स्वस्थ रहने के लिए अपनाएं ये संपूर्ण नीति

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 06, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • शरीर की जरूरतों को समझें और उसे पूरा करें।
  • खाने में पौष्टिक चीजों को शामिल करें।
  • नियमित रुप से योगा और व्यायम की आदत डालें।
  • शारीरिक और मानसिक फिटनेस आपका जीवन सरल बनाती है।

स्वस्थ रहने के लिए खुद में सुधार करना बहुत जरूरी है। शरीर की बाहरी देखभाल के साथ अंदरुनी देखभाल भी जरूरी है। हमारे अंदर कुछ खास आदतें ऐसी होती हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह हो सकती है। ऐसे में आपको पहले इन आदतों को पहचानना है और उससे निजात पाने की कोशिश करनी चाहिए।

 

संपूर्ण नीति एक ऐसी नीति जिसके जरिए आप खुद को सेहतमंद रख सकते हैं। इसमें हर तरह की शारीरिक और मानसिक फिटनेस टिप्स का समावेश है। खुद को सेहतमंद रखने के लिए अपने शरीर की जरूरतों को समझ ना जरूरी है क्योंकि हर किसी की शरीर की जरूरतें अलग होती हैं। आइए जानें कि संपूर्ण नीति के जरिए आप खुद को पूरी तरह से कैसे स्वस्थ रख सकते हैं।  

benefits of yoga

तनाव का सामना करना सीखें

आप अपनी लाइफ में तनाव को आने से नहीं रोक सकते हैं। लेकिन अगर हमें मन और परिस्थिति पर नियंत्रण करने का तरीका आता है तो इस तनाव का असर हमारे मन और तन पर नहीं पड़ सकता।  

  • किसी घटना या बात के बारे में सोच-सोच कर दिमाग पर दबाव ना डालें। कोई घटना हो गई हो तो उस पर दिमागी मंथन तो कतई न करें, सदा प्रसन्नचित्त रहने का प्रयास करें।
  • जब आप घर में हों तो बच्चों के साथ खूब मस्ती करें, उछल-कूद करें, यह क्रिया आपको एनर्जी देगी और मन प्रफुल्लित रखेगी। वैसे भी बच्चों के साथ सारे टेंशन दूर हो जाते हैं।
  • हर व्यक्ति अपने जीवन में किसी न किसी संस्था से जुड़ा होता है, आप भी किसी खेल, सामाजिक, सांस्कृतिक या रचनात्मक संस्था से जुड़ें और उसके लिए अपना समय निकाले, फिर देखें आपका तनाव कैसे कम होता है।
  • अध्यात्म और धर्म के लिए भी कुछ समय निकालें, इससे मन प्रफुल्लित रहता है। कुछ समय अपने स्वयं के लिए भी निकालें, यानी अपनी पसंद का कोई काम करें, एकांत में ध्यान करें।
  • परेशानियां और उलझनों के बारे में जितना सोचते हैं, वे उतना ही परेशान करती हैं और दिमागी रूप से मानव को कमजोर कर देती हैं। खुद भी खुश रहें और दूसरों को भी खुश रखें।

 

आहार पर दें ध्यान  

हर दिन जाने-अनजाने हम ऐसा खाना खाते हैं जिससे हमारी भूख तो मिट जाती है मगर हमारे शरीर की जरूरतें पूरी नहीं होती हैं और हमारा शरीर कई तरह की बीमारियों का शिकार हो जाता है। अगर हम छोटी-मोटी कुछ बातों को ध्यान में रखें तो आपने आपको स्वस्थ रख सकते हैं।

  • खुद को चुस्त और स्वस्थ रखने के लिए जरूरी है अपने खाने पर ध्यान देना।
  • स्वास्थ्यवर्धक और साफ-सुथरा खाना खाएँ।
  • दिन में सिर्फ तीन बार खाने की बजाय पाँच बार खाएँ पर थोड़ा-थोड़ा।
  • नाश्ता रोज करें और नाश्ते में पौष्टिक व्यंजन ही खाएँ।
  • विभिन्न रंगों के खाद्य पदार्थ खाने का प्रयत्न करें और खाएं। उसमें कई तरह के पोषक तत्व मिलते हैं।
  • विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट (ऑक्सीकरण रोधी) से भरपूर आहार लें।
  • फिट रहने के लिए कम खाने का मतलब कुछ भी खाने की जगह आप मेवे, दाने, फल या सब्जियां खा सकते हैं। इस प्रकार आपको ऊर्जा भी मिलेगी और अगले भोजन के समय तक आपका पेट भी भरा रहेगा तथा आप पूर्ण रूप से स्वस्थ रहेंगे।

 

healthy food

प्राकृतिक तरीके से स्वस्थ रहें

खुद को स्वस्थ रहने के लिए दवाओं या कृत्रिम चीजों का प्रयोग बंद कर प्राकृतिक चीजों का प्रयोग करें। अपनी आदतों में सुधार लाएं और फिट रहें।

  • हर रोज सूर्योदय से पूर्व उठने का नियम बनाएं। इसके लिए रात में जल्दी सोने की आदत डालें। सुबह उठने के बाद शौचादि से निवृत्त होकर ऊषापान करें। ऊषापान के लिए रात में पानी तांबे के बर्तन में भर कर रख दें और सुबह उसमें से लगभग दो गिलास पानी खाली पेट पीएं। सर्दी के मौसम में पानी थोड़ा गुनगुना कर लें।
  • खुले वातावरण में जाकर योगाभ्यास करें।
  • अपनी दिनचर्या में शारीरिक श्रम को महत्व दें। कई रोग इसीलिए पैदा होते हैं, क्योंकि हम दिमाग से अधिक और शरीर से कम काम लेते हैं। आलस्य त्यागकर पैदल चलने, खेलने, सीढ़ी चढ़ने, व्यायाम करने, घर के कामों में हाथ बंटाने आदि शारीरिक श्रम वाली गतिविधियों में लगें।
  • भूख लगने पर ही भोजन करें। जितनी भूख हो, उससे थोड़ा कम खाएं। अच्छी तरह चबा कर खाएं। दिन भर कुछ न कुछ खाते रहने का स्वभाव छोड़ दें। दूध, छाछ, सूप, जूस, पानी आदि तरल पदार्थों का अधिकाधिक सेवन करें।
  • प्रकृति के नियमों के अनुरूप चलें।
  • भोजन पौष्टिक हो और सभी आवश्यक तत्वों से भरपूर हो।

 

 

Read More Articles On Sports And Fitness In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES12 Votes 1640 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर