खरोंच से लेकर माइग्रेन तक को जड़ से खत्‍म करता है ये तेल

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 20, 2017
Quick Bites

  • इसमें 150 से अधिक सक्रिय घटक होते हैं।
  • इसके साथ-साथ इसमें सूजन विरोधी, फंगसरोधी के गुण होते हैं।
  • पीड़ा हटानेवाली, शांतिदायक और सन्तोष दिलाने के गुण होते हैं।

लैवेंडर अनेक गुणों से भरपूर होता है। यह एक प्रकार का पौधा (जड़ी बूटी) होता है। इसके तेल का उपयोग कॉस्मेटिक और चिकित्सा परियोजन के लिए किया जाता है। इसके तेल में पुष्प घास की सुगंध है जो मन और शरीर को आराम देती है और ताज़ा महसूस कराती है।  इसमें 150 से अधिक सक्रिय घटक होते हैं। इसके साथ-साथ इसमें सूजन विरोधी, फंगसरोधी, सूक्ष्मजीवी रोधी, आक्षेपनाशक, अवसादरोधी, रोगाणुरोधी, जीवाणुरोधी, पीड़ा हटानेवाली, शांतिदायक और सन्तोष दिलाने के गुण होते हैं।

लैवेंडर तेल को सामान्यतः भाप आसवन द्वारा लैवेंडर के पौधों से निकाला जाता है। परंपरागत रूप से इसे एक प्राकृतिक एंटीसेप्टिक के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है। एरोमाथेरेपी में भी इसका प्रयोग होता है, क्‍योंकि यह दिमाग को सुकून पहुंचाता है।

इसे भी पढ़ें: नाखून का बदला हुआ ये रंग 50 बीमारियों का है संकेत

लैवेंडर का तेल और औषधीय लाभ

  • शक्तिशाली एंटीसेप्टिक गुणों के चलते लैवेंडर का तेल सेल के विकास को बढ़ा सकता है और घाव के ऊतक के गठन में सहायता करता है। इसलिये ही इसे यह घावों, जले हुए और सन बर्न को तेजी से ठीक करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। जिस प्रकार से लैवेंडर ऑयल खरोंच व घावों के लिए लाभदायक है, यह कुछ त्वचा रोगों जैसे मुंहासे, जले हुए पर, शुष्क त्वचा, एक्जिमा, खुजली वाली त्वचा, धूप की कालिमा और त्वचा की सूजन आदि के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।  
  • लैवेंडर ऑयल से आंखों की थकान दूर हती है। इसके उपयोग के लिए एक कटोरे में आधा लीटर पानी लें और उसमें कुछ बूंदे लैवेंडर ऑयल की डालें। इससे अच्छी तरह से मिलाने के बाद कॉटन बॉल को इस मिश्रण में डालें। अब इस कॉटन को आंखों पर 5 मिनट के लिए रखें। इससे आंखों की थकान दूर होगी व अंगर आई सर्कल से बचाव होगा।  
  • लैवेंडर ऑयल में एक ऐसी शांत खुशबू (अरोमा) होती है जोकि इसे एक उत्कृष्ट तंत्रिका टॉनिक बनाता है। यह सिरदर्द, चिंता, अवसाद, तंत्रिका तनाव और भावनात्मक तनाव को ठीक करने में सहायक होता है।

इसे भी पढ़ें: बड़े शहरों में वायु प्रदूषण से फैल रही है ये गंभीर बीमारी!

  • लैवेंडर का तेल सोने में परेशानी या नींद न आने की समस्या को दूर करता है। यह तेल नींद की गुणवत्ता और अवधी में सुधार करता है। क्योंकि अनिंद्रा कई रोगों का कारण बनती है, लैवेंडर ऑयल इसके लिए एख कारगर उपाय होता है।
  • लैवेंडर का तेल तंत्रिका तंत्र के लिए एक उत्कृष्ट टॉनिक होता है। यह तेल तंत्रिका थकावट और बेचैनी को दूर करने के लिए जाना जाता है। साथ ही यह मानसिक गतिविधि को बढ़ाता है और उसे शांत भी बनाता है।  
  • पाचन संबंधी मुद्देलैवेंडर पाचन पथ के अस्तर को आराम पहुंचाता है तथा आंत की गतिशीलता को बढ़ा देता है। इसके अलावा लैवेंडर आमाशय रस के उत्पादन को भी बढ़ाता है, और इस तरह से अपच, पेट में दर्द, पेट फूलना, उल्टी और दस्त आदि का इलाज करता है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Other Disease In Hindi

Loading...
Is it Helpful Article?YES873 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK