पेंटिग, डांसिंग, राइटिंग जैसे क्रिएटिव काम करने से मिलते हैं आपके मन-मस्तिष्क को कई फायदे, जानें इनके बारे में

आप भी फ‍िज‍िकल और मेंटल बीमार‍ियों को दूर करना चाहते हैं तो अपनी पसंदीदा हॉबीज को स्‍टॉर्ट करें इससे माइंड र‍िलैक्‍स होगा और बॉडी हील होगी 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Feb 21, 2021Updated at: Feb 21, 2021
पेंटिग, डांसिंग, राइटिंग जैसे क्रिएटिव काम करने से मिलते हैं आपके मन-मस्तिष्क को कई फायदे, जानें इनके बारे में

क्‍या आपने कभी सोचा है हॉबीज से सेहत सुधारी या बनाई जा सकती है? जी हां हॉबीज और हेल्‍थ का गहरा नाता है। आप चाहें लिखना चाहते हों या पेंट‍िंग आपको भाती हो इससे आपकी सेहत पर अच्‍छा असर पड़ता है। एक्‍टिंग, डांस, म्‍यूज‍िक, कुक‍िंग आद‍ि हॉबीज से द‍िमाग शांत रहता है और तनाव कम होता है। मानसिक ही नहीं बल्‍क‍ि शारीर‍िक दर्द को कम करने के ल‍िए भी आप हॉब‍ीज का सहारा ले सकते हैं। आज हम आपको बताएंगे क‍ि क‍िस हॉबी को करने के बाद आपको कौनसे हेल्‍थ बेनीफ‍िट म‍िलेंगे। इस बारे में ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के बोधिट्री इंडिया सेंटर की काउन्‍सलिंग साइकोलॉज‍िस्‍ट डॉ नेहा आनंद से बात की।

hobbies can make you healthy 

1. लाफ्टर इस द बेस्‍ट मेड‍िस‍िन - एक्‍ट‍िंग, गार्डनिंग या कुक‍िंग (Hobbies like acting gardening cooking helps to stay happy)

बहुत से लोग गार्ड‍िन‍िंग के शौकीन होते हैं, कुछ को एक्‍ट‍िंग में द‍िलचस्‍पी होती है तो कुछ कुक‍िंग करके अच्‍छा फील करते हैं। ये सब क्र‍िएट‍िव एक्‍ट‍िव‍िटीज हैं, इन्‍हें करने से ट्रॉमा जैसी समस्‍या से छुटकारा म‍िलता है। इससे नेग‍िट‍िव फील‍िंग हटती है और द‍िमाग और बॉडी शांत होती है। इन एक्‍ट‍िव‍िटीज को करने से आप खुशी महसूस करते हैं और डॉक्‍टर की भाषा में कहा जाए तो लॉफ्टर इस द बेस्‍ट मेड‍िस‍िन यानी खुश रहना मरीज के ल‍िए सबसे बेस्‍ट दवाई है

2. पेंट‍िंग करेंगे तो नहीं होगा मूड स्‍व‍िंग (Start painting to control mood swings)

पेंट‍िंग एक क्र‍िएट‍िव फॉर्मेट है इसका इस्‍तेमाल भी बहुत सी मानस‍िक  बीमार‍ियों को ठीक करने के ल‍िए क‍िया जाता है। आज के समय में लोगों को स्‍ट्रेस के चलते मूड स्‍व‍िंग की समस्‍या बढ़ रही है। अगर आप पेंट‍िंग को अपनाते हैं तो आपको ऐसी समस्‍याओं से न‍िजात म‍िलेगा। इससे आपकी पूरी हेल्‍थ सुधरेगी। आपका मूड अच्‍छा रहेगा तो द‍िमाग से डोपामाइन नाम का कैम‍िकल र‍िलीज होगा ज‍िसका काम ही है हमें मोट‍िवेट करना। पेंट‍िंग के ल‍िए आपको बच्‍चा होना जरूरी नहीं है, इन द‍िनों बाजार में एडल्‍ट कलर‍िंग बुक्‍स भी उपलब्‍ध हैं। 

इसे भी पढ़ें- घर में लगाएं ये 7 पौधे, पॉजिटिव एनर्जी और खुशनुमा माहौल के साथ मिलेंगे कई फायदे

3. डांस अपनाएंगे तो ब्‍लड प्रेशर रहेगा नॉर्मल (Dancing can control blood pressure)

dance can reduce stress

मानस‍िक ही नहीं बल्‍क‍ि क्र‍िएट‍िव एक्‍टीव‍िटीज के शारीर‍िक फायदे भी हैं जैसे डांस। हम सब जानते हैं क‍ि डांस करने से बॉडी फ‍िट रहती है। एरोब‍िक डांस या जुंबा तो खासकर वजन कम करने के ल‍िए जाना जाता है ज‍िसमें कसरत और डांस दोनों शाम‍िल होते हैं। वहीं र‍िसर्च के मुताब‍िक अगर आप जुंबा या डांस करते हैं तो आपका ब्‍लड प्रेशर कंट्रोल में रहेगा।  

4. स्‍ट्रेस कम करता है म्‍यूज‍िक (Music helps to reduce stress)

म्‍यूज‍िक को कई थेरेपी में इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। इससे ब्रेन में स‍िगनल बनते हैं और ब्रेन स्‍ट्रेस को कम कर देता है। म्‍यूज‍िक को अपने रूटीन में शाम‍िल करने से द‍िमाग के लेफ्ट और राइट पार्ट में कनेक्‍ट‍िव‍िटी बढ़ती है ज‍िससे आपकी मेंटल हेल्‍थ सुधरती है। इस बात के सबूत भी हैं क‍ि गाने को अगर हम हॉबी बना लें तो हमारी तबीयत में सुधार आएगा। 

इसे भी पढ़ें- हेल्दी बॉडी के लिए जान लें सोने का सही समय, एक्सपर्ट बता रहे हैं 7 टिप्स जिनसे जल्दी आएगी गहरी नींद

5. क्रोन‍िक पेन कम करने के ल‍िए उठाएं कलम (Writing can help in reducing chronic pain)

ल‍िखना भी एक तरह की क्र‍िएट‍िव एक्‍टीव‍िटी है। ल‍िखने से आपका मन हल्‍का होता है। अगर आपको क्रोन‍िक पेन है तो इन क्र‍िएट‍िव एक्‍टीव‍िटीज से उसे ठीक क‍िया जा सकता है। एक शोध के मुताब‍िक जो लोग ल‍िखते हैं या उसे हॉबी की तरह इस्‍तेमाल करते हैं वो गुस्‍से पर काबू पा सकते हैं क्‍योंक‍ि लिखने के जर‍िए वो अपने मन की बात न‍िकाल देंगे। न स‍िर्फ इससे मन हल्‍का होगा बल्‍क‍ि क‍िसी को दर्द है तो वो भी ठीक होता है। 

तो इस तरह आप अपनी पसंदीदा हॉबी की मदद से अपनी बॉडी को र‍िलैक्‍स और ड‍िसीज फ्री बना सकते हैं। 

Read more on Mind Body in Hindi

Disclaimer