कीटो डाइट टाइप-2 डायबिटीज को किस तरह करती है कंट्रोल? जानिए एक्सपर्ट की राय

क्या डायबिटीज रोगियों के लिए कीटो डाइट फायदेमंद है। अगर आपके मन में भी ये सवाल है, तो चलिए आज जानते हैं इसके बारे में विस्तार से-

Kishori Mishra
Written by: स्वाती बाथवालPublished at: Nov 09, 2020Written by: Kishori Mishra
कीटो डाइट टाइप-2 डायबिटीज को किस तरह करती है कंट्रोल? जानिए एक्सपर्ट की राय
टाटाइप-2 डायबिटीज किसी भी इंसान को तब होता है, जब उसके शरीर में ब्लड शुगर कंट्रोल करने वाला तत्व इंसुलिन की पर्याप्त मात्रा में उत्पन्न नहीं होता है। डायबिटीज के मरीजों का ब्लड शुगर कंट्रोल करना आसान होता है, लेकिन डायबिटीज से अन्य बीमारियां जैसे दिल से संबंधित बीमारियां और स्ट्रोक होने का खतरा बढ़ता है। डायबिटीज को लेकर कई रिसर्च हुए हैं। एक रिसर्च के मुताबिक, टाइप-2 डायबिटीज को कीटो डाइट से कंट्रोल किया जा सकता है।  

क्या कहते हैं रिसर्च 

बढ़ते वजन को कम करने के लिए लोग कीटो डाइट का सहारा लेते हैं। कीटो डाइट ना सिर्फ आपके बढ़ते वजन को कंट्रोल कर सकता है, बल्कि यह हमारे शरीर को फिट एंड फाइन करने में भी काफी असरदार है। कीटो डाइट को लेकर एक नई रिसर्च सामने आई है, इस रिसर्च के अनुसार टाइप-2 डायबिटीज को कंट्रोल करने में कीटो डाइट काफी फायदेमंद हो सकता है। इस रिसर्च में ऐसे लोगों को शामिल किया गया, जो डायबिटीज से ग्रसित हैं और वे कीटो डाइट को फॉलो करते हैं।
 
रिसर्च के तीन महीने बाद देखा गया कि कीटो डाइट फॉलो करने वाले लोगों में ब्लड शुगर लेवल काफी कम है। इस स्टडी में शामिल लोगों ने अपने डाइट में 5-10 प्रतिशत कार्बोहाइड्रेट्स जैसी चीजों को शामिल किया। कीटो डाइट फॉलो करने वाले लोगों को 50 प्रतिशत कार्बोहाइट्रेड लेने के लिए कहा जाता है, लेकिन इस स्टडी में मरीजों को कम कार्बोहाइड्रेट दिया गया। इससे वजन कम करने के साथ-साथ मरीजों का ब्लड शुगर लेवल भी कम हुआ। 

कीटो डाइट कैसे करता है टाइप-2 डायबिटीज कंट्रोल

टाइप-2 डायबिटीज से ग्रसित मरीज ब्लड शुगर और मोटापे के शिकार हो जाते हैं। ऐसे में वजन को कम करके आप टाइप-2 डायबिटीज को कुछ हद तक कम कर सकते हैं। अधिकतर लोग वजन को कम करने के लिए कीटो डाइट अपनाते हैं। कीटो डाइट में कार्ब की मात्रा कम ली जाती है, ऐसे में हमारा शरीर उर्जा बनाने के लिए फैट का इस्तेमाल करती है। ऐसे में जब शरीर का फैट बर्न होता है, तो मेटाबॉजिल्म बेहतर होता है। इसके साथ ही इससे हमारे शरीर का वजन कम होता है, साथ ही टाइप-2 डायबिटीज कंट्रोल रहती है। 

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

हमारी न्यूट्रीशनिस्ट स्वाति बाथवाल कहती हैं कि कीटो डाइट डायबिटीज मरीजों के लिए फायदेमंद हो सकता है। उनके अनुसार, ऐसे मरीज को इंसुलिन ले रहे हैं उन्हें कीटो डाइट नहीं लेना चाहिए। इसके अलावा अगर उन्हें डॉक्टर ने इंसुलिन बढ़ाने की कोई दवा ही है, तो भी उन्हें कीटो डाइट फॉलो नहीं करना चाहिए। अगर फिर भी आप कीटो डाइट फॉलो करना चाहते हैं, तो एक बार डॉक्टर से संपर्क जरूर करें। इसके अलावा कभी भी कीटो डाइट 3 से 4 सप्ताह से अधिक फॉलो नहीं करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें - क्या डायबिटीज रोगी खा सकते हैं मशरूम? जानिए क्या कहते हैं एक्सपर्ट

कीटो डाइट लेने में क्या रखें सावधानियां

    • यदि आप कीटो डाइट का सेवन कर रहे हैं, तो एक बार डॉक्टर्स से संपर्क जरूर करें।
    • अगर कीटो डाइट का सेवन करने से आपको ज्यादा कमजोरी महसूस हो रही है, तो कीटो डाइट ना लें। 
    • डायबिटीज रोगी मोटापे के शिकार हो सकते हैं, ऐसे में माना जाता है कि यह डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद है।
    • कीटो डाइट में कार्ब फूड का सेवन कम किया जाता है, लेकिन शरीर की उर्जा को बनाए रखना बहुत ही जरूरी है। ऐसे में डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

 
Read More Articles On Diabetes In Hindi 
 

 

 
 
 
 

 

 
Disclaimer