समस्या क्यों होती है? जानें इसके कारण, लक्षण और आसान उपचार

ब्लोटिंग की समस्या (bloating meaning in hindi) अक्सर लोगों को परेशान करती है। ब्लोटिंग होने पर पेट में सूजन हो जाती है। यह तब होता है जब आपका जीआई ट्रैक्ट (gastrointestinal tract) हवा या फिर गैस से भर जाता है। जीआई ट्रैक्ट में आपका पूरा पाचन तंत्र शामिल होता है, यानी कि मुंह से लेकर गुदा तक। इस दौरान पेट भरा हुआ महसूस होता है और कई बार आपको असहज कर देता है। कई बार तो, इसके कारण सांस फूलने लगता है, पसीना आने लगता है और बेचैनी महसूस होती है। साथ ही कुछ लोग ब्लोटिंग होने पर कपड़ों के टाइट होने तक की शिकायत करते हैं। तो, ऐसे में जरूरी ये है कि आप ब्लोटिंग के कारणों, लक्षणों और उपचारों के बारे में जानें और इससे बचने की कोशिश करें। 

Insideeatingtoofast

ब्लोटिंग की समस्या क्यों होती है- Bloating causes in hindi

1. तेजी से खाना खाने के कारण

ब्लोटिंग तब होती है जब जीआई ट्रैक्ट हवा और गैस भर जाती है और ये चीज जल्दी-जल्दी खाना खाने के दौरान हो सकती है।  दरअसल, जब आप जल्दी-जल्दी खाते हैं तो, खान के साथ पेट में हवा भी भरने लगता है जिससे खाने के बाद आपको ब्लोटिंग की समस्या हो जाती है। साथ ही च्यूइंग गम चबाने से भी आपको ब्लोटिंग की समस्या हो सकती है। 

2. अपच के कारण

खराब डाइट प्लॉन फॉलो करने से या फिर खान-पान गलत तरीका अपनाने से आपको अपच हो सकता है। अपच तब होती है जब आपका खाना सही से पच नहीं पाता है और गैस के साथ पेट को भरने लगता है। ये कई कारणों से हो सकता है। जैसे कि ज्यादा खाना खाने से और गलत समय पर खाना खाने से। ऐसे में ये गैस डकार और पेट फूलने के माध्यम से शरीर से बाहर निकलने की कोशिश करती है। गैस जमा होने के अलावा गैस ना निकल पाना भी ब्लोटिंग का कारण बन जाता है।

इसे भी पढ़ें : एक मिनट में कितनी बार सांस लेना है नॉर्मल? जानें उम्र के अनुसार कितना होना चाहिए सामान्य रेस्पिरेशन रेट

3. फूड इंटॉलरेंस

फूड इंटॉलरेंस यानी कि जब आपका शरीर कुछ खास खाद्य पदार्थों को नहीं पचा पाता है तो आपको ब्लोटिंग की समस्या हो सकती है। दरअसल, ये तरह का इंफेक्शन होता है। जैसे कि आपने कोई ऐसी चीज खाई है जो कि आपका पेट पचा नहीं पा रहा है तो इससे आपके पेट में सूजन हो जाएगी और आप ब्लोटिंग महसूस करने लगेंगे। 

Insidefoodintolerance

4. कब्ज के कारण

कब्ज अक्सर पेट में सूजन का कारण बनता है। पर कब्ज के पीछे कई कारण हो सकते हैं, जिनके बारे में जान कर ही आप इस समस्या से बच सकते हैं। जैसे कि शरीर में पानी की कमी के कारण, आहार में पर्याप्त फाइबर ना होने से, कुछ पेट के रोगों के कारण, मैग्नीशियम सहित कुछ पोषक तत्वों की कमी से और प्रेग्नेंसी के कारण। इन तमाम स्थितियों में लोगों को कब्ज की समस्या हो जाती है।

5. पीरियड्स में

पीरियड्स होने से पहले या फिर पीरियड्स के दौरान कई बार लोगों को ब्लोटिंग की समस्या महसूस होती है। ये हार्मोनल असंतुलन के कारण होता है। दरअसल, पीरियड्स के दौरान एस्ट्रोजन बढ़ने से शरीर में वॉटर रिटेंशन यानी कि पानी की मात्रा बढ़ जाती है जिससे कि पेट में सूजन आ जाती है और ब्लोटिंग की समस्या होती है। 

साथ ही, ब्लोटिंग के कुछ गंभीर कारण भी हो सकते हैं जैसे कि कैंसर, लिवर से जुड़े रोग, किडनी फेल्योर, जीआई पथ में बैक्टीरियल इंफेक्शन के कारण। इन तमाम कारणों से आपको ब्लोटिंग की समस्या महसूस हो सकती है।

ब्लोटिंग के लक्षण-Bloating symptoms in hindi

सूजन के सामान्य लक्षणों में आप पेट दर्द, बेचैनी और गैस शामिल हैं। साथ ही आपको बार-बार डकार आ सकती है या पेट में गड़गड़ाहट महसूस हो सकती है। इसके अलावा इसके कुछ अन्य गंभीर ल Lक्षण महसूस हो सकते हैं जैसे कि

  • -मतली
  • -उल्टी करना
  • -दस्त
  • -मल में खून आना
  • -तेजी से वजन घटना
  • -संक्रमण होने पर बुखार

इसे भी पढ़ें : Vertigo: वर्टिगो (चक्कर आने) का कारण क्या है? जानें इसके लक्षण, इलाज और बचाव के उपाय

ब्लोटिंग के उपचार- How to get rid of bloating in hindi

ब्लोटिंग के इलाज के लिए (bloating treatment in hindi) वैसे तो डॉक्टर एंटासिड और कुछ अन्य दवाएं देते हैं। लेकिन कुछ घरेलू नुस्खों की मदद से आप इस समस्या से निजात पा सकते हैँ। जैसे कि

  • -पेट पर हीट पैड लगाने और पेट सेकने से
  • -पुदीना खाने से या पुदीने की चाय पीने से
  • -हींग और अदरक का सेवन करने से
  • -अजवाइन का पानी पीने से
  • -कब्ज दूर करने के लिए फाइबर से भरपूर फूड्स लेने से 
  • -ढीले कपड़े पहनें और थोड़ा वॉक करें। 

इस तरह आप इन ब्लोटिंग की समस्या से निजात पा सकते हैं। पर अच्छा यही होगा कि आप इससे बचने की कोशिश करें जिसके लिए रोजाना एक सही लाइफस्टाइल और डाइट फॉलो करें। साथ ही एक्सरसाइज और योग भी करें।

All images credit: freepik

Disclaimer