खराब नाखून और हाथों में सूजन के पीछे हो सकता है खराब ब्लड सर्कुलेशन, इसे ठीक करने के लिए करें ये 3 योगा

शरीर में ब्लड सर्कुलेशन की कमी से कई सारी परेशानियां होती हैं। ऐसे में रोजाना  ये तीन योगासन करना आपको खराब ब्लड सर्कुलेशन से बचाए रख सकता है।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Oct 05, 2020Updated at: Oct 05, 2020
खराब नाखून और हाथों में सूजन के पीछे हो सकता है खराब ब्लड सर्कुलेशन, इसे ठीक करने के लिए करें ये 3 योगा

शरीर में ब्लड सर्कुलेशन का खराब होना कई सारी बीमारियों को आमंत्रित करता है। दरअसल दिल की पंपिंग क्रिया हमारे ब्लड वेसल्स में प्रत्येक कोशिका को पोषक तत्वों से समृद्ध ऑक्सीजन युक्त रक्त प्रदान करती है। इस तरह शुद्ध रक्त को वितरित करने और अशुद्ध को बाहर निकालने की ये संचार प्रणाली शरीर के अंगों के कामकाज में मदद करती है और इन्हें स्वस्थ रखती है। खराब ब्लड सर्कुलेशन (How to Improve Blood Circulation)ऊर्जा की कमी, सांस की तकलीफ, वैरिकोज़ नसों, हाथों और उंगलियों में झुनझुनी और सुन्नता का एक बड़ा कारण है। वहीं जिन लोगों के नाखून बहुत खराब हैं और उनके हाथों में सूजन रहती है उनके लिए जरूरी है कि वो अपने ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाएं। इसमें वो इन 3 योगासनों की मदद  (Yoga for Poor Blood Circulation)ले सकते हैं।

insidetrianglepose

1.रोज सुबह उठते ही करें ट्रायंगल पोज

जिन लोगों को हमेशा उंगलियों में झुनझुनी और सुन्नता होती है उनके लिए ये बहुत ही फायदेमंद पोज है। इसे करने से आपकी मांसपेशियों की टोनिंग और ब्लड सर्कुलेशन को बेहकर बनाने में बहुत मदद मिलती है। इस मुद्रा में आपकी छाती को खोलना और फेफड़ों का विस्तार करना शामिल है, जो कि हार्ट के लिए बहुत अच्छा है। इसे करने के लिए आपको

  • -शरीर को त्रिकोण एंग्ल में लेके आना है।
  • -जैसे ही आप सांस छोड़ते हैं, अपने शरीर को अपने कूल्हे से मोड़ते हुए अलग करें
  • -अपने दाहिने हाथ को अपने पैर, टखने, या पिंडली पर टिकाएं। आपकी बायीं भुजा आकाश की ओर रखें।
  • -अपने पैरों को दबाएं व अपने पैर की मांसपेशियों को संलग्न करें और गहरी सांस लें।
  • -कम से कम तीन गहरी सांसों के बाद, हर बार दोनों तरफ खुद को स्विच करें और कई बार इसे करें।

इसे भी पढ़ें : जानें क्या है हलासन और अर्धमत्स्येंद्रासन? डायबिटीज़ के रोगियों के लिए है बेहद लाभकारी

2.बिस्तर पर ही रहते हुए दीवार के ऊपर पैर टिकाएं

अपने पैरों को दीवार के ऊपर रखना आपके दिल में एक हलचल पैदा करता है। इस तरह ये ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने में मदद करता है। यह स्थिति आपके रक्त के प्रवाह को सामान्य सर्कुलेशन से मदद कर सकती है, जो आपके बुढ़ापे में रक्त या तरल पदार्थ के जमाव से राहत देती है।

  • -इस मुद्रा के लिए, अपने बिस्तर पर ही रहें और फर्श पर सिर टिका लें। फिर अपने पैरों को सामने करते हुए दीवार पर पैर रख लें।
  • -अब शरीर को 90 डिग्री के एंगल के साथ सीधा रखें।
  • -दीवार के समानांतर बैठें। फिर, अपने पैरों को जमीन पर टिकाएं, घुटने मोड़ें।
  • -अपनी पीठ के निचले से ऊपर उठाते हुए एक बार नीचे और एक बार ऊपर करें।
  • -इसी मुद्रा को बार-बार दोहराएं।
insidehowtoyogaforbloodcirculation

इसे भी पढ़ें : नाड़ी शोधन और कपालभाति प्राणायाम से दूर हो झुर्रियां और तेज हो जाए आंखों की रोशनी

3.डाउनवर्ड फेसिंग डॉग 

डाउनवर्ड फेसिंग डॉग परिसंचरण के लिए बहुत अच्छा है क्योंकि यह आपके दिल को स्वस्थ बनाता है, जिसका अर्थ है कि गुरुत्वाकर्षण आपके सिर में रक्त के प्रवाह को सुविधाजनक बनाने में मदद करता है। यह आपके पैरों को भी मजबूत करता है, उनमें परिसंचरण को बेहतर बनाता है। इसे करने के लिए

  • -अपने कंधों के साथ अपने कंधों के साथ, अपने घुटनों के ऊपर अपने कूल्हों को संतुलित करते हुए शुरू करें।
  • -गहरी सांस लें और जैसे ही आप सांस छोड़ते हैं, अपने हाथों को दृढ़ता से दबाएं क्योंकि आप अपने कूल्हों को हवा में उठाने की कोशिश करें। फिर अपनी बाहों और पैरों को सीधा रखें।
  • -अब सामान्य रूप से सांस लें, लेकिन जितनी गहराई से आप प्रत्येक उंगली को फर्श पर दबाएं उसके साथ ही एड़ी को भी फर्श पर दबाते जाएं।
  • - अब अपने अपने पैरों को सक्रिय रखते हुए उसे हर दिशा में काम करें।
  • -अपनी गर्दन को आराम दें।
  • -अब आराम से कुछ देर तक इसे करें।

इस तरह ये तीन पोज आपके ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बना सकते हैं। वहीं ये आपके हृदय और रक्त वाहिकाओं में रक्त का संचालन को भी सही रखते हैं। वहीं ये योगासन आपके सांस लेने की तकनीक शरीर के प्रत्येक एक हिस्से से रक्त के प्रवाह को सुगम बनाती है। इसलिए कहा जाता है कि योग मनुष्य के समग्र स्वास्थ्य की बेहतरी में महत्वपूर्ण योगदान देता है।

Read more articles on Yoga in Hindi

Disclaimer