एसिड रिफलक्स की समस्या से निपटने के असरदार घरेलू उपाय

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 03, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • एसिड रिफलक्स में ग्रासनली तक उठ आता है एसिड।
  • "एलईएस" के ठीक से काम न करने पर होता है "एसिड रिफलक्स"।
  • अनियमित जीवनशैली और खराब खान-पान हैं इसके प्रमुख कारण।
  • मुलेठी, त्रिफला चूर्ण, सौंफ, आंवला आदि है एसिड रिफलक्स में लाभकारी।

एसिड रिफ्लक्स ऐसी स्थिति है जिसमें पेट में एसिड आहार नली में उठ आता है। इस समस्‍या में पेट को खाने की नली से संपर्क को अलग करने वाला वाल्व ठीक से काम नहीं करता। पेट और ग्रसनी के बीच की ट्यूब आहार नली है, जो शरीर में गले के पीछे की तरफ होती है।

Treatment for Acid Reflux


क्यों होता है एसिड रिफलक्स

एसिड रिफ्लक्स की समस्‍या उस समय होती है जब लोअर इसोफेगल स्पिंचर (एलईएस) ठीक से काम नहीं करता तथा ग्रासनली, एसिड को पेट से ऊपर की तरफ जाने देती है। हालांकि खराब 'एलईएस' ही इसका आम कारण है। इसका एक अन्‍य कारण यह भी हो सकता है कि पेट में उठने वाला दबाव एलईएस के झेलन की क्षमता से अधिक हो जाता है।


एसिड रिफलक्स के लक्षण

अनियमित जीवनशैली और खराब खान-पान के चलते अक्सर एसिड रिफ्लक्स की समस्या से जूझना पड़ता है। आजकल इस समस्या से लगभग हर दूसरा व्यक्ति पीड़़ि है। एसिड रिफ्लक्स होने पर शरीर की पाचन क्रिया ठीक नहीं रहती। इसमें सीने और छाती में जलन होती है। साथ ही गले में जलन और अपचन भी इसके ही लक्षण हैं। कई बार इस समस्‍या से ग्रसित व्‍यक्ति को घबराहट भी होने लगती है और खट्टी डकार आती हैं। एसिड रिफ्लक्स के अन्य लक्षण निम्‍नलिखित हैं।


सीने में दर्द - असंतोषजनक सनसनी का एक प्रकार


डिस्फैजिया- किसी चीज को निगलने में परेशानी होना


हार्ट बर्न- पेट या पीठ के निचले हिस्से में जलन महसूस होना।


रिगर्जटेशन- मुंह में वापस भोजन का आना


एसिड रिफलक्स के लिए घरेलू उपाय

 

  • एसिड रिफ्लक्स से बचने के लिए भोजन करने के बाद गुड़ जरुर खाएं। ऐसा करने से एसिड की समस्या नहीं होती है।
  • एसिड रिफ्लक्स की समस्या से निजात पाने के लिए एक कप पानी उबालें, इसमें एक चम्‍मच सौंफ मिलाकर रात भर ढ़क कर रख दें। सुबह में पानी को छानकर इसमें एक चम्‍मच शहद मिलाकर, भोजन के बाद इस मिश्रण को पी लें।
  • एक गिलास गर्म पानी में चुटकी भर पिसी हुई काली मिर्च और आधे नींबू का रस मिलाकर नियमित सेवन करें। सलाद में काला नमक लगी हुई मूली को शामिल करें। यह आपको एसिड की समस्या से बचाएगा।
  • एसिड रिफ्लक्स होने पर मुलेठी का चूर्ण या काढ़ा बनाकर उसका सेवन करें। इससे फायदा होगा।
  • नीम की छाल का चूर्ण या फिर रात में भिगोकर रखी छाल का पानी सुबह छानकर पीने से एसिड रिफ्लक्स में राहत मिलती है।
  • एसिड रिफ्लक्स में त्रिफला चूर्ण का प्रयोग करने से भी फायदा मिलता है। इसे आप दूध के साथ भी ले सकते हैं। दूध में मुनक्का डालकर उबाल लीजिए और इसे ठंडा करके पी लीजिए, इससे आपको फायदा मिलेगा।
  • सौंफ, आंवला व गुलाब के फूलों को बराबर हिस्से में लेकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को आधा-आधा चम्मच सुबह-शाम लेने से भी इस समस्या में लाभ होता है। अदरक और परवल को मिलाकर काढ़ा बनाकर पीने से भी फायदा होता है।
  • एसिड रिफ्लक्स की समस्‍या में कच्ची सौंफ चबाने से फायदा होता है। सुबह के समय खाली पेट गुनगुना पानी पीने से एसिड रिफ्लक्स में राहत मिलती है। नारियल पानी पीने से भी इससे छुटकारा मिलता है।
  • एसिड रिफ्लक्स की समस्या खानपान में अनियमितता के कारण होती है। इसलिए गरिष्‍ठ भोजन करने से परहेज करें। एसिड रिफ्लक्स से बचने के लिए रात को सोने से तीन घंटे पहले भोजन कर लेना चाहिए।

 

 

Read More Articles on Home Remedies in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES268 Votes 13268 Views 1 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर