मुहांसों से छुटकारा पाने के लिए इन 7 इंग्रेडिएंट्स को करें अपने स्किन केयर रूटीन में शामिल, एक्सपर्ट से जानें

अगर आपको मुहांसों की समस्या है, तो आप इन 7 इंग्रेडिएंट्स को अपने स्किन केयर रूटीन में शामिल कर सकती हैं। चलिए जानते हैं इनके बारे में

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Apr 29, 2021Updated at: Apr 29, 2021
मुहांसों से छुटकारा पाने के लिए इन 7 इंग्रेडिएंट्स को करें अपने स्किन केयर रूटीन में शामिल, एक्सपर्ट से जानें

आजकल कील-मुहांसों की समस्या बेहद आम हो गई है। खान-पान और गलत जीवनशैली की वजह से ज्यादातर लड़कियां मुहांसों की समस्या से परेशान रहती हैं। इसके लिए वे कई ब्यूटी ट्रीटमेंट लेती हैं और घरेलू नुस्खों का भी सहारा लेती हैं। लेकिन कई बार इन्हें ठीक करने में काफी समय लग जाता है। ऑयली स्किन के कारण भी अकसर कील-मुहांसों की समस्या होती है। उम्र बढ़ना भी मुहांसों की एक मुख्य वजह है। ये हमारी खूबसूरती को खराब कर देते हैं, ऐसे में इन्हें समय से ठीक करना बेहद जरूरी है। इसके लिए आप अपने स्किन केयर रूटीन में कुछ ऐसे इंग्रेडिएंट्स को शामिल कर सकती हैं, जो मुहांसों से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं। पचौली वैलनेस क्लीनिक की फाउंडर और कॉस्मेटोलॉजिस्ट से जानें कुछ ऐसे इंग्रेडिएंट्स के बारे में, जो मुहांसों से छुटकारा दिलाने में मददगार होते हैं। 

acid

1) सैलिसिलिक एसिड (Salicylic Acid)

इन दिनों अधिकांश पिंपल पैच सैलिसिलिक एसिड मुंहासों से लड़ने वाले तत्वों से इंफ्यूज्डि होते हैं। इसकी खास बात यह है कि इस पैच को लगाकर आप शॉवर भी ले सकते हैं और अपने चहरे को भी धो सकते हैं। आपको बस इतना ध्या न रखना है कि इसे जहां त्व।चा पर लगाएं, वह एरिया बिल्कुकल साफ होना चाहिए। वहां पर मॉयश्चराइजर या क्रीम आदि न लगी हो। नहीं तो इस पैच को चिपकाने में दिक्कचत हो सकती है। पैच आमतौर पर पारभासी होते हैं। कुछ पैच इतने पतले होते हैं कि वे आपकी त्वचा पर लगभग अदृश्य हो जाते हैं, जिससे मुंहासे भी बिल्कु ल लाइट लगने लगते हैं।   

इसे भी पढ़ें - रूखी और बेजान त्वचा से छुटकारा पाने के लिए इस्तेमाल करें ये फेस मास्क, कॉस्मेटोलॉजिस्ट से जानें बनाने का तरीका

2) एक्टिवेटेड चारकोल (Activated Charcoal)

क्या कोयले से खूबसूरती निखरती है? जी हां, चारकोल एक ऐसा ब्यूटी मेडिसिन है, जो आपके सौंदर्य निखार के साथ ही बालों के लिए भी वरदान है। एक्ने या मुहांसे होने का प्रमुख कारण होता है, रोमछिद्रों में डेड सेल्स (Dead Cells), सीबम (Seabam) और बैक्टीरिया (Bacteria) का जमा होना। बैक्टीरिया के कारण पिंपल्स, जलन, खुजली, लालिमा और सूजन आने जैसी समस्याएं होने लगती हैं। एक्टिवेटेड चारकोल में एंटी बैक्टीरियल या एंटी इंफ्लेमेटरी गुण (Anti Bacterial or Anti Inflammatory Properties) पाए जाते हैं। यही कारण है कि चारकोल स्किन के रोम छिद्र से इन हानिकारक बैक्टीरिया को हटाने में मदद करता है। ये स्किन पर आने वाली सूजन को दूर करने के साथ ही पोर्स को भी छोटा बनाने में मदद करता है। दाग-धब्बों को दूर करने के साथ ही एक्टिवेटेड चारकोल स्किन की सारी इंप्योरिटीज को भी दूर कर देता है।

charcol

3) रेटिनोल (Retinol)

सूर्य की हानिकारक किरणों (Harmful Rays of the Sun) और उम्र बढ़ने से हमारी स्किन डैमेज होने लगती है। स्किन का ग्लो कम हो जाता है। स्किन पर दाग-धब्बे और खुले रोमछिद्रों (Open Pores) की समस्या होने लगती है। वैसे तो बाजार में बहुत सारे क्रीम और लोशन उपलब्ध हैं। लेकिन इन सभी समस्याओं से छुटकारा पाने में रेटिनोल बेस्ड स्किन केयर हमारी सबसे अधिक मदद कर सकती है। स्किन की ढेरों समस्याओं को ठीक करने में सक्षम है। रेटिनोल के इस्तेमाल से यह समस्या खत्म हो सकती है। स्किन का ऑयल बैलेंस सही होने लगता है। जिससे त्वचा के खुले रोमछिद्र (Open Pores) ठीक हो जाते हैं और मुहांसे ठीक होने लगते हैं। रेटिनोल रिच स्किन केयर का इस्तेमाल करने से स्किन सूर्य के प्रति थोड़ी संवेदनशील हो जाती है। इसके लिए स्किन पर एक अच्छा एसपीएफ युक्त सनस्क्रीन (SPF Sunscreen) का इस्तेमाल जरूर करें। रेटिनोल का हमारी स्किन पर अधिक से अधिक फायदा हो, इसके लिए बेहतर होगा कि इसका इस्तेमाल शाम और रात को करें। यह चहरे पर बंद हुए पोर्स को खोलने में मददगार होता है। लेकिन इसका इस्तेमाल करने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लें। 

4) क्ले (Clay)

क्ले यानि मिट्टी। पुराने जमाने में महिलाएं चेहरे को निखारने के लिए बेसन या फिर मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल किया करती थीं। लेकिन आज के बदलते दौर में मुल्तानी मिट्टी के अलावा भी कई दूसरी मिट्टियों से फेस पैक तैयार किए जाते हैं। जैसे शरीर को फिट एंड फाइन रखने के लिए मैग्नीशियम, पोटैशियम और कैल्शियम (Magnesium, Potassium and Calcium) की जरूरत होती है। उसी तरह से त्वचा के सेल्स (Skin Cells) को भी हेल्दी बनाए रखने के लिए भी इन सभी चीजों की खास जरूरत पड़ती है। काओलिन क्ले और रीसेल क्ले से तैयार होने वाले फेस पैक में मैग्नीशियम, पोटैशियम और कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। यह चेहरे की नेगेटिव इलेक्ट्रोमैग्नेटिक (Negative Electromagnetic) को चार्ज करने का काम करता है। त्वचा के ब्लैकहेड्स और गंदगी (Blackheads and Dirt) को गहराई से साफ करने के लिए यह एक बेस्ट फेस पैक है।

clay

5) नींबू (Lemon)

नींबू को काटकर उसका रस एक छोटी कटोरी में नि‍चोड़ लें। इसमें थोड़ा नमक और शहद मिलाकर मिश्रण बना लें और प्रभावित जगह पर लगाएं। 15 मिनट के लिए सूखने दें और फिर त्वचा को गुनगुने पानी से साफ कर लें। इस उपाय को करने से चेहरे की रंगत में निखार आता है और कील-मुहांसों से भी छुटकारा मिलता है। यह एक नैचुरल इंग्रेडिएंट्स है, जिसका इस्तेमाल आप घर पर ही आसानी से कर सकती हैं। नींबू में विटामिन सी पाया जाता है, जो त्वचा में निखार लाता है और उसकी रंगत में सुधार करता है।

इसे भी पढ़ें - गर्मी में न करें ये 8 स्किन केयर मिस्टेक्स, एक्सपर्ट से जानें इनके बारे में

6) शहद (Honey)

पिंपल्स की समस्या से छुटकारा पाने के लिए शहद भी बहुत कारगर है। शहद को पिंपल्स पर लगा कर छोड़ दें। कुछ देर के बाद ठंडे दूध से चेहरे की मसाज करते हुए इसे हटा लें। 15 मिनट के इस उपाय को हफ्ते भर लगातार करने से पिंपल्स खत्म हो जाएंगे। यह एक बेहद ही कारगर उपाय है, जिसका इस्तेमाल आप घर पर ही आसानी से कर सकती हैं। इसके लिए आपको कोई कैमिकल बेस्ड प्रोडक्ट भी यूज नहीं करना होगा।

7) खीरे का रस (Cucumber)

अगर आप बाजार से कोई स्किन केयर प्रोडक्ट का इस्तेमाल नहीं करना चाहती हैं तो घर पर ही खीरे का इस्तेमाल कर सकती हैं। इसके लिए आपको खीरे का रस निकालकर इसे अपने चेहरे पर लगाना है और 15 मिनट बाद चेहरो धो देना है। इससे चेहरे से मुहांसे पूरी तरह से ठीक हो जाएंगे और आपको चमकदार, एकदम साफ चेहरा मिलेगा। आप चाहें तो खीरे के रस में गुलाब जल (Rose Water) भी मिला सकती हैं। इससे त्वचा से मुहांसे दूर होंगे और त्वचा एकदम चमकदार बनेगी।

इन बातों का भी रखें ध्यान (Keep These Things in Mind Too)

  • - मुहांसों से छुटकारा पाने के लिए रात को सोने से पहले क्ली जिंग (Cleansing) करना भी बेहद जरूरी है। 
  • - एक्नेी के लिए बाजार में मेडिकेटिड क्लींदजर (Medicated Cleanser) मौजूद हैं। 
  • - ऑयली (Oily) क्रीम और मॉयश्चराइजर का इस्तेहमाल न करें।
  • - पिंपल पर चंदन का पेस्टह लगाने से भी फायदा मिलता है।
  • - अगर स्किन पर रैशेज है, तो चंदन के पेस्टह में थोड़ा-सा गुलाब जल डालकर उसे पूरे चेहरे पर लगाएं। 20 मिनट के बाद सादे पानी से चेहरा धो लें

अगर आपके चेहरे पर भी मुहांसे हैं, तो आप भी इन इंग्रेडिएंट्स को अपने स्किन केयर रूटीन में शामिल कर सकती हैं। इनके इस्तेमाल से चेहरे के मुहांसे जल्दी ही ठीक हो जाते हैं। लेकिन इनको चेहरे पर इस्तेमाल करने से पहले एक बार हाथ पर ट्राई कर सकती हैं, इससे आपको पता चल जाएगा कि ये इंग्रेडिएंट्स आपको सूट कर रहे हैं या नहीं। आप चाहें तो एक बार अपने त्वचा रोग विशेषज्ञ से भी सलाह ले सकती हैं।

Read More Articles on Skin Care in Hindi

Disclaimer