होली में गर्भवती महिलाएं रखें इन बातों का ख्याल

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 07, 2017
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • होली की तैयारियां शुरू हो चुकी है।
  • लेकिन गर्भवति महिलाएं सावधानी बरतें।
  • भांग का सेवन तो बिल्कुल ना करें।

होली की तैयारी होली आने के एक हफ्ते पहले ही शुरू हो जाती है। बच्चे अपनी प्लानिंग करने लगते हैं तो घर के बड़े पकवानों की लिस्ट बनाने लगते हैं। होली का त्योहार सबके लिए खुशियां लेकर आता जरूर है लेकिन कुछ लोगों के लिए ये चिंता का सबब भी बन कर आता है। इन कुछ लोगों में शामिल है- गर्भवती महिलाएं।

गर्भवती महिलाओं के लिए होली में मजे करना काफी कठिन होता है या यूं कहें कि वे होली का आनंद उठा ही नहीं क्योंकि उनके साथ एक नन्ही जान की भी जिम्मेदरी होती है जिसपर थोड़ी सी लापरवाही बड़ी भारी पड़ सकती है। इसलिए डॉक्टर या विशेषज्ञ से सलाह लेकर ही होली के रंग का आनंद लें।  फिर भी अगर आप होली का आनंद लोना चाहती हैं तो इन कुछ बातों का ख्याल रखें।

 


प्रतिरोधक क्षमता होती है कमजोर

अन्य इंसानों की तुलना में गर्भवती महिलाओं में प्रतिरोधक क्षमता कम होती है जिस कारण उनके संक्रमित होने का खतरा अन्य महिलाओं से अधिक होता है। साथ ही ये भी माना जाता है कि गर्भवस्था के दौरान रासायनिक रंगों से होली खेलने से महिलाएं और उनके गर्भ में पलने वाले बच्चे पर नकरात्मक असर पड़ता है। ऐसे में इस दिन रासायनिक रंगों से दूर रहना ही बोहतर है।

इसे भी पढ़ें- होली के दौरान और बाद में अपनी त्‍वचा की करें कुदरती देखभाल


क्योंकि इन रासायनिक रंगों को बनाने में कई बार व्यापारी एसिड, माइका, ग्लास पाउडर, अल्कालिस, लीड, बेंजीन, तथा एरोमेटिक कंपाउंड का इस्तेमाल करते हैं। ये पदार्थ तंत्रिका तंत्र, गुर्दे तथा जनन तंत्र को प्रभावित कर सकते हैं। इसलिए विशेषज्ञ परामर्श देते हैं कि होली में गर्भवती महिलाएं रंगों से दूर ही रहें, जिससे कि गर्भवती महिलाओं का स्वास्थ्य भी न बिगड़े और उनमें त्योहार का उत्साह भी बना रहे।

इन रंगों को इस्तेमाल करें

अगर किसी गर्भवती महिला को होली का आनंद लेना भी है तो वो हर्बल रंग का इस्तेमाल कर सकती हैं। या फिर घर पर ही हल्दी, बीटरूट, प्याज ,पालक और धनिया पत्ता से बने रंगों का इस्तेमाल कर सकती हैं। ये नैचुरल रंग होते हैं जिसके कारण इनसे कोई नुकसान भी नहीं पहुंचता। 

इसे भी पढ़ें- होली में खतरनाक हो सकते हैं नीले और हरे रंग

ये सावधानियां बरतें

  • बैठकर होली खेलें - होली खेलते वक्त बैठकर ही होली खेलें। भागम-भाग ना करें। क्योंकि एक भी कदम अगर फिसला तो आपके साथ आपके गर्भ में पल रहे शिशु की जान पर आफत आ सकती है।
  • भांग से दूर रहें - होली के दौरान  अधिकतर मिठाइयों व पेय पदार्थों में भांग का इस्तेमाल किया जाता है। ऐसी चीजों से दूर रहें। भले ही भांग एक प्राकृतिक चीज है, मगर उसका भी नशा बच्चे के जीवन के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। वैसे भी भांग का नशा एक-दो दिन तक रहता है और उसका हैंगओवर उतारना काफी मुश्किल होता है। तो बाहर  से लाई गई या किसी के द्वारा दी गई मिठाईयों का सेवन ना करें। इस दिन पीने के लिए केवल शुद्ध पानी का ही इस्तेमाल करेँ।
  • अच्छे से खुद को साफ करें - होली खेलने के बाद शाम को खुद को अच्छे से साफ कर लें। आप रंगों को हटाने के लिए बेसन औऱ दूध का प्रयोग करें।

 

Read more articles on Pregnancy in Hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES986 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर