क्या पितृत्व अवकाश के बारे में जानते हैं आप

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 14, 2016
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • शिशु के जनम पर पिता को मिलता है पितृत्व अवकाश।
  • छठें वेतन आयोग से भारत में शुरू हुई है ये योजना।
  • पूरी सर्विस में केवल 15 दिन की ले सकते है छुट्टी।
  • जर्मनी में मिलता है सबसे लंबा पितृत्व अवकाश।

 

बच्चे को सिर्फ मां की ही नहीं बल्कि माता-पिता दोनों के प्यार और साथ की जरूरत होती है। ऐसे में बच्चे के पास माता-पिता दोनों का होना बेहद आवश्यक है। ऐसा नहीं कि मां बनने की खुशी सिर्फ मां को ही होती है बल्कि पापा बनने की खुशी किसी भी व्यक्ति को उतनी ही होती है जितनी एक मां को। पिता बनने पर अब पितृत्व अवकाश की सुविधा भी उपलब्ध है। जी हां, अब पुरूष भी महिलाओं को दी जाने वाली मैटरनिटी लीव की तरह पितृत्व अवकाश ले सकते है। आइए जानें पितृत्व अवकाश क्या है।

  • सरकार द्वारा चलाई जा रही बेबी केयर योजनाओं के अंतर्गत कई योजनाओं को आरंभ किया गया, जिनमें से एक है पितृत्व अवकाश। पितृत्व अवकाश के दौरान पिता अपनी पत्नी और नवजात बच्चे के लिए पेड लीव ले सकते हैं।

  • कर्मचारी गर्भवती महिला को मैटर्निटी लीव के दौरान छह महीने का अवकाश लेने की छूट है। इतना ही नहीं बच्चे की देखभाल के लिए बेबी केयर लीव 2 साल तक लेने की छूट है जो कि मां बच्चे के 18 साल तक होने के बीच कभी भी ले सकती है। ठीक ऐसे ही पिता बनने पर छुट्टी लेने को पितृत्व अवकाश कहा जाता है।

 

  • छठे वेतन आयोग में सरकारी अधिकारियों व कर्मचारियों के लिए पैतृत्व अवकाश की योजना लागू की गयी है। पैतृत्व अवकाश कुल 15 दिनों का होता है जिसमें पिता बनने वाले पुरूष पूरी नौकरी के दौरान इसका उपयोग दो बार कर सकते हैं।

 

  • पैतृत्व अवकाश ठीक उसी तरह का होगा जिस तरह महिला अधिकारियों व कर्मचारियों को मातृत्व अवकाश के रूप में कुल छह महीनों का अवकाश दिया जाता है, अब ठीक उसी तर्ज पर पिता बनने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों को भी 15 दिनों का पैतृत्व अवकाश दिया जायेगा।

 

  • जिन बैंक कर्मियों के दो से कम बच्चे हैं तथा जिनकी धर्मपत्नी गर्भवती है, वह अपनी पत्नी के प्रसव काल के दिनों में इस अवकाश का उपयोग कर सकेंगे। इस अवकाश के लिए न्यूनतम 15 दिन पहले आवेदन करना होगा और अधिकतम 6 माह पूर्व भी आवेदन किया जा सकता है। यह व्यवस्था सरकारी स्तर पर भी लागू है

 

  • जर्मनी में मातृत्व एवं पितृत्व अवकाश की नीतियां पूरे विश्व की सबसे उदार नीतियों में गिनी जाती हैं। जर्मनी में बच्चे के जन्म से तीन साल तक छुट्टी मिल सकती है। इनमें से केवल पहले 26 हफ्ते ही पूरे वेतन के साथ जबकि बाद के 26 हफ्ते कम वेतन के साथ मिलती है। बाद के दो साल कोई वेतन नहीं मिलता लेकिन नौकरी बनी रहती है।



पितृत्व अवकाश लेने वाले भारतीय पुरूषों को 15 दिन के अवकाश के लिए अब आसानी से छुट्टी मिलेगी।

 

Image Source-Getty

Read More Article on Parenting in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES15 Votes 21512 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर