लुम्‍बर बैक पेन से ऐसे पाएं राहत

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 10, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

लुम्‍बर बैक पेन से राहत

लुम्‍बर बैक पेन की समस्‍या मांसपेशियों के असामान्‍य होने के कारण होती है। यदि आपका दर्द तीन महीने या इससे ज्‍यादा पुराना है और ठीक नहीं हो रहा तो योग से आपको राहत मिल सकती है। ऐसे कई मामले देखे गए हैं जिनमें योग से लो बैक पेन में आराम मिला है।

एक अध्‍ययन के मुताबिक किताब की मदद से योगा करने वाले लोगों के मुकाबले योगा क्‍लास लेने वाले लोगों को ज्‍यादा आराम हुआ है। किताब लेने वाले और क्‍लास ज्‍वाइन करने वालों ने लगातार 12 हफ्तों तक योगा का अभ्‍यास किया। इनमें ज्‍यादा फायदा क्‍लास में जाने वाले लोगों को हुआ।

योगा क्‍लास पूरी होने के बाद भी लो बैक पेन में राहत रहती है। ऐसा नहीं कि केवल योगा करने के दौरान ही आराम रहता है। लेकिन इसे आप यदि नियमित तौर पर करते हैं तो यह बहुत ही फायदेमंद साबित होता है। इस लेख में बात करते हैं ऐसे ही कुछ उपायों की जो लुम्‍बर बैक पेन में राहत देंगे।

निदान
यदि आपके चोट के कारण लो बैक पेन हो रहा है तो इसका इलाज डॉक्‍टर से कराना चाहिए। यदि इसका समय से उपचार नहीं कराया तो यह दर्द बढ़कर अंतड़ी तक भी पहुंच सकता है और आपकी टांगों को कमजोर कर सकता है। चिकित्‍सक आपके लो बैक पेन के सोर्स का उपचार करता है। दर्द के सोर्स का पता लगाने के लिए डॉक्‍टर एक्‍स-रे, सीटी स्‍कैन और एमआरआई करेगा ताकि उसे पता चल सके कि कौन सी हड्डी या डिस्‍क क्षतिग्रस्‍त है।

घरेलू उपचार

  • बैक पेन मशल्‍स में खिंचाव आने की वजह से होता है। कुछ उपायों के द्वारा इससे छुटकारा पाया जा सकता है।
  • आपके जिस हिस्‍से में दर्द है वहां पर हीटिंग पैड का प्रयोग करने से आराम मिलेगा। इसके साथ ही गर्म पानी से नहाने भी इसमें फायदा होता है।
  • कभी भी एक स्थिति में लगातार नहीं बैठना चाहिए। मौका देखकर खुद को बीच-बीच में स्ट्रेच करते रहना चाहिए। चाहे आप काम कर रहे हो, ड्राइविंग कर रहे हों या फिर फ्लाइट में बैठें हों। बैठने के दौरान ध्यान रहे कि लोअर बैक को सीधा रखें और आराम से बैठें।
  • किसी भी चीज को उठाने के लिए सीधे झुकने की बजाय कोशिश करें कि पहले बैठें और फिर उस चीज को उठाएं। इससे लोअर बैक में पेन की आशंका कम हो जाती है।
  • बैक सपोर्ट के लिए कड़े सपोर्ट की बजाय मुलायम सपोर्ट का इस्तेमाल करना चाहिए। गर्दन को सपोर्ट देने के लिए पिलो का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • बर्तन या मुंह धोते समय सिंक या वॉश बेसिन की तरफ ज्यादा ना झुके। इससे आपकी कमर कमजोर पड़ सकती है। यदि मजबूरी में ऐसा करना भी पड़ रहा है तो हर पांच मिनट के बाद ब्रेक लें।
  • प्रतिदिन व्‍यायाम और डाइट कंट्रोल कमर दर्द की सबसे अच्छी दवा है। खासतौर पर जो महिलाएं पीरियड और बच्चे के जन्म के बाद एक्सरसाइज से बचती हैं, वे कमर दर्द को न्‍यौता देती हैं।


चिकित्‍सीय उपचार
यदि चोट लगने या एक्‍सीडेंट होने के बाद आपके लो बैक पेन हो रहा है तो इसके लिये चिकित्‍सक से परामर्श करें। हो सकता है कि आपकी कोई हड्डी या मांसपेशी इस दौरान क्षतिग्रस्‍त हो गई हो। कुछ चिकित्‍सक लो बैक पेन को ठीक करने के लिए रीढ़ की हड्डी और उसके आस-पास ऊतकों पर हाथों से प्रेशर डालकर भी ठीक करते हैं। हालांकि यह उपचार हर किसी के लिए कारगर नहीं होता। लुम्‍बर बैक पेन का निम्‍न तरीके से भी उपचार कराया जा सकता है।

मसाज थेरेपी : मसाज थेरेपी लुम्‍बर बैक पेन में फायदेमंद है। एक अध्‍ययन से भी साफ हो चुका है कि मसाज लुम्‍बर बैक पेन के उपचार में कारगर है। मसाज कराने वाले लोगों को 10 हफ्ते में काफी राहत मिली है।

एक्‍यूपंचर थेरेपी : एक्‍यूपंचर से लो बैक पेन में आराम मिल सकता है या नहीं। इस पर अभी एक राय नहीं है। एक्‍यूपंचर थेरेपी से लो बैक पेन का उपचार कराने वालों की इस पर अलग-अलग राय हैं। कुछ लोगों का कहना है कि इससे उन्‍हें आराम मिला है जबकि कुछ का कहना है कि यह लुम्‍बर बैक पेन में कारगर नहीं है।

दवाई का सेवन : ब्रूफेन और नेप्रोक्सिन आदि दवाइयों के सेवन से भी लुम्‍बर बैक पेन से राहत पाई जा सकती है। इसके अलावा बाजार में कई पेन रिलीविंग क्रीम भी मिलती हैं। इनकी मॉलिश करने से भी दर्द में राहत मिलती है। इसके लिए जरूरी है कि पहले चिकित्‍सक से परामर्श करें इसके बाद ही इस तरह की क्रीम का इस्‍तेमाल करें।

सर्जरी : यदि आप बहुत लंबे समय से लो बैक पेन से ग्रसित हैं और किसी भी तरह आपको आराम नहीं मिल रहा है तो सर्जरी कराकर इसका स्‍थायी समाधान पाया जा सकता है। हालांकि सर्जरी आपके दर्द के कारण भी निर्भर करती है।

 

 

Read More Articles On Back Pain In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES25 Votes 5174 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर