योगासन से दूर करें घबराहट, रहेंगे फिट और हेल्दी

जब कोई व्यक्ति किसी चीज को लेकर बहुत ज्यादा सोचता है या किसी चीज को लेकर डरा हुआ होता है तो उसका मन अंदर से घबराहता है। 

सम्‍पादकीय विभाग
योगाWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Oct 15, 2020Updated at: Oct 15, 2020
योगासन से दूर करें घबराहट, रहेंगे फिट और हेल्दी

कोरोना वायरस और लोगों में काम का बोझ तनाव और घबराहट की वजह बन रहा है। जिसका वजह से व्यक्ति अपना कोई भी काम सही तरीके से और समय पर नहीं कर पाता। इसके साथ ही वह दिनभर तनाव में रहता है, जिसकी असर उसके कामकाज के साथ परिवार पर भी पड़ता है। लेकिन ये घबराहट कभी-कभी इतनी बढ़ जाती है कि व्यक्ति का ब्लड प्रेशर लो हो जाता। इसके साथ ही इससे और भी कई समस्या हो सकती है, हो सकता है वह जानलेवा भी हो जाए। तो आइए जानतो हैं कैसे आप तनाव और घबराहट को योगासन से दूर कर सकते हैं।

insideasana

 इसे भी पढें : छाती और रीढ़ की हड्डी को अच्छी तरह खोलने के लिए करें ये 5 योग, दर्द और भारीपन से मिलेगा छुटकारा

क्या है घबराहट होना

जब कोई व्यक्ति किसी चीज को लेकर बहुत ज्यादा सोचता है या किसी चीज को लेकर डरा हुआ होता है तो उसका मन अंदर से घबराहता है। व्यक्ति तनाव में रहने लगता है। उसके सोचने और समझने की समता कम हो जाती है। उसके दिल की धड़कन समान्य रूप से तेज हो जाती है। व्यक्ति को नींद न आने की समस्या हो जाती है। इन सब चीजों की वजह से व्यक्ति कई और परेशानियों में खिर जाता है। जिससे व्यक्ति को   heart attack भी आ सकता है। 

घबराहट होने के क्या लक्षण होते हैं

जब कोई व्यक्ति परेशान या किसी चीज को लेकर घबराया होता है, तो उसके शरीर में कुछ लक्षण दिखने लग जाते हैं। जिसकी वजह से वह अपने कामकाज पर ध्यान नहीं लगा पाता। अगर आपको भी ये सारे लक्षण दिखाई दें तो आप इन सबसे छुटकारा पाने के लिए योग का सहारा ले सकते हैं। जैसे कि दिल की धड़कन तेज हो जाना, सांस फूलने लगना, शरीर थका हुआ रहने लगे, तनाव रहना, अचानक से गर्मी लगना, कुछ भी खाने का मन न करना, कुछ खाते ही उलती आना, मुंह बार-बार सूखना आदि।

इन योगासन से दूर करें घबराहट, फिट रहने में मिलेगी मदद

इसे भी पढें : Yoga For Beauty: चेहरे की सुंदरता को बढ़ाते हैं ये 2 योगासन, तन और मन को रखते हैं तंदरूस्‍त

नाड़ी शोधन प्राणायाम

नाड़ी शोधन प्राणायाम करना हर किसी के लिए फायदेमंद होता है। यह आसन शक्ति और शोधन को शुध्द करके मन में एक नई उर्जा लाता है। इस आसन को करने  से नाड़ी की शुध्दि होती है और मन शांत रहता है। नाड़ी शोधन प्राणायाम करना बहुत ही आसान होता है। इस आसन को करने से शरीर से सारा तनाव दूर हो जाता है और आप खुश रहने लगते हैं। 

insidehealth

अनुलोम विलोम प्राणायाम

अनुलोम विलोम प्राणायाम करना सबसे आसान आसन में से होता है। इस आसन को करने से शरीर से सारी गंध बाहर आ जाती है और इस आसन को करने से नाड़ी शुध्द होती है। जिससे आपका शरीर बीमारियों से दूर रहता है, साथ ही अनुलोम विलोम प्राणायाम आपको गठिया, जोड़ों का दर्द और शरीर से सूजन को दूर करने में मदद करता है। इस आसन को करने से व्यक्ति तनाव मुक्त रहता है और एक नई ताजगी महसूस करता है। हर रोज सुबह आपको अनुलोम विलोम प्राणायाम कम से कम 10 मिमट करना चाहिए। 

हर रोज ध्यान लगाएं

मन को शांत करने के लिए ध्यान करना सबसे अच्छा माना जाती है। यह मन में चल रहे गलत विचार दूर करने में मदद करता है साथ ही अच्छे विचारों को उत्पन करता है। 

इसे भी पढें : नाड़ी शोधन और कपालभाति प्राणायाम से दूर हो झुर्रियां और तेज हो जाए आंखों की रोशनी

योग हमारे शरीर और मन दोनों को सेहतमंद रखने में मदद करता है, फिर आप चाहे किसी भी परेशानी से गुजर रहें हो योग करने से सब दूर हो जाता है।

Read More Article On Yoga And Fitness In Hindi

Disclaimer