एक्‍सपायर हो चुकी इन दवाओं का गलती से भी न करें इस्‍तेमाल, जानिए क्‍यों एक्‍सपायरी दवाओं का सेवन है जानलेवा

एक्सपायरी दवाओं का सेवन करने से कई दुष्‍परिणाम देखने को मिल सकते हैं। दवाओं का सेवन करने से पहले कुछ बातों का ध्‍यान रखना जरूरी है।

सम्‍पादकीय विभाग
विविधWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Aug 10, 2020
एक्‍सपायर हो चुकी इन दवाओं का गलती से भी न करें इस्‍तेमाल, जानिए क्‍यों एक्‍सपायरी दवाओं का सेवन है जानलेवा

हमें बचपन से ही घर में ये बताया जाता है कि एक्सपायर हो चुकी दवाओं का सेवन कभी भी नहीं करना चाहिए। दवाओं के एक्सपायर होते ही उन्हें तुरंत फेंक देना चाहिए। बताया जाता है कि एक्सपायरी डेट वह तारीख होती है, जिसके बाद से दवा अपना प्रभाव दिखाना बंद कर देती है। हालांकि, बहुत से लोगों का यह भी कहना होता है कि एक्सपायरी डेट महज एक भ्रम है और पुरानी से पुरानी दवाएं खायी जा सकती है। इसके अतिरिक्त कईयों को यह भी मालूम नहीं होता है कि एक्सपायरी डेट का मतलब क्या होता है? और एक्सपायरी डेट के बाद दवाओं का सेवन सही है या गलत? 

एक्सपायरी का नाम आते ही लोगों के मन में कई सवाल खड़े होने लगते है। आज हम आपको अपने इस लेख के जरिए आपके इन सवालों का जवाब देंगे। जिसके जरिए आप खुद को, अपने घरवालों व अन्य किसी भी व्यक्ति के जीवन को सुरक्षित बनाने व बेहतर करने में मदद कर सकेगें।

Expired-Medicines

क्या होती है दवा की एक्सपायरी डेट - What is the date of expired medicines?

सबसे पहले ये जानना जरूरी है कि दवा पर अंकित एक्सपायरी डेट का मतलब क्या होता है? आप कोई भी दवा खरीदें या स्वास्थ्य से जुड़ी कोई भी पदार्थ खरीदते हैं, तो आपको उस दवा या पदार्थ में दो चीजें स्पष्ट नजर आयेंगी। पहली मैनुफैक्चरिंग डेट यानी दवा किस दिन बनायी गई और दूसरी एक्सपायरी डेट यानी वह तारीख जिसके बाद से दवा के प्रभाव की गांरटी उसके बनाने वाली कंपनी नहीं लेगी। ज्यादातर दवाएं अलग-अलग तरह के केमिकल से बनाए जाते है, और ये केमिकल समय के साथ-साथ अपने असर को भी बदलते जाते हैं। हवा, नमीं, गर्मी इत्यादि कई वजहों से इन दवाओं की प्रभावशीलता धीरे-धीरे घटने लगती है। जिसके वजह से ऐसी दवाओं के साइड इफेक्ट या दुष्परिणाम भी हो सकते है। इन्हीं सब कारणों व कानूनी पचड़ों से बचने के लिए दवा बनाने वाली कंपनियां अपने उत्पादों पर एक्सपायरी डेट डालती हैं। 

क्या एक्सपायरी डेट के बाद खराब हो जाती है दवाएं- Are medicines spoiled after expiry date?

अमेरिका के मेडिकल संगठन AMA ने 2001 के एक जांच में 122 अलग-अलग दवाइयों के 3000 बैच लिए और उनकी स्थिरता जांची। इस स्थिरता के आधार पर AMA ने करीब 88% दवाइयों की एक्सपायरी डेट करीब 66 महीनें तक आगे बढ़ा दी। इसका मतलब साफ है कि अधिकतर दवाओं के कार्य करने की क्षमता उसपर अंकित एक्सपायरी डेट से बहुत अधिक होती है। 

क्या एक्सपायरी डेट के बाद दवाएं खायी जा सकती हैं- Can medicines be taken after expiry date? 

इससे जुड़ी बहुत अधिक जानकारी उपलब्ध नहीं है, पर तथ्यों व शोध से हम यह समझ सकते है कि अगर कोई दवा, टैबलेट या कैप्सूल के रूप में है तो उसका प्रभाव उसकी एक्सपायरी डेट के बाद भी लंबे वक्त तक रहता हैं। लेकिन सिरप, आंख व कान वाले ड्राप और इंजेक्शन को एक्सपायरी डेट के अवधि के बाद कभी भी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: डॉक्टर की सलाह के बगैर न खाएं 'लाल लकीर' वाली दवाईयां, जानें क्‍यों है ये खतरनाक

Expired-Medicines

एक्पायर होते ही कौन-सी दवाएं बन जाती है जानलेवा- Which medicines become fatal after being expired?

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन द्वारा ऐसी कुछ दवाएं बतायी गयी हैं जिन्हें उनकी एक्सपायरी डेट के बाद बिल्कुल भी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। जैसे: 

इंसुलिन: डायबिटीज के मरीजों के लिए यह दवा बेहद जरूरी है। ये दवा अपनी एक्सपायरी डेट के बाद खराब होने लगती है।

नाइट्रोग्लिसरीन: यह दवा दिल के मरीजों को सीने में दर्द होने पर दी जाती है। जैसे ही इसे एक बार खोला जाता है, इसका प्रभाव बहुत जल्द खत्म होने लगता है।

आई ड्रॉप: आंखों में डालने वाले ड्रॉप्स या किसी अन्य दवा की बोतल में अगर आपको सफेद रुई जैसा कुछ दिखने लगे तो बेहतर है कि उसका इस्तेमाल न करें औऱ उसे फेंक ही दें।

इसे भी पढ़ें: आंखों की दवा (आई ड्रॉप्स) के इस्तेमाल में बरतें सावधानी, छोटी सी गलती पड़ सकती है भारी

समझ न आये तो उपयोग बिल्कुल न करें- Don’t use if you don’t understand

अगर आपको दवाओं की एक्सपायरी के बारें में सही से समझ में न आये, तो बेहतर यह होगा कि आप उस दवा का इस्तेमाल न ही करें। अगर आपको दवा की बहुत जरूरत हो, तो आप किसी डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें तभी दवा का इस्तेमाल करें।

Read More Articles On Miscellaneous In Hindi

Disclaimer