World Hepatitis Day 2020: अमिताभ बच्चन को एक फैन की गलती के कारण हुआ था हेपेटाइटिस रोग, 75% हो चुका है खराब

एक फैन की गलती के कारण अमिताभ बच्चन हुए थे हेपेटाइटिस नामक लिवर की बीमारी का शिकार, आज भी अमिताभ के लिवर का 75% हिस्सा है खराब।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Aug 20, 2019
World Hepatitis Day 2020: अमिताभ बच्चन को एक फैन की गलती के कारण हुआ था हेपेटाइटिस रोग, 75% हो चुका है खराब

आज विश्व हेपेटाइटिस दिवस (World Hepatitis Day) है। क्या आप जानते हैं कि सदी के महानायक और बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन भी हेपेटाइटिस नामक इस बीमारी के शिकार हैं? अमिताभ ने एक कार्यक्रम के दौरान खुलासा किया था कि उनका 75% लिवर खराब हो चुका है। वो फिलहाल केवल 25% लिवर के सहारे अपनी जिंदगी जी रहे हैं। इसके साथ ही अमिताभ ने अपनी सेहत और बीमारियों के बारे में कई बड़ी बातें बताईं। 76 साल की उम्र में भी अमिताभ जितने फिट और एक्टिव हैं, उन्हें देखकर इस बात का अंदाजा लगाना मुश्किल है कि वो कई गंभीर बीमारियों से ग्रस्त हैं। इन दिनों अमिताभ बच्चन टीवी शो 'कौन बनेगा करोड़पति' के 11वें सीजन में अपनी दमदार आवाज़ के साथ एक बार फिर हाजिर हैं।

75% खराब हो चुका है अमिताभ का लिवर

अमिताभ बच्चन ने हाल में ही एक टीवी चैनल के कार्यक्रम के दौरान बताया कि उन्हें टीबी (Tuberculosis) है, जिसका पता उन्हें 8 साल बाद चला था। उन्होंने कहा कि, "मुझे सार्वजनिक रूप से यह बताने में कोई झिझक नहीं है कि मैं टीबी और हेपेटाइटिस बी का रोगी हूं।" इसके साथ ही उन्होंने अपनी सेहत के बारे में खुलासा करते हुए बताया कि उनका लिवर 75% तक खराब हो चुका है। चौंकाने वाली बात ये है कि इस बात का पता उन्हें 20 साल बाद चला और अब उनका सिर्फ 25% लिवर ही ठीक से काम कर रहा है, जिसके सहारे वो जी रहे हैं।

इसे भी पढ़ें:- अमिताभ बच्चन 76 साल की उम्र में भी कैसे हैं इतने फिट, ये हैं उनकी सेहत के 10 राज

दरअसल अमिताभ बच्चन ये बता रहे थे कि किसी भी गंभीर रोग का पता अगर समय रहते चल जाए, तो उसका इलाज आसानी से संभव है। उन्होंने लोगों को समझाया कि अपनी बीमारी की जांच कराएं, ताकि सही समय पर इलाज शुरू किया जा सके।

8 साल से टीबी का शिकार हैं अमिताभ बच्चन

अमिताभ ने बताया, "टीबी जैसी बीमारियों का इलाज संभव है। मुझे पिछले 8 साल से टीबी है, जिसका मुझे पता नहीं था। जो मेरे साथ हुआ है, वो किसी के साथ भी हो सकता है।" उन्होंने कहा कि अगर आप जांच नहीं करवाएंगे तो आपको रोग का पता नहीं चलेगा इसलिए सही समय पर जांच कराएं और फिर इलाज शुरू करें।
अमिताभ बच्चन भारत सरकार के लिए ढेर सारे स्वास्थ्य अभियानों से जुड़े रहे हैं, जिनमें टीबी, हेपेटाइटिस, पोलियो और कुष्ठ रोग आदि प्रमुख हैं।

इसे भी पढ़ें:- अमिताभ से सीखें लीवर की बीमारी में भी कैसे रहें फिट

एक फैन से मिली अमिताभ को हेपेटाइटिस की बीमारी

1992 में फिल्म कुली की शूटिंग के दौरान अमिताभ को गहरी चोट लगी थी, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अमिताभ उस समय बहुत ज्यादा बीमार थे और उन्हें खून की जरूरत थी। ऐसे में उनके तमाम फैंस ने उन्हें खून दिया, जिससे अमिताभ की जान बचाई जा सकी। अमिताभ बताते हैं कि उस दौरान उन्हीं में से किसी व्यक्ति के खून में हेपेटाइटिस बी का वायरस था, जिससे उन्हें ये बीमारी हो गई। आपको बता दें कि हेपेटाइटिस लिवर से जुड़ी एक गंभीर बीमारी है, जो लिवर को धीरे-धीरे खराब कर देती है। लगातार चेकअप के बाद सन् 2000 में अमिताभ को इस बात का पता चला था कि उन्हें हेपेटाइटिस बी हो गया है। इसके साथ ही उन्हें इस बात का भी पता चला कि उनका 75% लिवर खराब हो चुका है।

आपको बता दें कि व्यक्ति के स्वस्थ रहने के लिए लिवर का स्वस्थ रहना बहुत जरूरी है। मगर अगर अच्छे खानपान और सही देखभाल के साथ व्यक्ति 88% तक खराब हो चुके लिवर के साथ भी जी सकता है। यानी किसी व्यक्ति का लिवर सिर्फ 12% सही है, तो भी डॉक्टरी निर्देशों का पालन करके वो जिंदगी जी सकता है।

Read more articles on Other Diseases in Hindi

Disclaimer