इन 3 कारणों से रात में खाली पेट सोना हो सकता है खतरनाक, जानें क्यों जरूरी है रात का खाना

रात में अगर आप खाली पेट सोते हैं, तो आपको कई समस्याएं हो सकती हैं। इससे आपका वजन बढ़ता है और शरीर में हार्मोन्स की गड़बड़ी हो सकती है, जो खतरनाक है।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Nov 21, 2019
इन 3 कारणों से रात में खाली पेट सोना हो सकता है खतरनाक, जानें क्यों जरूरी है रात का खाना

अगर आप वजन बढ़ने के डर से या स्लिम होने के चक्कर में रात का खाना छोड़ देते हैं, तो ये आदत आपकी सेहत के लिए भारी पड़ सकती है। रात के समय खाली पेट सोने से आपको शारीरिक समस्याएं और बीमारियां हो सकती हैं। कई बार समय कम होने, गुस्से या चिंता के कारण भी लोग रात का खाना छोड़ देते हैं। मगर आपको बता दें कि ऐसा करना आपको बीमार बना सकता है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि भले आप पेट भरके खाना न खाएं, मगर रात में सोने से 2-3 घंटे पहले थोड़ी मात्रा में ठोस आहार बहुत जरूरी है। आइए आपको बताते हैं कि भूखे पेट सोने से आपको कौन सी परेशानियां हो सकती हैं।

खाली पेट सोने से बढ़ता है वजन

अक्सर लोग वजन घटाने के लिए ही खाना छोड़ते हैं। इसे वे डाइटिंग का नाम देते हैं। मगर डाइटिंग का अर्थ खाना छोड़ना नहीं, बल्कि सही खाना खाना है। आपको जानकर हैरानी हो सकती है कि अगर आप खाली पेट सोते हैं, तो आपका मोटापा और अधिक बढ़ सकता है। दरअसल देर तक भूखे रहने के कारण शरीर का मेटाबॉलिज्म रेट बहुत अधिक घट जाता है, जिसके कारण आपका शरीर फैट बहुत कम मात्रा में बर्न करना शुरू कर देता है। इसके अलावा कई बार देखा जाता है कि देर तक भूखा रहने के बाद लोग जब खाना खाते हैं, तो जरूरत से ज्यादा (ओवर ईटिंग) खा लेते हैं, जो शर्तिया आपका वजन बढ़ाएगा ही बढ़ाएगा।

इसे भी पढ़ें: भूखे होने पर क्‍यों आता है गुस्‍सा, वैज्ञानिकों ने किया खुलासा

बढ़ सकता है आपका स्ट्रेस

अगर आप रात में अक्सर भूखे पेट सो जाते हैं, तो ये आपके मस्तिष्क के तनाव यानी स्ट्रेस को बढ़ा सकता है। स्ट्रेस के कारण आपको रात में नींद न आने या गहरी नींद न सो पाने की समस्या हो सकती है। रोजाना रात में 7 से 9 घंटे की नींद जरूरी है। शरीर में पर्याप्त ग्लूकोज की कमी होने पर आपका मस्तिष्क स्ट्रेस हार्मोन्स रिलीज करने लगता है, जिसके कारण आपकी नींद उचट सकती है।

मूड स्विंग्स हो सकता है

मूड स्विंग्स को आसान भाषा में चिड़चिड़ापन भी कह सकते हैं, यानी एक समय मूड का सामान्य रहना और अगले ही पल छोटी सी बात पर बहुत ज्यादा गुस्सा आ जाना। भूखे पेट सोने से अक्सर लोगों में ये समस्या देखने को मिलती है। दरअसल आपके मूड को संतुलित रहने के लिए कार्बोहाइड्रेट्स की जरूरत होती है। कार्ब्स जब शरीर में जाते हैं, तो हैप्पी हार्मोन्स का स्राव होता है। लेकिन अगर आप खाली पेट सो जाते हैं, तो आपको मूड स्विंग्स की समस्या हो सकती है।

इसे भी पढ़ें: रोटी-सब्जी और दाल क्यों नहीं हैं रात के लिए सही खाना? जानें डायटीशियन की राय और डिनर के हेल्दी विकल्प

मोटापा घटाने के लिए क्या करें?

  • अगर आप मोटापा कम करने के लिए रात का खाना छोड़ रहे हैं, तो ऐसा न करें। इसके बजाय आप हेल्दी फूड्स खाने पर फोकस करें।
  • सुबह का नाश्ता भरपेट करें, जिसमें प्रोटीन और विटामिन्स से भरपूर चीजें हों, जैसे- ऑमलेट, पोहा, कच्चे फल, होल-व्हीट ग्रेन ब्रेड में बना सैंडविच, दलिया, बिना तेल का चीला, इडली, पेपर डोसा आदि।
  • दोपहर के खाने में आप थोड़ा सा कार्ब्स और हाई प्रोटीन और फाइबर वाली चीजें खाएं, जैसे- दाल, कच्चे सलाद, मल्टीग्रेन आटे से बनी रोटियां, कम तेल में पकी सब्जियां और थोड़ा सा चावल आदि।
  • इसके बाद शाम के स्नैक्स में आप हल्की-फुल्की चीजें जैसे- पॉप कॉर्न, बादाम, काजू, मूंगफली, भुने चने, सेब, अन्य फल और सब्जियां आदि खा सकते हैं।
  • रात का खाना हमेशा सोने से 2-3 घंटे पहले खा लें और खाना थोड़ा लाइट रखें, जैसे- खिचड़ी, दाल, रोस्टेड चिकन, दलिया, पनीर भुजरी, सलाद, फल आदि।

Read more articles on Mind & Body in Hindi

Disclaimer