एक-दूसरे की समझ को बेहतर बनाते हैं ये साइकोलॉजिक फैक्‍ट्स

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 03, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • साइकोलॉजिकल फैक्ट्स आपके रिश्ते को मजबूत बनाने में करेंगे मदद।
  • भावनात्मक जुड़ाव, रिश्तों की दूरी में भी एक-दूसरे का एहसास कराती है।
  • चार मिनट तक आंखों में देख एक-दूसरे की भावनाओं को जान सकते हैं।
  • आपकी एक मुस्‍कान सामने वाले को बेहतर महसूस कराने के लिए काफी।

अगर बहुत दिन तक शरीर का कोई घाव ठीक नहीं होता तो ऐसी स्थिती में साइकोलॉजिस्‍ट की मदद ली जाती है। साइकोलॉजिस्‍ट उस घाव के बारे में इंसान के भावनात्मक विचारों को जानकर उसके भावनाओं के साथ उसके घाव को ठीक करने में मदद करता है। इसी तरह रिश्तों को भी बेहतर बनाने में दो इंसान की मनोवैज्ञानिक स्थिति भी बहुत मायने रखती है। आइए इस लेख में हम आपको बताते हैं कि किस तरह से साइकोलॉजिकल फैक्‍ट्स एक-दूसरे को समझने में आपकी मदद करते हैं।


आंखों में आंखे डालकर बात करना

अगर आप चार मिनट तक उनकी आंखों में देखते हुए बात करते हैं तो तो उनकी मनोस्थिति का पता आप लगा सकते हैं। अगर वो आपसे खुश या नाखुश हैं तो उनकी आंखों में सबकुछ दिख जायेगा। इसलिए अगर सच जांचने की बात आती है तो लोग आंखों में आंखें डालकर बात करने को कहते हैं। आंखों में आंखें डालकर सच जानने का पैमाना हमेशा सही हो जरूरी नहीं, क्योंकि अजनबियों के सामने आंखों में आंखें डालकर लोग आसानी से झूठ बोल देते हैं। लेकिन आज भी मनोवैज्ञानिक ये मानते हैं कि जानने या चाहने वाले की आंखों में आंखें डालकर झूठ बोलना हर इंसान के लिए बहुत मुश्किल होता है।
psychological facts in hindi

हाथ पकड़ना

किसी दुखद स्थिती में आपका अपने पार्टनर या दोस्त का हाथ पकड़ना ही उसके लिए काफी होता है। आप उसे हाथ पकड़ के एहसास दिलाते हैं कि आप हो उसके साथ और ये आपको सामने वाले की मनोस्थिती समझने में भी मदद करता है।


एक मुस्कुराहट

आपकी एक मुस्कुराहट आपके अपनों के सारी परेशानियों को खत्म या कम करने में काफी सहायक है। इसलिए आप कितने भी टेंशन में क्यों न हो एक-दूसरे से जब भी मिले एक मुस्कुराहट के साथ मिले।


साफ-सुथरा रहना

ये आपके जानने वाले के साथ आपके आस-पास के लोगों के साथ के रिश्ते को भी प्रांगण बनाना है। इससे आस-पास के लोगों की नजर में आपके प्रति एक जिम्मेदार इंसान की छवि बनती है। और वैसे भी जो इंसान अपने को साफ और अच्छा नहीं रख सकता वो रिश्तों और काम को कैसे सही ढंग से रख सकता है।


थोड़ी चुप्पी भी जरूरी

बात-चीत हर समस्या का हल होती है और एक-दूसरे के बारे में ज्यादा से ज्यादा बताती भी है। लेकिन चुप्पी उस हर एक समस्या का भी हल है जब इंसान को किसी समस्या का कोई हल नहीं मिलता। क्योंकि इंसान किसी न किसी स्थिती में पलट के जवाब देने के लिए हमेशा तैयार रहता है। लेकिन चुप बहुत ही कम लोगों के सामने होता है खासकर उनके सामने जिन्हें वो हर्ट नहीं करना चाहता।


आज की व्यस्त जिंदगी में ये साइक्लोजिकल फैक्ट्स आपके रिश्ते को मजबूत बनाए रखने में काफी मदद करेंगे, इसलिए अगर इसे न भी मानते हों तो भी इसे नजरअंदाज न करें।

Write a Review
Is it Helpful Article?YES14 Votes 3920 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर