वजन घटाने वाली Keto Diet से लेकर लंबी उम्र देने वाली Vegan Diet तक, पिछले 10 सालों में ये 10 डाइट रहीं पॉपुलर

पिछले 10 सालों में कई सारे डाइट प्लान आए, जिन्हें लोगों नें स्वास्थ्य लाभों के लिए अपनाया। तो, एक नजर डालते हैं इस दशक के 10 पॉपुलर डाइट पर।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariUpdated at: Nov 01, 2022 16:13 IST
वजन घटाने वाली Keto Diet से लेकर लंबी उम्र देने वाली Vegan Diet तक, पिछले 10 सालों में ये 10 डाइट रहीं पॉपुलर

बीते 10 सालों में दुनिया भर में काफी सारी चीजें बदलीं। बात अगर स्वास्थ्य की करें, तो बीते कुछ सालों में लोगों के अंदर अपने स्वास्थ्य को लेकर जागरूकता बढ़ी है। पहले जहां लोग सिर्फ कमाने और खाने भर तक की बातें करते थे, वहीं अब लोगों की जिंदगी में योगा, डाइट प्लान, वेट लॉस और मानसिक स्वास्थ्य जैसे स्वास्थ्य से जुड़ी बातों की भी जगह है। इसके अलावा पिछले 10 सालों में पूरे विश्व में स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए तमाम प्रकारों के स्वास्थ्य संगठनों की भी संख्या बढ़ी है। पर आज हम आपको किसी बीमारी या योग के बारे में नहीं बताएंगे, बल्कि ये बताएंगे कि पिछले 10 सालों में ऐसे कौन से डाइट थे, जो कि सबसे ज्यादा पॉपुलर रहे और जिन पर हेल्थ की दुनिया में लगातार चर्चा होती रही। तो, आइए जानते हैं  पिछले 10 सालों के 10  पॉपुलर डाइट (Diet Trends of the Decade)

insideyearwrapdietplan

पिछले 10 सालों के 10 पॉपुलर डाइट (Diet Trends of the Decade)

1.कीटो डाइट-Keto Diet

कीटो डाइट जिसे कीटोजेनिक डाइट भी कहा जाता है, ये पिछले 10 सालों में सबसे ज्यादा चर्चित रहा। ये एक हाई फैट डाइट है, जिसमें शरीर ऊर्जा के लिए फैट पर निर्भर करता है। इस डाइट में कार्बोहाइड्रेट बहुत कम और प्रोटीन बहुत ही मॉडरेट या नियंत्रित मात्रा में दी जाती है। इस डाइट के बारे में हमने अपनी एक्सपर्ट डायटिशियन स्वाती बाथवाल बात की, जो बताती हैं कि कीटो डाइट सॉट टर्म डाइट प्लान है। इस कारण से लोग इसे काफी ज्यादा पसंद करते हैं। इसके अलावा इसमें हमें वे सभी चीजें खाने के लिए मिलती हैं, जो अधिकतर लोगों को काफी ज्यादा पसंद होता है। जैसे- क्रीम, मलाई, मक्खन इत्यादि फैटयुक्त चीजें। इस डाइट का सबसे बड़ा फायदा ये है कि ये आसानी से वजन घटाने में हमारी मदद करता है। साथ ही इस बीच कीटो डाइट के कुछ नुकसान भी सामने आए, जिसके कारण लोगों को गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ा।

2. बैलेंस डाइट-Balanced Diet

बैलेंस डाइट को लेकर पिछले 10 सालों में ज्यादातर स्वास्थ्य संगठन मुखर रहीं। तमाम सरकारों ने अपने यहां लोगों तक संतुलित आहार पहुंचाने की बात कही और पोषण अभियान चलाया।किसी भी व्यक्ति के लिए बैलेंस डाइट जरूरी होती है, क्योंकि इससे शरीर को सही और पर्याप्त पोषक तत्व मिलते हैं। सही और संतुलित आहार में हरी सब्जियां, फल, डेयरी उत्पाद, अनाज के साथ-साथ लीन मीट, पोल्ट्री, मछली, बीन्स, अंडे और नट्स आदि शामिल हैं। इसके अलावा इसमें खाने की मात्रा को भी नियंत्रित करना होता है। जैसे कि महिलाओं के लिए 1,200-1,500 कैलोरी और पुरुषों के लिए 1,500-1,800 कैलोरी पर्याप्त कैलोरी मानी जाती है। हालांकि व्यक्ति की उम्र और शारीरिक स्थिति के अनुसार इसमें बदलाव आते रहते हैं।

insideketodiet

3. मेडिटेरियन डाइट -Mediterranean Diet

मेडिटेरियन डाइट असल में इटली और ग्रीस के पारंपरिक खाद्य पदार्थों पर आधारित है, जोकि हेल्दी माना जाता है। इस डाइट में ब्रेड, चावल व छिलके सहित आलू जैसी स्टार्च वाली चीजों के साथ फलों व सब्जियों को भरपूर मात्रा में खाने की परंपरा रही है। इसमें साबुत अनाज, सूखे मेवे, जैतून, सरसों, सोया और ऑलिव ऑयल का अदल-बदल कर प्रयोग को शामिल किया जाता है। इस डाइट की एक खास बात ये भी है कि इसमें  डाइट का प्रमुख कंपोनेंट ऑलिव ऑयल होता है और इसका खूब इस्तेमाल होता है।  इसे लेकर शोध बताते हैं कि इससे हार्ट अटैक का खतरा कम होता है और ये दिल के मरीजों के लिए एक परफेक्ट डाइट है।

4.डैश डाइट- Dash Diet

हाई ब्लड प्रेशर को रोकने या कंट्रोल करने के लिए डैश डाइट (Dash Diet)एक अच्छा डाइट प्लान है। इसे सबसे पहले नेशनल हार्ट, लंग और ब्लड इंस्टीट्यूट की पहल से चलाया गया था। डैश (DASH) का मतलब होता है 'डाइटरी एपरोच टू स्टॉप हाइपरटेंशन (dietary approaches to stop hypertension)। ये डाइट प्लान साबुत अनाज, फल और सब्जियां खाने और नमक सीमित करने पर जोर देता है। 

इसे भी पढ़ें : क्यों पॉपुलर है कीटो डाइट? एक्सपर्ट से जानिए इसके फायदे और नुकसान

5.इंटरमिटेंट फास्टिंग -Intermittent Fasting

इंटरमिटेंट फास्टिंग का मतलब है कि एक खास समय के लिए अपने कैलोरी सेवन को सीमित करना। इस आहार के इतिहास पर नजर रखें, तो यूनानियों और मिस्रियों ने लड़ाई के दौरान इस उपवास के तकनीक का इस्तेमाल किया था। ऐसा इसलिए है क्योंकि जब आप उपवास करते हैं, तो आपका शरीर नॉरपेनेफ्रिन नामक एक हार्मोन रिलीज करता है जो, फोकस, सतर्कता और ऊर्जा बढ़ाता है। इस डाइट को आप दो तरह से फॉलो कर सकते हैं। पहले में आपको 16 घंटों के लिए उपवास और 8-घंटे खाना खाना होता है और दूसरे में आपको 5 दिनों के लिए सामान्य रूप से खाना और 2 दिनों के लिए अपने कैलोरी को गंभीर रूप से सीमित कर दिन भर का उपवास करना होता है। इस डाइट प्लान को भी लोग वजन घटाने के लिए ही इस्तेमाल करते हैं।

6.जीएम डायट प्‍लान -GM Diet

जनरल मोटर्स कंपनी ने 1980 के दशक में अपने कर्मचारियों के बीच एक डायट प्‍लान दिया था ताकि वे चुस्‍त-दुरुस्‍त और स्‍वस्‍थ रह सकें। इसी डाइट को  जीएम डायट प्‍लान (GM Diet)कहते हैं। इसमें सप्‍ताह में कुछ खास किस्‍म की चीजों को ही खाने पर जोर दिया जाता था। इस तरह एक सप्‍ताह के भीतर ही इससे लोगों का काफी वजन कम हुआ। इस डायट में मुख्‍यत: कच्‍चे फल और सब्जियां खाने की अनुमति होती और मीट कम खाया जाता है इसलिए भी ये शाकाहारी लोगों में काफी फेमस है।

7.लो कार्ब डाइट -Low Carb Diet

लो-कार्ब डाइट में कार्बोहाइड्रेट की सामग्री सीमित करके वजन कम करने की योजना होती है। इसमें आप प्रोटीन युक्त चीजों को ज्यादा खा सकता है। साथ ही आप उन खाद्य पदार्थों को भी ज्यादा खा सकते हैं, जो कार्ब को नियंत्रित करता है। इसके अलावा आपको इसनें  रोटी, पास्ता, चावल, मिठाई जैसे हाई कार्ब वाली चीजों को खोने से बचना होता है । लो-कार्ब डाइट में आपको उच्च प्रोटीन खाद्य पदार्थ खाने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है, जैसे कि दूध, अंडे और पनीर और पनीर, फल और साबुक अनाज। ये वजन कम करने वालों के लिए काफी फायदेमंद है।

insidevegandiet

8.वेगन डाइट -Vegan Diet

वेगन डाइट में डेयरी प्रोडक्ट्स जैसे दूध, पनीर, अंडे और मांस को भी शामिल नहीं किया जाता है। वेगन डाइट में केवल फल, सब्जियां, सेम और नट्स शामिल होते हैं। यह सबसे स्वस्थ डाइट प्लान्स में से एक है। स्वस्थ तरीके से वजन घटाने की इच्छा रखने वाले लोगों लिए वेगन डाइट सबसे अच्छा तरीका है। यह शरीर में अतिरिक्त कैलोरी और फैट के सेवन से आपको रोकता है और प्रभावी ढंग से वजन कम करने में मदद करता है। वेगन डाइट में फाइबर, प्रोटीन और स्वस्थ फैट की अच्छी मात्रा होती है जो आपको ना केवल वजन कम करने में मदद करती हैं बल्कि आपके शरीर को स्वस्थ भी रखती है। 

इसे भी पढ़ें : आपके अच्छी सेहत के लिए फायदेमंद हैं ये 5 हाई कैलोरीज वाले फूड्स, वजन भी नहीं बढ़ाते और देते हैं एनर्जी

9. वेट गेन डाइट -Weight Gain Diet

वेट गेन डाइट प्लान वजन बढ़ाने के लिए नेचुरल डाइट प्लान है। वजन बढ़ाने के लिए इस डाइट प्लान में आपको प्रोटीन, कार्ब और फैट की सही मात्रा लेनी होती है। इसमें केला, बादाम, प्रोटीन शेक और अंडे आदि को खाने पर ज्यादा जोर दिया जाता है। इसमें आमतौर पर दिन भर में 6 बार खाने का रूल है, जिसमें कि आपको कुल 3220 कैलोरी लेनी होती है।

10.फैटी लिवर डाइट- Fatty Liver Diet

लिवर भोजन को पचाने में मदद करता है और शरीर को ऊर्जा देता है। किसी भी व्यक्ति के लिवर में वसा की मात्रा सामान्य से अधिक होने की स्थिति को फैटी लिवर कहा जाता है। फैटी लिवर डाइट में आपको उन चीजों को खाने से बचना होता है, जो कि लिवर में फैट की मात्रा को न बढ़ाएं और उन चीजों को खाना होता है, जो कि लिवर के इस स्थिति को कम करने में फायदेमंद हो। जैसे कि इसमें हरी सब्जियां, फल, नट्स और टोफू आदि खाने पर जोर दिया जाता है और अल्कोहल, एडेड शुगर, व्हाइट ब्रेड, पास्ता और रेड मीड खाने को मना किया जाता है।

ये थीं पिछले 10 सालों की सबसे पॉपुलर डाइट। तो, आने वाले नए साल में खुद को हेल्दी रखने के लिए भी फॉलो करें एक अच्छी डाइट और अपनी सेहत को लेकर जागरूक रहें और स्वस्थ रहें।

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer