डायबिटीज व अन्य बीमारियां दूर करने के लिए खूब खाएं लिट्टी-चोखा

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 30, 2017
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • लिट्टी-चोखा खाइए और कई सारी बीमारियों से दूर रहें।
  • लिट्टी खाने से डायबिटीज कंट्रोल में रहती है।
  • वहीं बैंगन का चोखा मोटापा व कोलोन कैंसर नहीं होने देता।

लिट्टी-चोखा का नाम सुना है...?
बिल्कुल, सुना ही होगा... ये भी कोई सवाल है। इस प्रसिद्ध बिहारी व्यंजन का नाम हर किसी ने ही सुना होगा।


तो सवाल है की, क्या आपको पसंद है लिट्टी-चोखा...???
इसका जवाब भी हां होगा।

अगर ना है, तो अब पसंद करना शुरू करिए। क्योंकि लिट्टी-चोखा खाने से डायबिटीज जैसी गंभीर बीमारी तक आसानी से दूर हो जाती है। ये हम नहीं... बल्कि दिल्ली के डायबेटोलॉजिस्ट डॉ. नरेन्द्र विन्नी गुप्ता का कहना है। तो अगर आपके या आपके परिवार में, दोस्तों में, किसी को भी डायबिटीज है तो उन्हें अपनी डाइट में  लिट्टी-चोखा शामिल करने कि सलाह दें। डॉ. नरेन्द्र विन्नी गुप्ता पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (पीएमसीएच) के अल्यूमनी हैं और दिल्ली में डायबेटोलॉजिस्ट के तौर पर कार्यरत हैं। यह बात उन्होंने बीते दिनों में पटना में आयोजित डॉ. गया प्रसाद मेमोरियल व्याख्यान में कही।

इसे भी पढ़ें- मधुमेह है तो इन आहार से दूर रहें

 

करता है शुगर लेवल नियंत्रित

लिट्टी-चोखा खाने से शुगर लेवल नियंत्रित रहता है। डायबिटीज के मरीजों को अपना शुगर लेवल नियंत्रित रखने के लिए लिट्टी-चोखा जरूर खाना चाहिए। लिट्टी के साथ खाया जाना वाला बैंगन का चोखा कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। जिस कारण ये डायबिटीज, ब्लड प्रेशर व हार्ट के लिए भी अच्छा होता है। ये धमनियों में कोलेस्ट्रॉल को कम कर रक्त के प्रवाह में भी सहायक होता है।  


डॉ. विन्‍नी ने जागरण को बताया कि, लिट्टी खाने से इन्सुलिन रेसिस्टेन्ट मरीजों में हार्मोन डिसऑर्डर के नियंत्रण में उल्‍लेखनीय मदद मिलती है। लिट्टी में भुने हुए चने का सत्तू होता है, जो इन्सुलिन रेसिस्टेन्ट प्रॉब्लम को नियंत्रित करने में काफी मदद करता है। जिससे की शरीर में शुगर लेवल नहीं बढ़ता और डायबिटीज नहीं बढ़ता।

litti-chokha

लिट्टी के फायदे

लिट्टी को बनाने के लिए सत्तु का इस्तेमाल किया जाता है। सत्तू गेंहूं, चने और जौ के आटे को मिलाकर बनाया जाता है। इन तीनों चीजों को ऊर्जा का मुख्य सोर्स माना जाता है। इसे खाने से पेट दिन भर भरा रहता है। साथ ही ये ब्लड शुगर को बढ़ने नहीं देता जिससे डायबिटीज नियंत्रण में रहती है। गर्मी में ये खाने से लू नहीं लगती।

इसे भी पढ़ें- डायबिटीज रोगियों के लिए शहद के फायदे और नुकसान, जानें


बैंगन-चोखा के फायदे

मोटापा घटाये - प्रति सौ ग्राम बैंगन की मात्रा में केवल 25 कैलोरी होती है। बैंगन में कोलेस्ट्रॉल बिल्कुल भी नहीं होता जिसके कारण बैंगन का चोखा खाने कोलेस्ट्रॉल बिल्कुल भी नहीं बढ़ता और शरीर में कैलोरील इकट्ठी नहीं होती। साथ ही ये कम मात्रा में खाने से भी पेट जल्दी भर जाता है। जिससे की मोटापा और कोलेस्ट्रॉल नहीं बढ़ता है। इसके साथ ही इसमें कार्बोहाइड्रेट कम और फाइबर की मात्रा अधिक होती है जिस कारण मोटापा नहीं बढ़ता है।


कोलोन कैंसर का खतरा कम करे - बैंगन का चोखा ब्लड कोलेस्ट्रॉल को ऑब्जर्व कर लीवर को पित्त बनाने में मदद करता है। इससे आपके डाइजेस्टिव सिस्टम में जो टॉक्सिन्स मौजूद रहते हैं उसे आपके शरीर से बाहर नकालने में मदद करता है। इससे कोलोन कैंसर का खतरा कम हो जाता है।

 

इसलिए अब खूब खाएं लिट्टी-चोखा और डायबिटीज व मोटापे से भी रहें दूर।

 

Read more articles on Diet and nutritions in Hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES1 Vote 1783 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर