ईटिंग डिसऑर्डर (भोजन विकार) दूर करने वाले आसान योगासन

ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर की समस्‍या दूर करने के ल‍िए आप कुछ आसान योगासन अपना सकते हैं, चल‍िए जानते हैं उनके बारे में

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Jun 08, 2021
ईटिंग डिसऑर्डर (भोजन विकार) दूर करने वाले आसान योगासन

ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर की समस्‍या को योग से दूर क‍िया जा सकता है? कई डॉक्‍टर्स और एक्‍सपर्ट्स ये मानते हैं क‍ि ज‍िन मरीजों को ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर की समस्‍या होती है उन्‍हें योगा करना चा‍हिए। ज‍िन मरीजों को ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर या भोजन व‍िकार की समस्‍या होती है वो अपनी बॉडी को लेकर सहज महसूस नहीं करते। योगा करने से उनमें खुद को अपनाने की भावना आती है और वे खुद को लेकर कॉन्‍फ‍िडेंट महसूस कर पाते हैं। योगा करने वाले व्‍यक्‍त‍ि को इस बात का अहसास होता है क‍ि उसे अपने शरीर को बाहरी तौर पर देखने से ज्‍यादा, अंदर से समझने की जरूरत है। योग करने से द‍िमाग शांत होता है और एंग्‍जाइटी की समस्‍या भी दूर होती है जो क‍ि ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर से गुजर रहे लोगों में पाया जाता है। आप भुजंगासन, ताड़ासन, कपोतासन आद‍ि की मदद से इस समस्‍या को दूर कर सकते हैं। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के रवींद्र योगा क्लीनिक के योगा एक्सपर्ट डॉ रवींद्र कुमार श्रीवास्तव से बात की। 

eating disorder yoga

योग करने से कैसे दूर होती है ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर की समस्‍या? (Benefits of yoga to cure eating disorder)

वैसे तो योगा कई बीमार‍ियों को दूर करने में फायदेमंद है पर ईटिंग ड‍िसऑर्डर के मरीज शारीर‍िक और मानस‍िक परेशानी से एक साथ जूझ रहे होते हैं इसल‍िए उनके ल‍िए योगा क‍िसी दवाई से कम नहीं, आइए जानते हैं ईटिंग ड‍िसऑर्डर के दौरान योगा करने के फायदे- 

  • 1. योगा करने से एंग्‍जाइटी, ड‍िप्रेशन आद‍ि की समस्‍या दूर होती है जो क‍ि ईटिंग ड‍िसऑर्डर से पीड़‍ित व्‍यक्‍त‍ि में पाए जाने वाला कॉमन लक्षण है। 
  • 2. ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर से पीड़‍ित व्‍यक्‍त‍ि अपनी बॉडी को लेकर असहज रहता है, योग करने से उसका विश्‍वास खुद के प्रत‍ि बढ़ जाएगा। 
  • 3. ज‍िन लोगों को भूख नहीं लगती उनके ल‍िए कुछ योगा पोज जैसे कपोतासन बेहद फायदेमंद है, ज‍िन्‍हें करने से उन्‍हें भूख लगने लगेगी।
  • 4. ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर से पीड़‍ित कुछ व्‍यक्‍त‍ि क्रेव‍िंग के चलते ज्‍यादा खा लेते हैं ज‍िसके चलते उन्‍हें पेट दर्द, गैस, कब्‍ज की समस्‍या हो जाती है। इससे बचने के ल‍िए योग फायदेमंद है।
  • 5. ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर से पीड़‍ि‍त कुछ व्‍यक्‍त‍ियों को गुस्‍सा बहुत अध‍िक आता है, इसे काबू में करने के ल‍िए योग का सहारा ल‍िया जा सकता है। 
  • 6. ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर से पीड़‍ित व्‍यक्‍त‍ि बॉडी और माइंड में सामंजस्‍य या बैलेंस नहीं बना पाता ज‍िसके चलते भूख की समस्‍या बढ़ जाती है, उनके ल‍िए योग फायदेमंद होगा।

इसे भी पढ़ें- अपने दिल को स्वस्थ रखने के लिए रोज करें ये 4 योग मुद्राएं

ईटिंग ड‍िसऑर्डर में इन योगा पोज को ट्राय करें (Yoga to cure eating disorder)

1. भुजंगासन (Bhujangasana or cobra pose)

cobra pose

भुजंगासन से बैली फैट तो कम होता ही है साथ ही डाइजेशन से जुड़ी समस्‍याएं भी दूर होती है। ज‍िन लोगों को ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर के चलते भूख न होने पर भी खाने का मन करता है, उनके ल‍िए ये योग बेहद लाभदायक है। इससे मन भी शांत होता है और हर समय फूड क्रेविंग की समस्‍या से न‍िजात म‍िलता है। 

भुजंगासन करने का तरीका:

  • 1. अपने पेट के बल लेट जाएं और हाथों को जमीन पर रख लें। 
  • 2. हाथों को अपने शोल्‍डर की तरफ रखें। 
  • 3. अपनी हथेल‍ियों पर प्रेशर देते हुए बॉडी को ऊपर उठाएं। 
  • 4. इस दौरान पीठ और पेट की मसल्‍स को स्‍ट्रेच करें। 
  • 5. हाथों और कंधों को ब‍िल्‍कुल सीधा रखें। 
  • 6. ऊपर देखते हुए छत पर एक न‍िश्‍च‍िंत ब‍िंदु पर ध्‍यान केंद्रित करें। 
  • 7. इसी पोज‍िशन में 15 सेकेंड तक रहें। 
  • 8. नॉर्मल पोज‍िशन में आते हुए सांस छोड़ें। 

इसे भी पढ़ें- जानें क्या है हलासन और अर्धमत्स्येंद्रासन? डायबिटीज़ के रोगियों के लिए है बेहद लाभकारी

2. हलासन (Halasana or plow pose)

हलासन करने से भी ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर की समस्‍या से छुटकारा म‍िलता है। इस आसान को करने से डाइजेस्‍ट‍िव स‍िस्‍टम दुरुस्‍त रहता है और भूख न लगने की समस्‍या दूर हो जाती है। 

हलासन करने का तरीका:

  • 1. जमीन पर पीठ के बल लेट जाएं। 
  • 2. अपने दोनों हाथ को शरीर से सटा लें। 
  • 3. बॉडी को झुकाते हुए, पैरों को फैलाएं और ऊपर की ओर उठाएं। 
  • 4. पैरों को स‍िर के पीछे से ले जाते हुए, जमीन पर टच करवाना है। 
  • 5. आपके पैर, कमर से 90 ड‍िग्री का एंगल बनाएंगे।
  • 6. इस पोज‍िशन में 10 सेकेंड के ल‍िए रहें। 
  • 7. एक म‍िनट र‍िलैक्‍स करें और र‍िपीट करें। 

3. धनुरासन (Dhanurasana or bow pose)

bow pose

धनुरासन करने से कॉन्‍सट‍िपेशन की श‍िकायत, ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर की समस्‍या, पेट दर्द, डाइजेशन की समस्‍या आद‍ि समस्‍याएं दूर होती हैं। 

धनुरासन करने का तरीका:

  • 1. धनुरासन को करने के ल‍िए पेट के बल जमीन पर लेट जाएं। 
  • 2. घुटनों को मोड़कर अपनी कमर के पास लेकर जाएं। 
  • 3. दोनों हाथ से टखनों को पकड़ लें।
  • 4. शरीर के वजन को को पेट के नीचे वाले ह‍िस्‍से पर लाएं। 
  • 5. इस पोज‍िशन में जब तक रह सकते हैं इसे रोकें और सांस लेते रहें।
  • 6. नॉर्मल पोज‍िशन में आकर, इस आसान को 4 से 5 बार र‍िपीट करें। 

4. कपोतासन (Kapotasana or pigeon pose)

pigeon pose

कपोतासन करने से ईटिंग ड‍िसऑर्डर की समस्‍या दूर होती है और इंडाइजेशन, पेट दर्द, गैस की समस्‍या भी दूर होती है। कपोतासन भूख को सामान्‍य करने में आपकी मदद करेगा। 

कपोतासन करने का तरीका:

  • 1. घुटने के बाद जमीन पर बैठ जाएं और दोनों पैरों को बाहर की तरफ न‍िकालकर बैठ जाएं। 
  • 2. अपनी बॉडी को पीछे की तरफ झुकाएं।
  • 3. दोनों हाथों को पैरों के पीछे जमीन की ओर ले जाने की कोश‍िश करें। 
  • 4. बॉडी को तब तक झुकाएं जब आपके हाथ,पैरों को टच न कर लें। 
  • 5. बैक को स्‍ट्रेच करें और इस पोजिशन में 60 सेकेंड तक रहें। 
  • 6. र‍िलैक्‍स करें और इस पोज‍िशन को 5 बार र‍िपीट करें।

5. ताड़ासन (Tadasana or mountain pose)

mountain pose

ये सबसे आसान योगा पोज है। ड‍िप्रेशन, एंग्‍जाइटी जैसी समस्‍याओं को दूर करने के ल‍िए ताड़ासन मददगार है। अक्‍सर ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर से पीड़‍ित लोग ड‍िप्रेशन का श‍िकार होते हैं, इसके ल‍िए ये योगा फायदेमंद होगा। 

ताड़ासन करने का तरीका:

  • 1. जमीन पर सीधा खड़े हो जाएं। 
  • 2. पैरों को एक-दूसरे से थोड़ा दूर कर लें। 
  • 3. हाथों को ऊपर उठाते हुए हील्‍स को भी ऊपर उठाएं। 
  • 4. हाथों को ऊपर लेजाकर जोड़कर, नमस्‍कार का पोज बना लें। 
  • 5. सामने देखें और इसी पोज‍िशन को होल्‍ड करें। 
  • 6. ब्रेक लें और इसे 3 बार र‍िपीट करें। 

आप ईटिंग ड‍िसऑर्डर के मुख्‍य इलाज के साइड में योगा कर सकते हैं पर ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर के दौरान ज्‍यादा योग करना भी न‍ुकसानदायक हो सकता है। र‍िकवरी के ल‍िए क‍िए जाने वाली कसरत या योगा को डॉक्‍टर की सलाह पर ही करना चाह‍िए।  

Read more on Yoga in Hindi  

Disclaimer