दूध पीने के बाद बच्‍चा उल्‍टी करता है तो ये तरीके आजमायें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 19, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • दूध पीने के बाद उल्‍टी होना सामान्य प्रक्रिया है।
  • उल्टी नहीं आने पर होती है परेशानी।
  • बच्चे की छाती हल्की नहीं होती फिर।

पहली बार मां बनी है और अपने बच्चे को लेकर कुछ ज्यादा सतर्क और खुश हैं तो जरूर ही आप अपने बच्चे के दूध पीने के बाद करने वाली उल्टी से परेशान हो जाती होंगी। जबकि इसमें ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है। दूध पीने के बाद अक्सर बच्चे उल्टी कर देते हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि यह बहुत ही साधारण सी समस्या है जो सामान्य तौर पर सारे शिशुओं में देखने को मिल जाती है। इसमें परेशान होने की जरूरत नहीं है। ऐसा ज्यादा खाने या दूध पीने के बाद होता है।

बच्चा

उल्टी करना मतलब स्वस्थ होना

बच्चे दूध पीने के बाद उल्टी कर देते हैं तो इसमें परेशानी की कोई बात नहीं है और ना ही इसे पेट खराब होने वाला कोई संकेत समझे। ऐसा माना जाता है कि अगर आपका बच्चा उलटी कर देता है तो वह स्वस्थ है, और यह करना उसे पसंद है। कई बार तो बच्चे की उल्टी ना करने पर परेशानी का सबब माना जाता है। खाना या दूध पीने के बाद उसे डकार आने के बाद भी उलटी नहीं होती है तो यह परेशानी का सबब है और तुरंत चाइल्ड स्पेशलिस्ट से मिले।

 

उल्टी होने के फायदे

मां अपने बच्चे को गोद में लेकर ज्यादातर समय दूध पिलाती है। फिर उन्हें गोद में ही लिटाती है। अगर इस दौरान बच्चे को उल्टी हो जाती है तो मतलब है कि बच्चे कि छाती हल्की हो गई है। इसका मतलब है कि बच्चे का पाचन तंत्र अच्छा है। इससे बच्चे को नींद भी अच्छी आती है।

 

इसलिए करते हैं उल्टी

दूध पीने के दौरान दूध बच्चे की मस्कुलर ट्यूब से होते हुए उसके पेट में जाता है। इस मस्कुलर ट्यूब को इसोफेगस कहते हैं। इसोफेगस और पेट को जोड़ने के लिए एक मसल्स रिंग होती है जो बच्चे के दूध पीने पर खुल जाती है। दूध पीना बंद करने करे बाद ये रिंग बंद हो जाती है। ऐसे में रिंग आगर सही है और ज्यादा टाइट नहीं है तो सारा दूध इसोफेगस में वापस चला जाता है। दूध के रिंग में वापस जाने के कारण ही उल्टी होती है।

 

उल्टी रोकना खतरनाक

बच्चे को दूध पीने के बाद उल्टी होना मतलब बच्चा स्वस्थ है। उल्टी रोकने की कोशिश कभी ना करें। उलटी को रोकने पर बच्चे को छाती में घुटन हो सकती है जो उसके लिए खतरनाक हो सकता है।

 

उल्टी के दौरन ये तरीके आजमायें

बच्चे की उल्टियां रोकना आपके बस में नहीं है और रोकने की कोशिश करनी भी नहीं चाहिए। लेकिन अगर बच्चा अधिक उल्टी करता है तो इन तरीकों के जरिये इसे कम जरूर कर सकते हैं।

  • बच्चे को खाना खिलने के 30 मिनट बाद तक सीधे बिठा कर रखें।
  • एक साथ पूरा खाना ना खिलाएं। थोड़ा-थोड़ा करके खिलाएं।
  • दूध पीने के बाद बच्चे को पीठ के बल ही लिटायें।

 

 

Read more articles on Parenting in Hindi.

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES33 Votes 9229 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर